बाबरी मस्जिद को हिंदू तालिबान ने नष्ट किया

नई दिल्‍लीः राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद पर शिया वक्फ बोर्ड ने शुक्रवार को कहा कि वह मुसलमानों के हिस्से की जमीन राम मंदिर के लिए दान करना चाहता है। सुप्रीम कोर्ट में शिया वक्फ बोर्ड के वकील एस. एन.सिंह ने बोर्ड का पक्ष रखा। बोर्ड के वकील ने कहा कि मुसलमानों के हिस्से में आई एक तिहाई जमीन पर उनका हक है क्योंकि बाबरी मस्जिद मीर बाकी ने बनवाई थी। मीर बाकी शिया मुसलमान था। इसलिए सुन्नी मुसलमानों से उक्त मस्जिद का कोई संबंध नहीं है। बोर्ड ने कहा कि इलाहबाद हाई कोर्ट द्वारा मुसलमानों की दी गई एक तिहाई जमीन को राम मंदिर बनाने के लिए दान किया जाएगा। हम इस मामले को शांति के साथ सुलझाना चाहते हैं।
पक्ष रखते हुए कहा…
मुस्लिम पक्षकारों और सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि ‘जैसे बामियान बुद्ध की प्रतिमाओं को मुस्लिम तालिबान ने नष्ट किया ठीक वैसे ही बाबरी मस्जिद को हिंदू तालिबान ने नष्ट किया।’

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

न्याय के मं‌दिर में वकीलों ने ही किया महिला वकील साथी के साथ सामूहिक दुष्कर्म

नई दिल्लीः मानवाधिकार और अधिकारों के संरक्षण की रक्षा करने वाले या लड़ने वाले अगर खुद किसी के अधिकार उल्लंघन करे तो क्या कहेंगे। ऐसा ही एक घटना दिल्ली के साकेत कोर्ट्र परिसर की है। यहां एक वकील के चेंबर [Read more...]

मोदी ने पूर्वांचल के किसानों को दिया 3420 करोड़ की परियोजना

मिर्जापुरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पूर्वांचल दौरे के दूसरे दिन मिर्जापुर में एक रैली को संबोधित किया। जनसभा को संबोधित करने से पहले उन्होंने बाणसागर परियोजना का शुभारंभ किया। इस परियोजना से इलाके में सिंचाई को बढ़ावा मिलेगा, जिससे [Read more...]

मुख्य समाचार

अफगान में आत्मघाती हमला, 7 मरे, 15 जख्मी

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रविवार की शाम शाम करीब 4.30 बजे ग्रामीण पुनर्वास और विकास मंत्रालय के गेट के बाहर एक हमलावर ने खुद को विस्फोटक से उड़ा लिया। इस आत्मघाती हमले में आम लोग एवं सुरक्षाकर्मी समेत [Read more...]

भगवान जगन्नाथ का रथ गुंडिचा मंदिर पहुंचा

पुरीः भगवान जगन्नाथ का ‘नंदीघोष’ रथ रविवार को गुंडिचा मंदिर पहुंच गया। रथ यात्रा के दौरान शनिवार को बालागंडी चक पर इस रथ को रोकना पड़ा और उस दिन रथयात्रा पूरी नहीं हुई क्योंकि सूर्यास्त के बाद रथों को नहीं [Read more...]

ऊपर