जयललिता को दिल का दौरा, हालत नाजुक

चेन्नई : अपोलो अस्पताल ने रविवार को कहा कि तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक सुप्रीमो जयललिता को दिल का दौरा पड़ा है उनकी नाजुक हालत है और विशेषज्ञों की एक टीम उनका इलाज कर रही है। लंदन के डाक्टर रिचर्ड बेले भी उनके इलाज के लिए आ रहे हैं। एम्स की टीम के भीकल सुबह तक चेन्नई पहुंचने की उम्मीद है। स्थानीय अपोलो अस्पताल में क्रिटिकल कार्डियक केयर यूनिट में उनका इलाज चल रहा है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जयललिता के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है। अस्पताल के बाहर अम्मा (जयललिता) के समर्थक रोते-बिलखते छाती पीटते और प्रार्थना करते नजर आये। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली है। अर्धसैनिक बलों को भी सतर्क रहने को कह गया है। अपोलो अस्पताल के चारों तरफ पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स को तैनात कर दिया गया है। इस बीच गृहमंत्री राजनाथ सिंह तमिलनाडु के राज्यपाल से बात की है जो मुंबई से चेन्नई रवाना हो गये। उधर दिल्ली से भी डाक्टरों की टीम भेजी गयी है। तमिलनाडु के राज्यपाल विद्यासागर राव मुंबई से चेन्नई पहुंच गये हैं। वे हालात पर नजर रख रहे हैं और आपात बैठक भी करनेवाले हैं। तमिलनाडु सरकार के कैबिनेट की आपात बैठक अस्पताल में बुलायी गयी। कई विधायक व सांसद वहां मौजूद हैं। एआईएडीएमके के सभी सांसदों को चेन्नई में ही रुकने को कहा गया है। सोमवार को चेन्नई के सारे स्कूल, कालेज बंद रहेंगे। उनका पिछले ढाई महीने से इलाज चल रहा था जहां रविवार की शाम उनको दिल का दौरा पड़। अपोलो अस्पताल के मुख्य संचालन अधिकारी और ट्रांसफॉर्मेशन के प्रमुख डॉ. सुब्बैया विश्वनाथन ने एक बयान में कहा, -‘तमिलनाडु की माननीय मुख्यमंत्री, जिनका अपोलो अस्पताल में इलाज चल रहा है, को रविवार की शाम दिल का दौरा पड़ा।’ बयान के मुताबिक, -‘हृदय रोग विशेषज्ञ, पल्मोनरी रोग विशेषज्ञ और नाजुक स्थिति में देखभाल करने वाले विशेषज्ञों की एक टीम उनका इलाज कर रही है और उनकी सेहत की निगरानी कर रही है।’ अन्नाद्रमुक ने 68 साल की जयललिता को दिल का दौरा पड़ने से कुछ ही घंटे पहले कहा था कि पार्टी महासचिव ‘जल्द’ घर लौटेंगी, क्योंकि एम्स की एक टीम ने पुष्टि कर दी है कि अस्पताल में दो महीने से ज्यादा समय तक भर्ती रहने के बाद वह पूरी तरह ठीक हो गयी हैं। जयललिता को 22 सितंबर को बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत के बाद चेन्नई के अपोलो हॉस्पिटल में दाखिल कराया गया था। उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी। उनके इलाज के लिए दिल्ली एम्स के 3 डॉक्टरों की टीम भी भेजी गई थी। लंदन से भी एक स्पेशलिस्ट चेकअप के लिए बुलाया गया था। जयललिता के हॉस्पिटल में रहने के दौरान उनके करीबी माने जाने वाले पन्नीरसेल्वम को उनके विभागों की जिम्मेदारी दी गई है। पन्नीरसेल्वम ने जयललिता की फोटो सामने रखकर कैबिनेट की मीटिंग की थी।

 

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

अगर नागरिकों को नहीं दी जाती यह छूट, तो नहीं होता ऐसा हमला

श्रीनगर : सीआरपीएफ ने अपने काफिले के रूट पर पूरी सावधानी बरती थी। इसके बावजूद उनपर आतंकियों का हमला हो गया। अगर सेना के काफिले पर आम नागरिकों को गुजरने की अनुमति नहीं दी गई होती तो शायद हमें इतनी [Read more...]

‘वंदे भारत’ एक्सप्रेस के सभी टिकट बिके

नई दिल्लीः दिल्ली और वाराणसी के बीच सप्ताह में पांच दिन चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस की पहली व्यवसायिक यात्रा के लिए टिकटें पूरी तरह बिक गयी हैं। इस बात की जानकारी रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। इस [Read more...]

मुख्य समाचार

बंदूक की नोक पर भाजपा नेता की बेटी का अपहरण

घटना के विरोध में लोगों ने बंद का पालन कर किया सड़क जाम लाभपुर (बीरभूम) : लाभपुर में 1 स्थानीय भाजपा नेता के घर में घुसकर गुरुवार की रात अपराधियों ने बंदूक की नोंक पर उसकी बेटी का अपहरण कर लिया। [Read more...]

पुलवामा की घटना से मर्माहत हूं, जनता पूछ रही है सवाल – ममता

कहा- यह राजनीतिक का मुद्दा नहीं कोलकाता : बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पुलवामा की घटना पर बेहद ही दु:ख जताते हुए पीड़ित परिवार के साथ होने का आश्वासन दिया तथा कहा कि वे इस घटना से बेहद ही मर्माहत [Read more...]

ऊपर