लालू के कैन्हया ने फेसबुक पर कहा- सबकुछ ठीक नहीं हुआ तो राजनीति छोड़ दूंगा

साझा किया अपना दर्दः कहा चुगलखोरों को कीड़े-मकोड़ों की तरह चुटकी में मसल सकता हूं। 

पटनाः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के परिवार में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। तभी तो तेज प्रताप यादव एक बार फिर से संन्यास लेने की बात कह रहे हैं। इस बार भी वे अपनी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अपने समर्थकों तक पहुंचाया है। सोमवार को तेज प्रताप ने सोशल साइट पर दर्ज बयां करते हुए लिखा कि यदि यही स्थिति बनी रही तो मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि अब ‘मैं राजनीति नहीं करूंगा’। राजनीति वही लोग करेंगे जो मेरे छवि को धूमिल कर रहे हैं । अब ‘ओम प्रकाश यादव उर्फ भुट्टू ही महुआ से चुनाव लड़ेगा’ और विधायक और फिर मंत्री बनेगा।
ओम प्रकाश यादव मुझे पागल और सनकी बताते है
तेज प्रताप यादव ने फेसबुक पर अपने अनुयायियों और शुभचिंतकों के नाम पोस्ट किया। इसमें उसने कहा कि ‘ओम प्रकाश यादव’ एवं ‘सुबोध राय’ मेरे खिलाफ गलत-गलत अफवाह उड़ाकर मेरे छवि को धूमिल कर रहे हैं। ये दोनों मुझे ‘पागल’ और ‘सनकी’ बताते हैं। यहां तक कि अब तो ये लोग ‘जोड़ू का गुलाम’ बताते हैं और कहते हैं कि तेज प्रताप तो नाम के विधायक हैं। तेज प्रताप को कुछ भी नहीं आता है।
लालू पुत्र ने आगे लिखा  इसके साथ और भी ऐसे-ऐसे शब्द हैं जो मैं आपको नहीं बता सकता हूं। इन झूठे अफवाहों के कारण क्षेत्र  खराब हो रहा है इसलिए इन दोनों आस्तीन के सांपों को अपने क्षेत्र से बाहर कीजिये। मैंने अपने कार्यकर्ताओं से यही कहा कि मैं भी अपने मम्मी-पापा को बहुत बार बता चुका हूं कि ओम प्रकाश यादव उर्फ भुट्टू एवं सुबोध राय मेरे बारे में गलत-गलत अफवाह फैलाकर मेरी छवि धूमिल कर रहा है किंतु मेरी मम्मी मेरी एक नहीं सुनती है और उल्टा मुझे ही डांट सुननी पड़ती है जिसके कारण मैं बहुत ही प्रेशर में रहता हूं। अब आप ही बताएं कि क्या इतना प्रेशर में राजनीति हो सकती है क्या ? मुझमे अदम्य साहस एवं क्षमता है जिससे मैं इन कीड़े-मकोड़ों को चुटकी में मसल सकता हूं किन्तु मेरा पैर अपनों के कारण रुक जाता है।
हालांकि करीब डेढ़ घंटे बाद यह पोस्‍ट डिलीट कर दी गई। मालूम हो कि इससे पहले भी तेज प्रताप यादव ने एक ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने खुद को कृष्ण और तेजस्वी को अर्जुन बताया था। इस ट्वीट में तेज प्रताप ने कहा मेरा सोचना है कि मैं अर्जुन को हस्तिनापुर की गद्दी पर बैठाऊं और खुद द्वारका चला जाऊं। अब कुछेक चुगलखोरों को कष्ट है कि कहीं मैं किंग मेकर न कहलाऊं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

चीनः 28 वर्षों में विकास दर में आई काफी कमी, अभी और गिरावट के आसार

बीजिंगः चीन की विकास दर में 1990 के बाद से अब तक सबसे अधिक कमी आई है। चीन की विकास दर 2018 में 6.6% रही, जो कि 28 साल में यह सबसे कम है। इससे पहले 1990 में चीन की [Read more...]

फ्रांस से 3000 एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल खरीदने की तैयारी कर रहा है भारत

नयी दिल्ली : फ्रांसीसी कंपनी से रक्षा सामग्री खरीद पर चल रहे विवाद को दरकिनार करते हुए भारत ने अपनी सुरक्षा प्रणाली को और मजबूत तथा विश्‍वस्‍तरीय बनाने तथा सेना को नये उपकरणों से लैस करने की खातिर फ्रांस से [Read more...]

मुख्य समाचार

प्रवासी भारतीयों की दुनियाभर में बढ़ी नेतृत्व क्षमता : सुषमा

2022 तक ‘नूतन युवा भारत’ बनाने में मदद करेगी युवाओं की बढ़ती संख्या वाराणसी : प्रवासी भारतीयों की दुनियाभर में बढ़ती नेतृत्व क्षमताओं को नये भारत की विकास यात्रा के लिए अहम बताते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को [Read more...]

चीनः 28 वर्षों में विकास दर में आई काफी कमी, अभी और गिरावट के आसार

बीजिंगः चीन की विकास दर में 1990 के बाद से अब तक सबसे अधिक कमी आई है। चीन की विकास दर 2018 में 6.6% रही, जो कि 28 साल में यह सबसे कम है। इससे पहले 1990 में चीन की [Read more...]

ऊपर