गुजरात की 5 छोटी लाइनों को संरक्षित करने का निर्णय

वडोदराः रेल मंत्रालय ने 19 वीं सदी में वडोदरा रियासत (तत्कालीन रियासत के गायकवाड़ वडोदरा स्टेट रेलवे – जीबीएसआर) द्वारा निर्माण कराये गये गुजरात की 5 छोटी लाइनों को संरक्षित करने का निर्णय किया। फिलहाल पश्चिम रेलवे इसे संचालित करता है।
रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक (धरोहर) सुब्रता नाथ ने बताया कि रेलवे बोर्ड ने हाल में पश्चिम रेलवे को एक चिट्ठी लिखकर सूचना दी कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यह फैसला किया गया है। इन पुरानी लाइनों का आज भी इस्तेमाल किया जाता हैं। इनमें से एक 33 किलोमीटर लंबी दभोई-मियागम लाइन भारत की पहली छोटी लाइन है। वर्ष 1862 में जब डिब्बों को बैल खींचते थे तब इस लाइन ने काम करना शुरू किया था। इसके एक साल बाद भाप से चलने वाले इंजन आये।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मुझे अकबर पर संदेह नहीं

नई दिल्ली : यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे पूर्व विदेश राज्य मंत्री व पत्रकार एम जे अकबर के बचाव में अब उनकी एक सहकर्मी भी उतर आई हैं। अकबर के साथ काम कर चुकीं पत्रकार जोयिता बसु ने मीटू [Read more...]

खुदरा महंगाई एक साल के न्यूनतम स्तर पर

नई दिल्ली : देश में खुदरा महंगाई दर एक साल में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। सितंबर महीने में जहां यह 3.7 प्रतिशत थी, वहीं अक्टूबर में 3.31 प्रतिशत पर आ है। यह खुदरा मुद्रास्फीति का सितंबर 2017 [Read more...]

मुख्य समाचार

पाक ने 12 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

करांची : पाकिस्तानी अधिकारियों ने सिंध प्रांत तट के समीप पाक समुद्र में कथित तौर पर घुस आने के लिए 12 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया। सोमवार को पाक सुरक्षा अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि [Read more...]

मुझे अकबर पर संदेह नहीं

नई दिल्ली : यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे पूर्व विदेश राज्य मंत्री व पत्रकार एम जे अकबर के बचाव में अब उनकी एक सहकर्मी भी उतर आई हैं। अकबर के साथ काम कर चुकीं पत्रकार जोयिता बसु ने मीटू [Read more...]

ऊपर