क्या भाजपा ‘मंदिर मुद्दे’ पर अगला चुनाव करायेगी?

नयी दिल्ली (दिल्ली ब्यूरो): भाजपा द्वारा 2019 का लोकसभा चुनाव ‘मंदिर मुद्दे’ पर कराने की विफल हो रही रणनीति के बाद पार्टी द्वारा संघ से जुड़े संगठनों और अन्य हिंदू संगठनों को शांत करने के लिए विस्तृत योजनाएं बनायी गयी हैं। काफी समय से इन संगठनों को कहा जा रहा था कि आम चुनाव के पहले मंदिर निर्माण कार्य शुरू होगा और इसके लिए उन्हें एक साल पहले ऐसा माहौल तैयार करना होगा जिससे हिंदू मतदाताओं का ध्रुवीकरण हो सके। एक भाजपा सांसद के अनुसार इन संगठनों में 1992 का जज्बा तैयार हो गया है।
पिछले महीने हुई संघ और भाजपा नेताओं की बैठक में इस उत्साह को दूसरी दिशा में मोड़ने के लिए वैचारिक महाकुंभ लगाने के बारे में फैसला किया गया। इस रणनीति के तहत दिसंबर में उत्तरप्रदेश के 5 बड़े शहरों में वैचारिक महाकुंभ के नाम पर बड़े स्तर पर सम्मेलन रखे जा रहे हैं। इस सम्मेलन का नाम अयोध्या में समरसता महाकुंभ, लखनऊ में युवा महाकुंभ, वृंदावन में मातृशक्ति महाकुंभ, बनारस में पर्यावरण महाकुंभ और इलाहाबाद में सद्भाव महाकुंभ रखा जाएगा। भाजपा को उम्मीद थी कि अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में हो रही सुनवाई पर अक्टूबर तक फैसला आयेगा लेकिन अब यह समझा जा रहा है कि फैसला अगले साल चुनाव के बाद ही आयेगा। मंदिर निर्माण को लेकर पिछले कुछ महीने से विहिप, रामजन्मभूमि न्यास और शिवसेना के आ रहे बयानों से भाजपा नेतृत्व में बेचैनी है। इन सम्मेलनों पर करोड़ों रुपये खर्च कर हर संगठन को न्योता दिया जाएगा। वहां इकट्ठे लोगों को समरसता से सद्भाव का पाठ पढ़ाया जाएगा और युवा शक्ति से मातृशक्ति का परिचय कराया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सरकार में उच्च पदों पर बैठे उनके प्रशंसक मान रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बगैर मंदिर निर्माण कार्य शुरू होना प्रधानमंत्री और भाजपा के लिए घातक होगा। संविधान, सर्वोच्च न्यायालय की अवहेलना के साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भद्द पिटेगी।
दूसरी तरफ प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष दोनों दबाव में हैं। अमित शाह ने कुछ दिन पहले एक दक्षिणी राज्य में कहा था कि चुनाव के पहले राम मंदिर बनेगा पर मामले की नजाकत समझ भाजपा ने इसका खंडन कर कहा उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा। इसी तरह उत्तरप्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से मंदिर मुद्दा हल नहीं होने पर संसद में कानून बनाकर मंदिर बनाया जाएगा।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

मप्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विस चुनाव लड़ेगी सवर्ण समाज पार्टी

रीवाः अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम और आरक्षण के विरोध में प्रदर्शन की अनेक घटनाओं के बीच सवर्ण समाज पार्टी के अध्यक्ष व मध्यप्रदेश के विंध्य अंचल के प्रमुख लक्ष्मण तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी ने मध्यप्रदेश के 230 [Read more...]

मुख्य समाचार

‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ ने फिर बनाया मुरीद

नयी दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर से अपने फैसले से साबित कर दिया कि डीआरएस के मामले में उनसे सटीक कोई नहीं है। अगर वह इशारा कर दें तो मान लीजिए [Read more...]

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

ऊपर