‘पद्मावत’ के विरोध में हरियाणा सहित कई राज्यों में हिंसक घटनाएं , हरियाणा सीएम बोले- थिएटर वाले फिल्म न दिखाएं तो अच्छा

नई दिल्लीः  फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज के विरोध में चल रहे विवाद ने अब हिंसक रूप ले लिया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा फिल्म को हरी झंडी दिखाने के बावजूद लोग कानून का उल्लंघन कर रहे हैं। अब कुरुक्षेत्र के सेक्टर-17 स्थित कैसल मॉल से तोड़-फोड़ की घटना सामने आई है। दूसरे इस फिल्म की रिलीज को लेकर अब मध्य प्रदेश और राजस्थान सरकारों ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करते हुए अदालत से अपने पूर्व के आदेश में संशोशन किये जाने की मांग की है l

20 हथियारबंद नकाबपोश युवाओं ने की तोड़फोड़
रविवार देर शाम करीब 20 हथियारबंद नकाबपोश युवाओं ने मॉल में हमला बोल दिया। इस दौरान उन्होंने जमकर तोड़फोड़ की। करीब दो मिनट मे ही आरोपी वारदात को अंजाम देकर भाग गए। रविवार होने के चलते मॉल में बड़ी संख्या में खरीदार पहुंचे थे। हमले के चलते वहां अफरा-तफरी मच गई।

हरियाणा सीएम ने दी ये प्रतिक्रिया
घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अगर सिनेमाघरों के मालिक फिल्म को न दिखाएं तो अच्छा हैं और अगर दिखाते हैं तो उन्हें सरकार की तरफ से सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी, जैसा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन कराना है। बता दें कि हरियाणा सरकार फिल्म को बैन करने की घोषणा भी कर चुकी है। दरअसल, राजस्थान की करणी सेना ने इस फिल्म में राजपूतों की कहानी को तोड़-मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है और कहा कि संजय लीला भंसाली की फिल्म भारतीय इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर बनाई गई है। चार राज्यों राजस्थान, गुजरात, हरियाणा और मध्यप्रदेश में फिल्म को बैन करने की बात सामने आने पर फिल्म निर्माताओं की तरफ से वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट ने पक्ष रखा था, जिसके बाद अदालत ने फिल्म से बैन हटा दिया था।

मध्यप्रदेश और हरियाणा सरकार पहुंची सुप्रीम कोर्ट, सुनवाई 23 जनवरी को
मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिसरा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड की बेंच ने मध्यप्रदेश और हरियाणा सरकार द्वारा लगाई गई इस याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है, जिसकी सुनवाई मंगलवार को होगीl इस याचिका में कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए दोनों राज्यों ने कहा है है कि सिनेमेटोग्राफी एक्ट के तहत उन्हें कानून व्यवस्था को बनाये रखने के लिए किसी भी फिल्म के प्रदर्शन को रोकने का अधिकार हैl हालांकि पद्मावत के निर्माता कंपनी के वकील हरीश साल्वे ने इस मामले में किसी भी तरह की अंतरिम राहत का विरोध किया हैl
गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय ने एक आर्डर के माध्यम से फिल्म को देश भर में रिलीज किया और इसे किसी भी राज्य में बैन किये जाने पर रोक लगाई थीl संजय लीला भंसाली की रणवीर सिंह ( अलाउद्दीन खिलजी), शाहिद कपूर (रावल रतन सिंह) और दीपिका पादुकोण ( रानी पद्मिनी) स्टारर पद्मावत 25 जनवरी को रिलीज हो रही है।

यूपी, दिल्ली व अन्य राज्यों में भी हिंसक घटनाएं
फिल्म को रोकने के लिए राजपूत संगठन देशभर में हिंसक प्रदर्शन कर रहे हैंl गुजरात, राजस्थान और दिल्ली-नोएडा में तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं हुई हैंl इधर फिल्म की एडवांस बुकिंग जोरों पर है और कहा जा रहा है कि लोग फिल्म को देखने के लिए उत्सुक हैंl

 

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

धोनी ने खोला आखिरी गेंद पर छक्का लगाने का राज

नई दिल्लीः पंजाब के खिलाफ खेले गए आखिरी लीग मैच में भी महेंद्र सिंह धोनी ने मोहित शर्मा की गेंद पर सिक्स लगाकर न सिर्फ चेन्नई को जीत दिलाई बल्कि पंजाब को आईपीएल से बाहर भी कर दिया। धोनी का [Read more...]

आईएनएस तारिणी से विश्व का चक्कर लगाकर 8 माह बाद वापस लौटीं बेटिंया

नई दिल्लीः समुद्र के रास्ते आठ माह 11 दिन बाद देश की बेटियां विश्व का चक्कर लगाकर भारतीय नौसेना के पोत आईएनएस तारिणी से वापस आ गई है। इस यात्रा की खाब बात यह रही कि इस पोत पर 6 [Read more...]

मुख्य समाचार

धोनी ने खोला आखिरी गेंद पर छक्का लगाने का राज

नई दिल्लीः पंजाब के खिलाफ खेले गए आखिरी लीग मैच में भी महेंद्र सिंह धोनी ने मोहित शर्मा की गेंद पर सिक्स लगाकर न सिर्फ चेन्नई को जीत दिलाई बल्कि पंजाब को आईपीएल से बाहर भी कर दिया। धोनी का [Read more...]

आईएनएस तारिणी से विश्व का चक्कर लगाकर 8 माह बाद वापस लौटीं बेटिंया

नई दिल्लीः समुद्र के रास्ते आठ माह 11 दिन बाद देश की बेटियां विश्व का चक्कर लगाकर भारतीय नौसेना के पोत आईएनएस तारिणी से वापस आ गई है। इस यात्रा की खाब बात यह रही कि इस पोत पर 6 [Read more...]

उपर