मोदी ने पूर्वांचल के किसानों को दिया 3420 करोड़ की परियोजना

मिर्जापुरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पूर्वांचल दौरे के दूसरे दिन मिर्जापुर में एक रैली को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करने से पहले उन्होंने बाणसागर परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना से इलाके में सिंचाई को बढ़ावा मिलेगा, जिससे उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर और इलाहाबाद के किसानों को काफी फायदा पहुंचेगा। मोदी ने इसके अलावा 100 जन औषधि केंद्रों का भी लोकार्पण किया गया है। पीएम मोदी ने कहा कि ये जन औषधि केंद्र गरीब, निम्न मध्यम वर्ग का बहुत-बड़ा सहारा बन रहे हैं। साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि हम 2022 तक देश के किसानों की आय दोगुनी करना चाहते हैं, यह मुश्किल काम नहीं है। साथ ही पीएम ने नाम लिए बिना अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा, ‘हम अटकी, लटकी, भटकी परियोजनाएं पूरा कर रहे हैं।’
परियोजना शुभारंभ करने से पहले अपने चीर-प‌रिचित अंदाज में बोले
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिर्जापुर में भी जनसभा की शुरुआत अपने चिरपरिचित अंदाज में क्षेत्रीय भाषा में की। उन्होंने कहा कि आज मिर्जापुर में हमरे बदे बहुत गर्व का बात बा। जगदजननी माई विंध्यवासिनी के गोदी में तोहई सबके देखी के हमके बहुत खुशी होत बा। तू सबे बहुत देर से हमी जोहत रहा। एकरे खातिर हम पांव छुइ के प्रणाम करत हई। आज इतना भीड़ देखि के हमका विश्वास हुई गवा कि माई की कृपा हमपर बना बा और आप लोगन की कृपा से आगे भी ऐसी ही बना रहे।
पीएम ने कहा कि विंध्य पर्वत और भागीरथी के बीच बसा ये क्षेत्र सदियों से अपार संभावनाओं का केंद्र रहा है। इन्हीं संभावनाओं को तलाशने और यहां हो रहे विकास कार्यों के बीच आज मुझे आपका आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य मिला है।
किसानों को बाणसागर परियोजना का तोहफा
मिर्जापुर में होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में किसानों को बाणसागर परियोजना का तोहफा दिया। 171. 84 किलोमीटर लंबी परियोजना 34 20 करोड़ की लागत से तैयार की गई है। इसे आज रविवार को इलाहाबाद और मिर्जापुर के किसानों को समर्पित किया गया।
उत्तर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि बाणसागर परियोजना 1997- 98 से प्रस्तावित थी। पूर्ववर्ती सरकारों ने इसके लिए बजट नहीं दिया। इस वजह से परियोजना अटकी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके लिए बजट स्वीकृत किया। 3420 करोड़ की लागत से बाणसागर परियोजना को तैयार किया गया है। विंध्याचल पर्वत से तैमूर की पहाड़ियों से होते हुए सोन नदी से परियोजना को लाया गया है। मध्य प्रदेश में 71 किलोमीटर उत्तर प्रदेश में 100 किलोमीटर लंबी परियोजना से मिर्जापुर और इलाहाबाद के 1.70 लाख किसान सीधे लाभान्वित होंगे। सिंचाई मंत्री ने दावा किया है कि इस परियोजना के आने से 5.14 मीट्रिक टन का अतिरिक्त उत्पादन होगा। प्रधानमंत्री सीधे किसानों को बान्ध सागर परियोजना समर्पित करेंगे।
पहाड़ियों के बीच सुरंग बनाकर लाई गई परियोजना
सिंचाई मंत्री ने बताया की परियोजना पहाड़ियों के बीच सुरंग बना कर लाई गई है। इसमें विश्व का सर्वश्रेष्ठ एक्वाडक्ट पाइप इस्तेमाल किया गया है। सोन नदी से इस परियोजनाओं को इलाहाबाद और मिर्जापुर के किसानों के लिए लाया गया है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

राहुल गांधी ने रक्षामंत्री को राफेल मिनिस्टर कहा, इस्‍तीफा मांगा

नयी दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण पर राफेल डील को लेकर एक बार फिर से हमला बोला है। राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे का ठेका सरकारी उपक्रम हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को नहीं दिए [Read more...]

बागड़ी मार्केट के ए ब्लाक से मिला डीजल भरा कनस्तर

कोलकाता : शनिवार की देर रात बागड़ी मार्केट में लगी आग को 4 दिन बाद भी पूरी तरह से तो बुझाया नहीं जा सका है। इसबीच बुधवार को मार्केट के भीतर ए ब्लॉक से बोतल में बंद लगभग 20 लीटर [Read more...]

मुख्य समाचार

केरल के विधायक फिर तलब

नयी दिल्लीः राष्ट्रीय महिला आयोग ने जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली नन के खिलाफ कथित तौर पर अभ्रद भाषा का इस्तेमाल करने पर केरल के निर्दलीय विधायक पीसी जॉर्ज को समन जारी कर उन्हें [Read more...]

केरल कांग्रेस के अध्यक्ष बने रामचंद्रन

तिरुअनंतपुरमः कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत द्वारा बुधवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री मुल्लापल्ली रामचंद्रन के केरल राज्य कांग्रेस अध्यक्ष बनाये जाने की घोषणा पर विधानसभा में विपक्ष के नेता रमेश चेन्नितला (कांग्रेस) ने कहा कि इससे पार्टी को आगामी लोकसभा चुनावों [Read more...]

ऊपर