रेलवे की नौकरी के लिए आये 47 लाख अावेदन को देखते हुए सरकार ने रिक्त पद को बढ़ाकर 60 हजार किया

नई दिल्लीः रेलवे ने नौकरी तलाशनों वालों के लिए खुशखबरी दी है। रेलवे ने सहायक लोको पायलट और तकनीशियनों की भर्ती के लिए रिक्त पदो की संख्या 26,502 से बढ़ाकर लगभग 60 हजार करने का निर्णय लेकर आवेदकों को एक प्रकार का सौगात दी है। सरकार ने ये फैसला कम पदों पर ज्यादा आवेदन आने और बेरोजगारी दूर करने के मद्देनजर लिया है। रेलवे में जनवरी माह में निकली वैकेंसी 26 हजार पदों के लिए रेलवे के पास 47 लाख आवेदन आए थे। इसके पीछे रेलवे यूनियन एआइआरएफ की भी भूमिका है, जिसने पिछले दिनो रेलमंत्री से मिलकर संरक्षा श्रेणी के इन पदों पर भर्तियां बढ़ाने की मांग की थी।
ढाई करोड़ से ज्यादा आये थे आवेदन
रेलवे ने सहायक लोको पायलट और तकनीशियनों की भर्ती के लिए जनवरी में विज्ञापन निकाला था। जिसके जवाब में ढाई करोड़ से ज्यादा आवेदन प्राप्त हुए थे। स्क्रूटनी के बाद इनमें से 47.56 लाख आवेदकों के विवरण सही पाए गए थे। इनकी परीक्षा 9 अगस्त को शुरू होगी और कई चरणों में समाप्त होगी। परीक्षा की अन्य तिथियां 10, 13, 14, 17, 20, 21, 30 तथा 31 अगस्त को हैं। ये तारीखें परीक्षा केंद्रों और संसाधनों की उपलब्धता को देखते हुए तय की गई हैं। एक दिन में तीन-तीन शिफ्ट में परीक्षा होगी। हर शिफ्ट में अलग प्रश्नपत्र के हिसाब से कुल तीस प्रकार के प्रश्न पत्र तैयार कराए गए हैं।
नए सेंटरों पर होगी परीक्षाएं
रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार विभिन्न राज्यों में प्रमुख कॉलेजों तथा बड़े तकनीकी संस्थानों में ये परीक्षा आयोजित करवाई जा रही है। पिछली भर्ती परीक्षा में जिन कॉलेज/इंस्टीट्यूट में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं उन्हें ब्लैकलिस्ट किया जा चुका है। इसलिए इस बार ये परीक्षाएं नए सेंटरों में हो रही हैं।
आवेदकों ने रेलमंत्री को ट्वीट कर समस्या बताई थी
भर्ती परीक्षाओं को लेकर रेलमंत्री पीयूष गोयल को लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही थीं। आवेदक उन्हें लगातार ट्वीट कर रहे थे। बिहार से राहुल जायसवाल ने ट्वीट किया था कि सर, मैं मुश्किल में हूं। मेरा 10 अगस्त को हैदराबाद में रेलवे का इम्तहान है और अगले दिन मुझे ग्रामीण बैंक की परीक्षा देनी है। यह कैसे संभव है। फ्लाइट की मेरी औकात नहीं है। मधेपुरा के एक छात्र ने लिखा कि वहां से इंदौर कोई ट्रेन नहीं जाती है। रेलवे का फ्री पास होने के बाद भी टिकट नहीं दिया जा रहा है। मिथिलेश यादव ने ट्विट किया है कि सर मेरा होमटाउन कोलकाता है। मेरा सेंटर भोपाल दे दिया गया है। क्या आप एग्ज़ाम सेंटर बदल सकते हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

चीनः 28 वर्षों में विकास दर में आई काफी कमी, अभी और गिरावट के आसार

बीजिंगः चीन की विकास दर में 1990 के बाद से अब तक सबसे अधिक कमी आई है। चीन की विकास दर 2018 में 6.6% रही, जो कि 28 साल में यह सबसे कम है। इससे पहले 1990 में चीन की [Read more...]

फ्रांस से 3000 एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल खरीदने की तैयारी कर रहा है भारत

नयी दिल्ली : फ्रांसीसी कंपनी से रक्षा सामग्री खरीद पर चल रहे विवाद को दरकिनार करते हुए भारत ने अपनी सुरक्षा प्रणाली को और मजबूत तथा विश्‍वस्‍तरीय बनाने तथा सेना को नये उपकरणों से लैस करने की खातिर फ्रांस से [Read more...]

मुख्य समाचार

आज मालदह में अमित शाह की सभा

कोलकाता : कई बार हां - ना के बीच आज यानी मंगलवार को मालदह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सभा को संबोधित करेंगे जहां से वह बंगाल में लोकसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे। आज सुबह [Read more...]

ममता में देश संभालने के सारे गुण – कुमारस्वामी

कोलकाता : कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने देश के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन से पूरी तरह ‘निराश’ बताते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तारीफ की है। ममता को ‘कुशल [Read more...]

ऊपर