खुदरा महंगाई एक साल के न्यूनतम स्तर पर

नई दिल्ली : देश में खुदरा महंगाई दर एक साल में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। सितंबर महीने में जहां यह 3.7 प्रतिशत थी, वहीं अक्टूबर में 3.31 प्रतिशत पर आ है। यह खुदरा मुद्रास्फीति का सितंबर 2017 के बाद का सबसे निचला स्तर है। पिछले साल यानी अक्टूबर 2017 में यह 3.58 प्रतिशत पर ‌थी। फल, प्रोटीन वाले उत्पाद तथा खाने पीने की वस्तुओं के दाम घटने के कारण खुदरा मुद्रास्फीति में गिरावट आई है।
केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय की ओर से सोमवार को खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़े जारी किये जिसके अनुसार अक्तूबर में खाद्य वस्तुओं के दाम 0.86 प्रतिशत घटे जबकि सितंबर में इनकी कीमतों में 0.51 प्रतिशत का इजाफा हुआ था। आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर में सब्जियां 8.06 प्रतिशत सस्ती हुई, जबकि सितंबर में इनकी कीमतों में 4.15 प्रतिशत की कमी आई थी। वहीं प्रोटीन वाले उत्पादों मसलन मोटे अनाज, अंडे, दूध और अन्य संबंधित उत्पादों की कीमतों में भी अक्टूबर में गिरावट आई है। हालांकि ईंधन और बिजली श्रेणी में मुद्रास्फीति बढ़कर 8.55 प्रतिशत पर पहुंच गई जो सितंबर में 8.47 प्रतिशत थी।


एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

संसद की स्‍थायी समिति काे 10-15‌ दिनों में लिखित जवाब देंगे उर्जित पटेल

नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय के बीच कुछ मुद्दों को लेकर गहरे मतभेदों के बीच वित्त पर संसद की स्थायी समिति के समक्ष पेश हुए गवर्नर उर्जित पटेल ने मंगलवार को कहा कि वह कुछ विवादित [Read more...]

अब पैन बनवाने के लिए जरूरी नहीं पिता का नाम, जानें नए नियम

नई दिल्ली : आयकर विभाग ने अस्थाई खाता संख्या (पैन) आवेदन में आवेदक के पिता-माता के अलग होने की स्थिति में पिता का नाम देने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। विभाग ने कहा है कि अब आवेदन फॉर्म [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकेश अंबानी की बेटी के वैवाहिक कार्यक्रम में पहुंचीं नामी गिरामी हस्तियां

हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित अन्य ने अपनी प्रस्तुतियां दीं उदयपुर : देश के प्रमुख उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा के वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल लेने के लिए देश दुनिया की प्रमुख हस्तियों रविवार को उदयपुर पहुंचीं। हॉलीवुड सिंगर बियोंसे सहित [Read more...]

भारत ने सत्तर के दशक में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रणाली का मौका गंवाया

‘द टाटा ग्रुपः फ्रॉम टार्चबियरर्स टु ट्रेलब्लेजर्स’ में दावा नयी दिल्लीः सत्तर के दशक के आखिर में पूर्ण कंप्यूटरीकृत कर प्रशासन प्रणाली [Read more...]

ऊपर