कुमारस्वामी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन को बताया जहर समान

बेंगलुरुः कर्नाटक के मुख्यमंत्री और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) के नेता एचडी कुमारस्वामी एक बार फिर गठबंधन सरकार के मुख्यमंत्री होने का दर्द छलका है। शनिवार को एक कार्यक्रम में उन्होंन रोते हुए कहा कि आप लोग गुलदस्ता लेकर मेरा स्वागत करने के लिए खड़े रहते हैं। आपको लगता होगा कि आपका भाई मुख्यमंत्री हो गया है। आप सभी खुश हैं, लेकिन इससे मैं खुश नहीं हूं। मैं जानता हूं कि गठबंधन का दर्द क्या होता है? मुझे भगवान शंकर की तरह गठबंधन सरकार का जहर पीना पड़ रहा है।कहा कांग्रेस का साथ जहर जैसा है।
हर काम के लिए कांग्रेस से इजाजत लेना पड़ता है
28 मई को भी कुमारस्वामी ने कहा था कि मैं कांग्रेस की दया से मुख्यमंत्री बना हूं। राज्य के विकास की जिम्मेदारी मुझ पर है। मुझे मुख्यमंत्री के तौर पर काम करना है, लेकिन इसके लिए मुझे कांग्रेस के नेताओं की इजाजत लेना जरूरी है। उनकी इजाजत के बिना मैं कुछ नहीं कर सकता। आखिर, उन्होंने मुझे समर्थन जो दिया है।
मीडिया कहती है कि मेरी कर्जमाफी योजना में स्पष्टता नहीं
कुमारस्वामी ने कहा कोई नहीं जानता कि लोन माफी के लिए अधिकारियों को मनाने के लिए मुझे कितनी बाजीगरी करनी पड़ी। अब वे अन्ना भाग्य स्कीम’ में 5 किलो चावल की बजाय 7 किलो चाहते हैं। मैं इसके लिए 2500 करोड़ रुपए कहां से लाऊं? टैक्स लगाने के लिए मेरी आलोचना हो रही है। इन सबके बावजूद मीडिया कह रही है कि मेरी कर्जमाफी योजना में स्पष्टता नहीं है। अगर मैं चाहूं तो 2 घंटे में मुख्यमंत्री का पद छोड़ दूं।
सपना था कि मैं पार्टी और पिता के अधूरे कामों को पूरा करुं
कुमारस्वामी ने कहा ये बदकिस्मती है कि चुनावों के दौरान लोग उन्हें सुनने के लिए तो आए, लेकिन जब वोट देने की बारी आई तो पार्टी के उम्मीदवारों को भूल गए। ईश्वर ने मुझे मुख्यमंत्री पद दी है। वह तय करेंगे कि मुझे कितने दिन रहना है। मेरा सपना था कि मैं पार्टी के वादों और अपने पिता एचडी देवेगौड़ा के अधूरे कामों को पूरा करूं। यह ताकत हासिल करने के लिए नहीं था। हालांकि, विधानसभा चुनावों के नतीजे में यह संकेत था कि कहीं न कहीं लोगों को मुझ पर भरोसा नहीं है।
एचडी देवेगौड़ा को है पुत्र की चिंता
कुमारस्वामी के पिता एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री का 18-18 घंटे काम करना उनके स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है और उन्हें अपने बेटे की चिंता है। जेडीएस (38) ने कांग्रेस (78) के साथ मिलकर सरकार बनाई है। भाजपा को 104 सीट मिलीं। पहले येदियुरप्पा ने शपथ ली, लेकिन वे बहुमत का आंकड़ा नहीं जुटा पाए।
उप-मुख्यमंत्री ने कहा- उनकी खुशी में हमारी खुशी
कर्नाटक के उप-मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा वे ऐसा कैसे कह सकते हैं? उन्हें निश्चित ही खुश होना चाहिए, मुख्यमंत्री को हमेशा खुश रहना चाहिए, अगर वे खुश होंगे तभी हम सब खुश होंगे।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

अल्पसंख्यको को आरएसएस से सतर्क रहने की जरूरत : कमलनाथ

भोपाल : मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ का एक विडियो वायरल हो गया है। इस वायरल विडियो में कमलनाथ अल्पसंख्यक प्रतिनिधिमंडल से कथित तौर पर कहते दिखाई दे रहे हैं कि चुनाव होने तक उन्हें सतर्क रहने की जरूरत [Read more...]

आतंकियों का चुनाव लड़ना चिंता का विषय : मोदी

सिंगापुर : पूर्वी एशिया सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि - दुनिया में कहीं भी आतंकी हमले होते हैं आखिर में उसकी जन्मस्‍थली एक ही होती है। प्रधानमंत्री ने यह बात अमेरिकी [Read more...]

मुख्य समाचार

2 मोटरसा​इकिलों की टक्कर में 13 से अधिक छठ व्रती घायल, 4 की हालत गंभीर

जामुड़िया : केंदा फांड़ी अंतर्गत तपसी के भूत बांग्ला के पास तेज गति से आ रही 2 मोटर साइकिलों में आमने-सामने हुई टक्कर में 13 से अधिक छठ व्रती घायल हो गये जिसमें 4 की हालत गंभीर बतायी जा रही [Read more...]

अल्पसंख्यको को आरएसएस से सतर्क रहने की जरूरत : कमलनाथ

भोपाल : मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ का एक विडियो वायरल हो गया है। इस वायरल विडियो में कमलनाथ अल्पसंख्यक प्रतिनिधिमंडल से कथित तौर पर कहते दिखाई दे रहे हैं कि चुनाव होने तक उन्हें सतर्क रहने की जरूरत [Read more...]

ऊपर