वीरप्पन का अंत करने वाले आईपीएस अब करेंगे आतंकवाद का खात्मा

नयी दिल्लीः चंदन तस्कर वीरप्पन को मारने वाले 65 वर्ष के विजय कुमार आईपीएस ऑफिसर को केंद्र सरकार ने आतंकियों पर नकेल कसने के लिए घाटी भेजा है। 2004 में के विजय कुमार ने चंदन तस्कर वीरप्पन को घेर कर उसे उसके अंजाम तक पहुंचने में नाकामयाब कर दिया था। के विजय कुमार उस समय सबसे ज्यादा चर्चे में रहे जब वो स्पेशल टास्क फोर्स यानी एसटीएफ में तैनात थे। मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर में लगे राज्यपाल शासन में आतंकवादियों को दांतो तले लोहे के चन्ने चबवाना चाहती है। इसी को ध्यान में रखकर केंद्र सरकार ने राज्यपाल एनएन वोहरा के दो मुख्य सलाहकार नियुक्त किये हैं। राज्यपाल एनएन वोहरा के दो नये सलाहकार बीबी व्यास और के विजय कुमार होंगे।
के विजय कुमार

तमिलनाडु कैडर के 1975 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। जो 1998-2001 के मध्य वो कश्मीर वैली में बीएसएफ के इंस्पेक्टर जनरल थे। उस समय सीमा सुरक्षा बल ने आतंकवादियों के विरूद्ध मुंहतोड़ कार्रवाई भी की थी। 65 वर्षीय के विजय कुमार उस समय सबसे ज्यादा मशहूर जब वो स्पेशल टास्क फोर्स यानी एसटीएफ में कार्यरत थे। साल 2004 में चंदन तस्कर वीरप्पन को अपने जाल में फंसाकर उसे उसके अंजाम तक पहुंचाने वालों में के विजय कुमार का नाम मशहूर है। वर्ष 2010 में जब नक्सलियों द्वारा दंतेवाड़ा में सीआरपीएफ के 75 जवानों को मौत के घाट उतार दिया गया ‌था उस वक्त नक्सलियों पर लगाम लगाने के लिए के विजय कुमार को सीआरपीएफ का डायरेक्टर जनरल नियुक्त किया गया था अब बारी आतंकवादियों की है।
बीबी व्यास
60 वर्षीय के आईएएस अधिकारी बीबी व्यास को गवर्नर एनएन वोहरा का सबसे विश्वनीय व्यक्ति माना जाता है। बीबी व्यास जिस वक्त राज्य के मुख्य सचिव थे तब 31 मई 2018 को उन्हें सेवाकाल में एक वर्ष का एक्सटेंशन भी दिया गया है। बीबी व्यास का नाम एक तेज तर्रार आईएएस अधिकारी के तौर पर लिया जाता है।

बीवीआर सुब्रमण्यम को बनाया गया मुख्य सचिव
छत्तीसगढ़ कैडर के आईएएस अधिकारी बीवीआर सुब्रमण्यम को खास रणनीति के तहत बीबी व्यास के पद पर नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है। इससे पहले सुब्रमण्यम छत्तीसगढ़ के गृह सचिव के पद पर तैनात थे। इनकी पहचान आतंरिक सुरक्षा जैसे गंभीर विषय के विशेषज्ञ के लिए जाना जाता है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सुब्रमण्यम निजी सचिव भी रहें हैं। सुब्रमण्यम विश्व बैंक के साथ भी काम किये हुए हैं। वर्ष 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद सुब्रमण्यम पीएमओ कार्यालय में थे। हालांकि उसके बाद वो छत्तीसगढ़ कैडर में वापस चले गए थे।

इस बैठक में घाटी में आतंकियों पर नकेल कसने के लिए बीबी व्यास और एंटी नक्सल एक्सपर्ट के विजय कुमार को गवर्नर का सलाहकार बनाने पर मुहर लगाई गई। गवर्नर के नए सलाहकारों के नाम का ऐलान केंद्र सरकार ने उस वक्त किया है जब जम्मू-कश्मीर में गवर्नर शासन लगाया गया। इससे पहले मंगलवार को बीजेपी ने पीडीपी की महबूबा सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया जिसके बाद यहां विधानसभा भंग कर दी गई।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

हाई अलर्ट : आतंकी मूसा कर सकता है हमला, पोस्टर्स जारी

नयी दिल्ली : पंजाब के अमृतसर में जैश-ए-मोहम्मद के खूंखार आतंकी जाकिर मूसा के देखे जाने के बाद सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं। पंजाब पुलिस ने आतंकी जाकिर मूसा के पोस्‍टर्स जारी किए हैं। जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकी जाकिर [Read more...]

सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को राहत नहीं, कोर्ट ने कहा- अभी और जांच की जरूरत

नयी दिल्ली : सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा पर विशेष निदेशक राकेश अस्थाना द्वारा लगाए गए आरोपों को लेकर एक बार फिर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने बीते सोमवार को केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) द्वारा आलोक वर्मा [Read more...]

मुख्य समाचार

लक्ष्य विश्व जूनियर चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में

मरखम (कनाडा): भारत के युवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन चीनी ताइपै के चेन शियाउ चेंग को हराकर बीडब्ल्यूएफ जूनियर विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए। अलमोड़ा के 17 साल के सेन इस साल जुलाई में एशियाई जूनियर चैम्पियनशिप [Read more...]

भाजपा इतिहास, नाम या नोट बदल सकती है गेम नहीं : ममता

कहा : देश बचाने में तृणमूल की होगी महत्वपूर्ण भूमिका ब्रिगेड की सभा को बताया लोकसभा के लिए टर्निंग प्वाइंट सन्मार्ग संवाददाता [Read more...]

ऊपर