पाकिस्तानी सेना ने अंतत: 4 माह बाद भारतीय जवान को छोड़ा

वाघा वार्डर पर बीएसएफ को सौंपा गया बाबूलाल

नयी दिल्ली : पाकिस्तानी सेना ने भारतीय जवान चंदू बाबूलाल चौहान को लगभग चार महीने तक हिरासत में रखने के बाद शनिवार अपराह्न वाघा चौकी पर भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया। महाराष्ट्र के धूले जिले का रहने वाला 22 वर्षीय बाबूलाल चौहान 37 राष्ट्रीय राइफल का जवान है और वह गत 29 सितंबर को भटक कर अनजाने में सीमा पार चला गया था। भारतीय सेना ने उसी रात नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में आतंकवादियों के लॉन्च पैड को निशाना बनाकर सैन्य कार्रवाई की थी। चौहान को रिहा कराने के लिए भारतीय सेना ने सैन्य खुफिया महानिदेशालय के माध्यम से अपने पाकिस्तानी समकक्ष के साथ कई दौर की बातचीत की। रक्षा राज्यमंत्री सुभाष भामरे ने पिछले सप्ताह ही इस बात की पुष्टि की थी कि पाकिस्तान इस जवान को जल्द ही छोड़ने वाला है। कई दौर की बातचीत के बाद पाकिस्तानी सेना ने जवान को शनिवार अपराह्न ढाई बजे भारत को सौंप दिया लेकिन साथ ही आरोप लगाया कि यह जवान जानबूझकर उसकी सीमा में घुसा था क्योंकि वह अपने अधिकारियों और सैन्य नेतृत्व से नाराज था।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी कर कहा है कि पाकिस्तान ने इस जवान को स्वदेश जाने के लिए मना लिया है और अपनी समस्या का समाधान स्थानीय तंत्र के माध्यम से करने को कहा है। पाकिस्तान ने यह भी कहा है कि यह कदम मानवता के आधार पर सछ्वावना के तहत उठाया गया है। दूसरी ओर भारत शुरू से कहता रहा है कि यह जवान अनजाने में सीमा पार कर गया था। सूत्रों के अनुसार वाघा चौकी पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों ने बाबूलाल चौहान को सेना को सौंप दिया है। उससे पूछताछ के बाद उसकी विशेष मेडिकल जांच करायी जायेगी। एजेंसियां

Leave a Comment

अन्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

सबरीमला मंदिर में प्रवेश करने वाली दो महिलाओं को पुलिस सुरक्षा देने का आदेश

नई दिल्लीः उच्चतम न्यायालय ने केरल पुलिस को शुक्रवार को आदेश दिया कि सबरीमला मंदिर में प्रवेश करने वाली दो महिलाओं को चौबीस घंटे सुरक्षा मुहैया कराई जाए। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एल एन राव और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी [Read more...]

मुख्य समाचार

अगड़ी जाति के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंची डीएमके

नयी दिल्‍ली : चुनावी वर्ष के शुरुआत से ही राजनीतिक दलों द्वारा तरह तरह के ऐसे हथकंडे अपनाये जा रहे है ताकि उन्‍हें लगे कि वे ही जनता के सच्‍चे हितैषी है। इसी क्रम में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी [Read more...]

उत्तर प्रदेश में गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण पर कैबिनेट की मुहर

लखनऊः कैबिनेट की बैठक में यूपी में गरीब सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण लागू करने के प्रस्ताव पर फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अध्यादेश के मसौदे को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत [Read more...]

ऊपर