मुंबई तेल रिसाव मामले में दो सप्ताह में आदेश लागू करे केन्द्र : एनजीटी

नयी दिल्ली : पनामा स्थित जहाजरानी कंपनी और कतर स्थित इसकी दो सहायक इकाइयों को 2011 में मुंबई समुद्री तट से दूर सागर में तेल रिसाव के कारण हुए नुकसान की भरपाई के तौर पर 100 करोड़ रुपये का मुआवजा राशि के भुगतान के आदेश को लागू नहीं किए जाने पर नाराज राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने केन्द्र को अपने इस आदेश को दो सप्ताह के भीतर लागू करने का निर्देश दिया है। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने पिछले साल 23 अगस्त को इन तीन कंपनियों को जहाजरानी मंत्रालय को पर्यावरणीय मुआवजा के तौर पर 100 करोड़ रुपये का भुगतान करने का निर्देश दिया था। साथ ही इसने गुजरात स्थित अडाणी एंटरप्राइजेज को समुद्र में 60,054 टन कोयला फेंकने के लिए पर्यावरणीय मुआवजा के तौर पर पांच करोड़ रुपये भुगतान करने का निर्देश दिया था। हालांकि, यह आदेश आज की तिथि तक लागू नहीं किया गया क्योंकि ये तीनों कंपनियां देश से बाहर की हैं और सरकार इन्हें आदेश जारी करने में विफल रही है।
इन घटनाक्रमों को संज्ञान में लेते हुए अधिकरण प्रमुख न्यायमूर्ति स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाले पीठ ने जहाजरानी मंत्रालय और अन्य संबद्ध मंत्रालयों को इसके 23 अगस्त के आदेश को लागू कराने के संबंध में निर्देश लेने के लिए भी कहा।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

तीन महीने तक भारत नहीं आ सकता : चोकसी

मुंबई : पंजाब नेशनल बैंक में हुए घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी ने कहा है कि वह तीन महीने तक भारत नहीं आ सकते हैं। आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोर्ट से चोकसी को भगोड़ा आर्थिक [Read more...]

14 करोड़ के चादर और कंबल चुरा ले गये एसी कोच के यात्री : रेलवे

नई दिल्ली : यात्रियों की गंदी हरकत से परेशान रेलवे एसी कोच में दी जाने वाली सुविधाओं में कमी करने का मन बना रहा है। दरअसल देशभर में रेलवे के एसी कोच से तौलिया, चादर और कंबल चोरी हो रहे [Read more...]

मुख्य समाचार

सरकारी अस्पताल में पहला हृदय प्रत्यारोपण

कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के डॉक्टरों ने की सफल सर्जरी कोलकाताः कोलकाता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल ने देश में पहले किसी भी [Read more...]

हिन्दी पर हुई बात, तो रुकी हर धड़कन…

हिन्दी के पक्ष व विपक्ष में बोले दिग्गज ‘हिंदी ने देश को बांधा कम, बांटा अधिक’ विषय पर वाद-विवाद 2018 का आयोजन [Read more...]

ऊपर