तेजस्वी ने पूछा-ये कैसी परीक्षा है, रेलवे ने परीक्षा सेंटर 2000 किमी दिए

नईदिल्लीः पहली बार ऐसा हो रहा है कि रेलवे में नौकरी की हसरत रखने वाले बेरोजगारों को परीक्षा देने के लिए अपने गृह जनपद से 2000 किलोमीटर से अधिक लंबा सफर तय करना होगा। परीक्षा का सेंटर मद्रास, कोलकाता, दिल्ली और मुंबई जैसे जगहों पर भेज दिया गया है। इससें उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान के दिव्यांगों व लड़कियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। रेलवे ने अभ्यार्थियों की सहूलियत के लिए ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराने का फैसला किया था। लेकिन बड़ी संख्या में आवेदनों के चलते परीक्षा केंद्र कम पड़ गए।
संसद में भी उठा मुद्दा
इस मुद्दे को संसद में भी उठाया गया। लोकसभा में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस नेता रंजीत रंजन ने रेलवे की परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों का परीक्षा केंद्र उनके निवास स्थान से हजारों किलोमीटर दूर करने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि अभ्यर्थी के लिए परीक्षा केंद्र उसके निवास के आसपास बनाना चाहिए। रंजन ने कहा कि रेलवे के सहायक लोको पॉयलट व तकनीशियन के 26,502 पदों पर भर्ती की घोषणा की है। इसके लिए ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराई जाएगी। रिक्त पदों के लिए 47 लाख से अधिक बेरोजगारों ने आवेदन किया है। लेकिन उनके साथ रलवे ने गलत किया है। अभ्यर्थियों के लिए परीक्षा केंद्र उनके घरों से हजारों किलोमीटर दूर बनाए गए हैं।
तेजस्वी ने पूछा ये कैसी परीक्षा
तेजस्वी यादव ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर पूछा है कि ये कैसी ऑनलाइन परीक्षा ली जा रही है। जिसमें परीक्षार्थियों को दो हजार किलोमीटर दूर जाकर परीक्षा देनी पड़ेगी?
रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि बिहार, यूपी, राजस्थान में उपलब्ध परीक्षा केंद्रों की अपेक्षाकृ़त अभ्यर्थियों की संख्या अधिक है। बिहार से 9 लाख, यूपी से 9.5 लाख, राजस्थान से 4.5 लाख आवेदक हैं। रेलवे ने 47 लाख में से 34 लाख (71 फीसदी) आवेदकों को 200 किलोमीटर के भीतर परीक्षा केंद्र दिए हैं। इसमें 99 फीसदी महिला व दिव्यांगों को उक्त दूरी के भीतर परीक्षा केंद्र अलॉट किए गए हैं। यानी शेष एक फीसदी महिलाओं-दिव्यांगों को दो हजार किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी। विदित हो कि पटना से हैदराबाद, बेगलुरु, चैन्नई की दूरी 1800 से 2100 किलोमीटर (ट्रेन) है।
वहीं रेल मंत्रालय ने कल प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा था कि आरआरबी भर्ती परीक्षा के लिए 47 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किए हैं। हमने उम्मीदवारों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए परीक्षा केंद्र उनके शहर या उनके शहर के पास आवंटित किए हैं। रेल मंत्रालय ने कहा है कि हमने शारारिक रूप से अशक्त 99 फीसदी पुरूष और महिला उम्मीदवारों के परीक्षा केंद्र उनके शहर से 200 किमी के दायरे में आवंटित किए हैं।
9 अगस्त से शुरू होगी परीक्षा
रेल अधिकारियों ने बताया कि सहायक लोको पॉयलट व तकनीशिन के पदों के लिए रेलवे की परीक्षा आगामी नौ अगस्त से शुरू हो रही है। इसके बाद परीक्षा 10, 13, 14, 17, 20, 21, 29, 30 व 31 अगस्त को आयोजित कराई जाएंगी। अभ्यर्थियों की अधिक संख्या के चलते प्रतिदन परीक्षा तीन पाली में कराई जाएगी।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

विश्व में आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे स्‍थान पर, भारत समेत 5 देशों में 59 फीसदी हमले

वाशिंगटन : दुनिया के तमाम आतंक प्रभावित देशों में भारत लगातार दूसरे साल भी तीसरे स्‍थान पर है। अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा पोषित नेशनल कंसोर्टियम फॉर द स्‍टडी ऑफ टेररिस्‍म एंड रिस्‍पोंसेज टू टेररिस्‍म (एसटीएआरटी) की एक रिपोर्ट के मुताबिक [Read more...]

तीन दिन पहले ऐसा फैसला सुनाया जिसके बारे बात करने में भी संकोच करती थी अन्य सरकारः पीएम मोदी

वोट खोने के डर से तीन तलाक को अवैध घोषित नहीं करते थे ओडिशा में तालचर फर्टिलाइजर प्लांट के उद्घाटन में पहुंचे पीएम नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को ओडिशा के तालचर प्लांट के उद्घाटन में पहुंचे। एक तरफ [Read more...]

मुख्य समाचार

विश्व में आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे स्‍थान पर, भारत समेत 5 देशों में 59 फीसदी हमले

वाशिंगटन : दुनिया के तमाम आतंक प्रभावित देशों में भारत लगातार दूसरे साल भी तीसरे स्‍थान पर है। अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा पोषित नेशनल कंसोर्टियम फॉर द स्‍टडी ऑफ टेररिस्‍म एंड रिस्‍पोंसेज टू टेररिस्‍म (एसटीएआरटी) की एक रिपोर्ट के मुताबिक [Read more...]

एससी-एसटी एक्ट को लेकर सवर्णों को मनाने में जुटे चौहान

भोपाल: अनुसूचित जाति-जनजाति संशोधन अधिनियम पर केंद्र सरकार का फैसला अब भाजपा के गले की फांस बनता जा रहा है। इस एक्ट को लेकर नाराज सवर्णों को मनाने की कोशिश कर रहे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छिंदवाड़ा [Read more...]

ऊपर