भारत के निकेश को मिला 858 करोड़ का पैकेज, दुनिया में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बने

वाॅशिंगटनः भारत के गाजियाबाद के निकेश अरोड़ा अमेरिका की पालो आल्टो नेटवर्क्स इंक के सीईओ व चेयरमैन बनने के साथ दुनिया में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बन गए हैं। विश्व की इस सबसे बड़ी साइबर सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर निर्माता कंपनी के सीईओ के तौर पर निकेश को करीब 858 करोड़ रुपये का कुल वेतन पैकेज मिला है। इससे पहले वह जापानी कंपनी टेलिकॉम सॉफ्टबैंक में कार्यरत थे। यहां वह उस समय दुनिया के तीसरे सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ बन गए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया था।

शेयर के दाम बढ़ेंगे तो ही मिलेगा इतना वेतन
करीब 19 बिलियन डॉलर की ब्रांड वैल्यू वाली कैलिफोर्निया स्थित पालो आल्टो नेटवर्क्स कंपनी की दुनिया में करीब 50 हजार कंपनियों में हिस्सेदारी है और उसमें करीब 5 हजार कर्मचारी काम करते हैं। कंपनी की तरफ से सोमवार को दर्ज की गई नियामक रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब 50 साल के निकेश को कंपनी से मिले करीब 858 करोड़ रुपये के पैकेज की खास बात ये शर्त है कि इतने पैसे पाने के लिए उन्हें कंपनी के शेयरों का दाम चार गुना बढ़ाना होगा। निकेश कंपनी के पिछले सीईओ व चेयरमैन मार्क लाफलिन की जगह लेंगे, जो अब कंपनी के सेंट्रल बोर्ड वाइस चेयरमैन बन गए हैं। लाफलिन 2015 में कंपनी से दुनिया के 5वें सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले एक्जीक्यूटिव के तौर पर जुड़े थे।

इस तरह होगा पैकेज
6.7 करोड़ रुपये का मिलेगा सालाना वेतन
6.7 करोड़ रुपये का होगा सालाना बोनस
268 करोड़ रुपये के शेयर रहेंगे उनके नाम पर
07 साल तक इन शेयरों को नहीं बेच पाएंगे निकेश
134 करोड़ रुपये में करीब 22000 शेयर अपने पैसे से खरीदने होंगे
443 करोड़ रुपये का स्टॉक विकल्प मिलेगा उन्हें कंपनी की शेयर वैल्यू 150 फीसदी बढ़ने पर
04 गुना तक कंपनी की कीमत बढ़ी तो ये 443 करोड़ रुपये का पूरा स्टॉक हो जाएगा निकेश का
858 करोड़ रुपये का हो जाएगा इस तरह निकेश का पूरा सालाना पैकेज

सॉफ्टबैंक में दो साल में लिए थे 1946 करोड़ रुपये
वर्ष 1992 में अपनी पहली नौकरी करने वाले निकेश 2004 में गूगल से जुड़े थे। गूगल में 10 साल तक काम करने के बाद 2014 में वे सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉरपोरेशन में जुड़ गए थे, जहां उनकी हैसियत सॉफ्टबैंक के संस्थापक मासायोसी सन के बाद नंबर-2 की थी। पिछले साल मतभेदों के बाद सॉफ्टबैंक से इस्तीफा देने वाले निकेश को इस दौरान करीब 1946 करोड़ रुपये वेतन पैकेज के तौर पर मिले थे।

संघर्षपूर्ण रहा है जीवन
निकेश भारत में गाजियाबाद के रहने वाले हैं। उनका जन्म भारतीय एयरफोर्स के अधिकारी के यहां हुआ था। वह 1989 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेट्रिक्ल इंजीनियरिंग में बीटेक किया था। इसके बाद उन्होंने अमेरिका में पढ़ाई करने के लिए पिता से उधार के तौर पर 75 हजार रुपये लिए थे। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि उन्हें अमेरिका में अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए बर्गर बेचने और सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी जैसे काम भी करने पड़े। अमेरिका के बोस्टन कॉलेज से डिग्री लेने के बाद उन्होंने वहीं की नॉर्थईस्टर्न यूनिवर्सिटी से एमबीए किया। इसके बाद वे चार्टर्ड फाइनेंस एनालिस्ट (सीएफए) भी बने।

Leave a Comment

अन्य समाचार

सायना, कश्यप और सौरभ राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में

गुवाहाटीः पूर्व नंबर एक खिलाड़ी सायना नेहवाल, पारूपल्ली कश्यप और सौरभ वर्मा 83वीं योनेक्स सनराइस सीनियर राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंच गए। गत चैंपियन सायना ने एकतरफा मुकाबले में भारत की पर्वू नंबर एक खिलाड़ी रही मुंबई की [Read more...]

आस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए टीम इंडिया का हुआ एलान

बुमराह और कोहली की होगी वापसी कुलदीप की जगह मयंक मार्केंडेय को मिला मौका नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट चयन समिति ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ दो मैचों की टी-20 और 5 वनडे मैचों की सीरीज के लिए टीम की घोषणा कर दी है। [Read more...]

मुख्य समाचार

बंदूक की नोक पर भाजपा नेता की बेटी का अपहरण

घटना के विरोध में लोगों ने बंद का पालन कर किया सड़क जाम लाभपुर (बीरभूम) : लाभपुर में 1 स्थानीय भाजपा नेता के घर में घुसकर गुरुवार की रात अपराधियों ने बंदूक की नोंक पर उसकी बेटी का अपहरण कर लिया। [Read more...]

पुलवामा की घटना से मर्माहत हूं, जनता पूछ रही है सवाल – ममता

कहा- यह राजनीतिक का मुद्दा नहीं कोलकाता : बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पुलवामा की घटना पर बेहद ही दु:ख जताते हुए पीड़ित परिवार के साथ होने का आश्वासन दिया तथा कहा कि वे इस घटना से बेहद ही मर्माहत [Read more...]

ऊपर