प्रधानमंत्री ने असुविधा के लिए छात्रों से मांगी माफी, दिया सफलता का मंत्र

  • दीक्षांत समारोह में भाग लेने महानगर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
  • हसीना ने रोहिंग्या मामले में प्रधानमंत्री से मांगी मदद

कोलकाताः शांतिनिकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में भाग लेने पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने छात्रों द्वारा असुविधाओं का सामना करने पर छात्रों से क्षमा मांगी। बांग्ला में अपने संबोधन की शुरुआत करने के बाद उन्होंने कहा कि मैं चांसलर होने के नाते यहां हुई असुविधाओं के लिए क्षमा मांगता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब वह आ रहे थे तो रास्ते में कुछ बच्चे इशारों में कह रहे थे कि यहां पीने का पानी भी नहीं है।  इस अवसर पर मोदी ने कहा कि 125 करोड़ देशवासियों ने 2022 तक न्यू इंडिया बनाने का संकल्प लिया है। इस संकल्प की सिद्धि में शिक्षा और महान शिक्षण संस्थानों की महत्वपूर्ण भूमिका है। ऐसे संस्थानों से निकले नौजवान, देश को नई ऊर्जा देते हैं, एक नई दिशा देते हैं। कार्यक्रम के दौरान बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्ती भी मौजूद थीं।
आप एक कदम चलेंगे तो सरकार चार कदम चलेगी
मोदी ने छात्रों को प्रेरणा देते हुए कहा कि अगर आपके साथ चलने के लिए कोई तैयार ना भी हो, तब भी अपने लक्ष्य की तरफ अकेले ही चलते रहो। मोदी ने भरोसा दिलाते हुए कहा कि अगर आप एक कदम चलेंगे तो चार कदम सरकार चलेगी। जनभागीदारी के साथ बढ़ते हुए ये कदम ही हमारे देश को उस मुकाम तक लेकर जाएंगे, जिसका सपना गुरुदेव ने भी देखा था।
यह मेरा सौभाग्य है कि गुरुदेव की भूमि पर गुजारने का मौका मिला
पीएम ने आगे कहा कि ‘मैं यहां एक अतिथि नहीं बल्कि चांसलर या आचार्य के तौर पर आया हूं। हमारे यहां कहा गया है कि आचार्य के पास जाए बगैर विद्या नहीं मिलती। यह मेरा सौभाग्य है कि गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर की भूमि पर इतने आचार्यों के बीच मुझे समय गुजारने का मौका मिला है।’ उन्होंने कहा कि मैं जब अभी कार से उतरकर मंच की तरफ आ रहा था तो सोच रहा था कि कभी इस भूमि के कण-कण पर गुरुदेव के कदम पड़े होंगे। कभी यहां उन्होंने महात्मा गांधी से चर्चा की होगी।
भारत -बांग्लादेश एक-दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते है
शांति निकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में पीएम के साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी पहुंचीं। पीएम ने कहा कि शायद यह पहला मौका है जब किसी दीक्षांत समारोह में 2 देशों के प्रधानमंत्री पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि भारत और बांग्लादेश एक दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं। हसीना ने इस अवसर पर भारत से आग्रह किया कि वह रोहिंग्या मामले में म्यंमार से वार्ता में उनकी मदद करें ताकि रोहिंग्या अपने देश वापस जाएं।
बांग्लादेश भवन का हुआ उद्घाटन
शेख हसीना और प्रधानमंत्री ने बांग्लादेश भवन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर कहा कि यह भवन भारत और बांग्लादेश के सांस्कृतिक संबंधों का प्रतीक है। इसे 25 करोड़ की लागत से तैयार किया गया है। पीएम और शेख हसीना एक द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, बांग्लादेश के करीब 150 प्रतिनिधि दीक्षांत समारोह और बांग्लादेश भवन के उद्घाटन के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे हैं। दोनों देशों के प्रधानमंत्री उद्घाटन कार्यक्रम के खत्म होने के बाद दोपहर एक बजे बैठक करेंगे।
ममता ने किया मोदी का स्वागत
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना गुरुदेव रविन्द्र नाथ टैगोर की कर्मस्थलि शांति निकेतन में इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए भारत दौरे पर शुक्रवार सुबह पहुंचीं। इससे पहले शांति निकेतन पहुंचने पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्ती ने पीएम मोदी का स्वागत किया। पीएम मोदी के स्वागत के लिए केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो अपनी बेटी और पत्नी के साथ पहुंचे। इस दौरान बाबुल की बेटी को पीएम मोदी ने दुलारा भी और फूल भी दिए। वहीं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर अपने विशेष विमान से पहुंचीं। यहां उनके स्वागत के लिए राज्य के मंत्री व पुलिस प्रशासन मौजूद थे। इसके बाद वह भी हेलीकॉप्टर से शांति निकेतन के लिए रवाना हो गईं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

रणबीर की फैमिली का हिस्सा बनीं आलिया!

मुंबईः गॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री आलिया भट्ट और रणबीर कपूर अपने रिश्ते को मंजूर कर चुके हैं। दोनों के परिवार वालों ने भी इनके रिश्ते को मंजूरी दे दी है। इतना ही नहीं अब आलिया भट्ट शादी से पहले ही [Read more...]

नोएडा के स्कूल में हादसा, दीवार गिरने से दो बच्चों की मौत, जांच के आदेश

नोएडा : नोएडा के एक स्कूल में सोमवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया जिसमें दो बच्चों की जाने चली गयी। सेक्टर 49 स्थित प्ले स्कूल न्यू केएम पब्लिक स्कूल में स्कूल की दीवार गिरने से कुछ छात्र उसकी चपेट [Read more...]

मुख्य समाचार

अमेरिकाः प्राकृतिक आपदाओं व फसलों की देखरेख के लिए वैज्ञानिकों ने बनाया रोबोफ्लाई

वॉ​​शिंगटनः अमेरिकी वैज्ञानिकों ने प्राकृतिक आपदा का पता लगाने आैर फसलों की देखरेख के लिए कीट के आकार का रोबोट बनाया है। इससे प्राकृतिक आपदा वाले क्षेत्रों में गैस लीक के कारण होने वाली मौतों को रोका जा सकेगा। वॉशिंगटन [Read more...]

आंध्र के तटीय इलाकों में फेथई तूफान ने दी दस्तक, अलर्ट जारी

हैदराबाद : चक्रवाती तूफान फेथई सोमवार को आंध्रप्रदेश में पूर्वी गोदावरी जिले और तमिलनाडु में दस्तक दे दी है। तूफान का कहर इतना तेज था कि गोदावरी के तट पर हवाओं की रफ्तार 80 किलोमीटर प्रति घंटा थी। तटीय जिलों [Read more...]

ऊपर