कश्मीर के कुछ हिस्सों में पाबंदियां, सड़कें बंद, बंद रहा जामिया मस्जिद इलाका

श्रीनगरः हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की बरसी से पहले कानून-व्यवस्था बरकरार रखने के मकसद से दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल कस्बे और श्रीनगर के नौहट्टा तथा मैसुमा पुलिस थाना क्षेत्रों में शनिवार को अधिकारियों ने ऐहतियातन कुछ पाबंदियां लगायीं। इस दौरान अलगाववादियों द्वारा किये गये हड़ताल के आह्वान का भी मिला-जुला असर दिखा।
एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए यह कदम उठाया गया। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के कोकरनाग इलाके के बुमदूरा गांव में 8 जुलाई 2016 को हुई एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने त्राल के रहने वाले वानी को मार गिराया था। उसकी मौत के बाद घाटी में बड़े पैमाने पर 6 महीने तक हिंसक प्रदर्शन हुए जिसमें लभगभग 120 लोग मारे गये और लंबे समय तक कर्फ्यू लगा रहा था। पूरी घाटी में संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया। इस बीच महिलाओं के कट्टरपंथी संगठन दुख्तरान-ए-मिल्लत की प्रमुख आसिया अंद्राबी को एनआईए द्वारा दिल्ली स्थानांतरित किये जाने के विरोध में ज्वाइंट रेसिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले बुलायी गयी अलगाववादियों की हड़ताल का भी घाटी में मिलाजुला असर रहा। जेआरएल ने लोगों से पूर्ण बंदी रखने और सड़कों पर न निकलने की अपील की। जेआरएल में शामिल सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासीन मलिक ने संयुक्त रूप से रविवार को हड़ताल का आह्वान किया है।
अधिकारियों ने कहा कि शहर के लाल चौक इलाके में दुकानें और कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे वहीं शहर के दूसरे हिस्सों में सामान्य हालात थे। प्रशासन ने शुक्रवार को मलिक को हिरासत में लिया था जबकि मीरवाइज और गिलानी को नजरबंद रखा गया। सुबह से ही त्राल की ओर जाने वाली सभी सड़कें बंद रहीं और जगह-जगह पर नाके लगाये गये। राजपोरा सुरक्षा शिविर से किसी को भी त्राल की ओर जाने की अनुमति नहीं थी।

कल भी बंद रहा जामिया मस्जिद इलाका
श्रीनगर के ऐतिहासिक जामिया मस्जिद शनिवार को दूसरे दिन भी एहतियातन बंद रहा। अलगाववादियों ने दुखतरान-ए-मिलत (डीएम) प्रमुख असिया अंद्राबी तथा उसके सहयोगियों को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के तलब किये जाने के विरोध में हड़ताल का आह्वान किया था। शुक्रवार को भी वहां नमाज अदा नहीं हो सकी। हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज मौलवी उमर फारुक का गढ़ माने जाने वाले जामिया मस्जिद के इलाके में शुक्रवार को उनकी सभा थी जिसे रोकने के लिए उन्हें घर पर नजरबंद कर दिया गया। शनिवार को मस्जिद के सभी गेटों को बंद कर मुख्य जामिया बाजार और उससे सटे इलाकों में लोगों को आने से रोकने के लिए भारी संख्या में सुरक्षा बलों तथा राज्य पुलिस के जवान तैनात किये गये। मस्जिद की ओर जाने वाली राजौरी कदल, रंगेर स्टॉप तथा गोजवाड़ा समेत सभी सड़कों को कटीले तारों से बंद किया गया। हालांकि एसकेआईएमएस की ओर जाने वाले वाहनों, मरीजों और मेडिकल स्टाफ को उनके दस्तावेजों को जांचने के बाद जाने की अनुमति दी गयी।

Leave a Comment

अन्य समाचार

ईशा अंबानी की इटली में आज सगाई

नई दिल्ली: दुनिया के सबसे अमीर लोगों में शुमार मुकेश अंबानी के घर एक बार फिर सगाई की [Read more...]

आतंकियों ने 3 पुलिसकर्मियों को अगवा कर की हत्या

श्रीनगरः पाक फौज द्वारा बीएसएफ जवान की बर्बर हत्या के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने शुक्रवार तड़के शोपियां जिले में 3 पुलिसकर्मियों को अगवा कर उनकी हत्या कर दी। पुलिसकर्मियों के तलाशी अभियान के दौरान तीनों शव कापरन गांव से [Read more...]

मुख्य समाचार

भारत में राफेल पर रार, डेप्युटी एयर मार्शल रघुनाथ ने उड़ाया लड़ाकू विमान

नयी दिल्ली : देश में एक तरफ राफेल विमान के सौदे को लेकर राजनीतिक युद्ध छिड़ा हुआ है वहीं दूसरी तरफ वायुसेना 36 राफेल विमानों को बेडे़ में शामिल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। भारतीय वायु सेना [Read more...]

श्रीकांत का अभियान मोमोटा से हारकर खत्म

चांगजूः भारतीय शटलर किदाम्बी श्रीकांत का अभियान 10 लाख डालर इनामी राशि के चाइना ओपन बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन केंटो मोमोटा से हारकर खत्म हो गया। [Read more...]

ऊपर