मुख्यधारा में वापस आयें नक्सली : रामदास आठवले

गुवाहाटी : केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री रामदास आठवले ने उग्रवादियों तथा नक्सलियों से हिंसा छोड़ समाज की मुख्यधारा में वापस आने की अपील की है।  आठवले ने गुरुवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा,-‘नक्सली, माओवादी या किसी अन्य समूह को हिंसा का रास्ता छोड़ कर मुख्यधारा में वापस आना चाहिए। मेरी यह उनसे हार्दिक अपील है।’ उन्होंने छत्तीसगढ़ के सुकमा में हाल में हुए नक्सली हमले की निंदा की।
उन्होंने कहा,-‘समाज के सभी वर्गों के उत्थान की नक्सलियों की मांग सही है और हम उनकी इस बात का समर्थन करते हैं लेकिन उनका रास्ता पूरी तरह गलत है।’ रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आठवले ने कहा कि नक्सलियों द्वारा मारे गए लोगों में सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के लोग भी शामिल हैं, जिनके लिए नक्सली अपने हथियारबंद संघर्ष को चलाने की बात करते हैं। उन्होंने कहा,-‘हर किसी को अपनी मांगों को रखने का अधिकार है लेकिन सभी मुद्दों का चर्चा के जरिए शांतिपूर्वक हल ढूंढ़ा जाना चाहिए।’ एजेंसियां

Leave a Comment

अन्य समाचार

माल्या के प्रत्यर्पण की सुनवाई के लिए सीबीआई टीम लंदन रवाना

नई दिल्ली : शराब कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण की मामले में सीबीआई के संयुक्त निदेशक एस साईं मनोहर के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम रविवार को लंदन रवाना हुई। इस मामले के सुनवाई सोमवार को लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट [Read more...]

लादेन को कॉपी करने वाला वॉन्टेड आतंकी पकड़ा गया

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर की किश्वतवाड़ पुलिस ने आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के वॉन्टेड आतंकी रियाज अहमद को जिंदा पकड़ लिया है। घाटी में आतंक की फौज तैयार करने वाला रियाज युवाओं को आतंकी बनने के लिए उकसाता है और उन्हें [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकेश अंबानी की बेटी के वैवाहिक कार्यक्रम में पहुंचीं नामी गिरामी हस्तियां

हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित अन्य ने अपनी प्रस्तुतियां दीं उदयपुर : देश के प्रमुख उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा के वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल लेने के लिए देश दुनिया की प्रमुख हस्तियों रविवार को उदयपुर पहुंचीं। हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित [Read more...]

भारत ने सत्तर के दशक में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रणाली का मौका गंवाया

‘द टाटा ग्रुपः फ्रॉम टार्चबियरर्स टु ट्रेलब्लेजर्स’ में दावा नयी दिल्लीः सत्तर के दशक के आखिर में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रशासन प्रणाली [Read more...]

ऊपर