फैसलाः आधार की अनिवार्यता की डेडलाइन बढ़ी, अंतिम तारीख होगा 31 मार्च

नई दिल्लीः सरकार ने उपयोगकर्ताओं को आधार से लिंक करने की समयसीमा को 31 दिसंबर से बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया है। सरकार ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आधार को जरूरी करने की डेडलाइन की समय सीमा निर्धारित की गई है। यह बात सरकार ने उस समय कही है जब सुप्रीम कोर्ट में आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुनवाई चल रही थी। केंद्र सरकार की ओर से शुक्रवार को अधिसूचना जारी की जाएगी और आधार की अनिवार्यता की डेडलाइन को बढ़ाया जाएगा। अब तक यह समय सीमा 31 दिसंबर, 2017 थी और इस तारीख तक आधार कार्ड को लिंक कराना जरूरी था।

सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में रखा पक्ष
गुरुवार को आधार कार्ड की अनिवार्यता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही थी। आधार की अनिवार्यता पर रोक की मांग वाली याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने संवैधानिक बेंच गठित करने की बात कही है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने याचिकाकर्ताओं से कहा कि अगले सप्ताह कोर्ट पांच सदस्यीय संविधान पीठ का गठन करेगी, जो याचिकाओं पर सुनवाई करेगी। सरकार की ओर से अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रख रहे थे। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड की अनिवार्यता पर अब रोक नहीं लगाई जा सकती क्योंकि अब इस पर काफी आगे बढ़ा जा चुका है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस मसले पर बहस करने के लिए तैयार है। मामले में सुनवाई के दौरान आधार कार्ड की अनिवार्यता को चुनौती देने वाले याचिकाकर्ताओं ने शीर्ष अदालत से मामले को तेजी से निपटाने की भी मांग की।

मोबाइल को 6 फरवरी तक लिंक करना जरूरी
अटॉर्नी जनरल ने हालांकि स्पष्ट किया कि मोबाइल सेवाओं को आधार से जोड़ने की समयसीमा अगले साल 6 फरवरी ही रहेगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि मोबाइल सेवाओं को आधार से जोड़ना अनिवार्य है। आधार योजना का विरोध करने वाले लोगों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील श्याम दीवान ने पीठ को बताया कि केंद्र सरकार को यह हलफनामा देना चाहिए कि आधार को विभिन्न योजनाओं से जोड़ने में नाकाम रहने वाले लोगों के खिलाफ कोई कठोर कदम नहीं उठाया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने 30 अक्टूबर को कहा था कि आधार योजना के खिलाफ कई याचिकाओं पर संविधान पीठ नवंबर के आखिरी सप्ताह से सुनवाई शुरू करेगी। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट की नौ सदस्यीय संविधान पीठ ने कहा था कि संविधान के तहत निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है। आधार की वैधता को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं में दावा किया गया था कि यह निजी अधिकारों का उल्लंन करता है।

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

मुकुल राय को बड़ा झटका, नहीं मिली मोहलत

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की तरफ से भाजपा नेता मुकुल राय के खिलाफ दायर मामले में अदालत से मुकुल राय को कोई मोहलत नहीं मिली। अलीपुरदुआर के सिविल जज ने मामले की सुनवायी करते हुए आदेश [Read more...]

नियम के विरुद्ध नहीं लिया जाएगा कोई फैसला – वीसी

कोलकाता : सीयू के बंगला विभाग में गत 2 दिनों से चल रहा विवाद अखिरकार खत्म हुआ। बंगला विभाग के कुछ छात्र अनिवार्य अटेंडेंस ना होने के बावजूद आगामी 27 फरवरी को होने वाली प्रथम वर्ष की परीक्षा में बैठने [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकुल राय को बड़ा झटका, नहीं मिली मोहलत

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की तरफ से भाजपा नेता मुकुल राय के खिलाफ दायर मामले में अदालत से मुकुल राय को कोई मोहलत नहीं मिली। अलीपुरदुआर के सिविल जज ने मामले की सुनवायी करते हुए आदेश [Read more...]

नियम के विरुद्ध नहीं लिया जाएगा कोई फैसला – वीसी

कोलकाता : सीयू के बंगला विभाग में गत 2 दिनों से चल रहा विवाद अखिरकार खत्म हुआ। बंगला विभाग के कुछ छात्र अनिवार्य अटेंडेंस ना होने के बावजूद आगामी 27 फरवरी को होने वाली प्रथम वर्ष की परीक्षा में बैठने [Read more...]

राज्य में चालू होगा देश का पहला हाइड्रो इंफोरमेटिक कोर्स – राजीव बनर्जी

मॉन्टेनीग्रो स्थित अमेरिकी दूतावास पर ग्रेनेड फेंकने के बाद खुद को उड़ाया

ब्रिटिश संसद के बाहर अंग्रेज ने भारतीय सिख की पगड़ी खींची

गोलीबारी की घटनाओं पर लगेगी रोक, शिक्षक होंगे हथियारबंद : ट्रंप

टेरर फंडिंग : पाक को सऊदी अरब, चीन और तुर्की का साथ मिला

पूर्वोत्तर के लिए विजन ‘ट्रांसपोर्टेशन और ट्रांसफॉर्मेशन’ से ही होगा नागालैंड का विकासः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जीवन में संतुलन बनाये रखने का एकमात्र साधन ध्यान

भारत आए कनाडाई पीएम ने खालिस्तानी आतंकी को रात्रिभोज पर बुलाया, बवाल मचने पर निमंत्रण को रद्द किया

उपर