इमरान के प्रधानमंत्री बनने के सपने छोटे दल व निर्दलियों के गठबंधन तोड़ सकते है

इस्‍लामाबादः पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर और राजनेता इमरान खान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इमरान को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्षी पार्टियों से बड़ा झटका मिला है। पाकिस्तान के चुनावों में धांधली का आरोप लगाने वाले दो बड़े दलों ने एक साथ आने का मन बना लिया है। ये पार्टियां अपना प्रधानमंत्री उम्मीदवार भी मैदान में उतार रही हैं। मालूम हो कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के नेता इमरान खान की ताजपोशी का दिन तय हो गया है। इमरान खान 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं। जिसकी तैयारियां शुरु हो गई है। इमरान की पार्टी को पाक असेंबली चुनाव में 272 में से 116 सीटें मिली है।
बिलावल भुट्टों की अगुवाई वाले पीपीपी के साथ छोटे दल व निर्दलीय उम्मीदवार आये
पाकिस्तानी मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की मरियम औरंगजेब ने कहा, ‘देखिए, यह एक ऐसा गठबंधन है जो धोखाधड़ी कर हुए चुनावों के खिलाफ है।’ हालांकि ऐसा कहा जा रहा है कि विपक्षी गठबंधन के पास इमरान खान के प्रधानमंत्री पद तक पहुंचने से रोकने के लिए संख्या नहीं है। बता दें कि पीएमएल-एन ने पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावट भुट्टों की अगुवाई वाले पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के साथ हाथ मिलाया है। सुनने में आ रहा है कि उनके साथ कुछ और छोटे दल व निर्दलीय उम्‍मीदवार भी हैं।
निर्दलियों ने इमरान पर धांधली का लगाया आरोप
गौरतलब है कि इमरान खान की पार्टी ने नेशनल असेंबली की 272 में से 116 सीटों पर चुनाव जीता है। कहा जा रहा है कि वह छोटे दलों और निर्दलियों से गठबंधन कर सरकार बनाने लायक बहुमत जुटा ही लेंगे। इस बीच गुरुवार को पीएमएल-एन और पीपीपी ने एक बार फिर आरोप लगाया कि पाक सेना ने 25 जुलाई को हुए चुनाव में हस्तक्षेप किया, जिसका फायदा इमरान खान की पार्टी को मिला है। हालांकि चुनाव आयोग ने किसी भी तरह की धांधली से इनकार किया है।
शपथ ग्रहण सादगी से होगा
इमरान खान 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं, लेकिन इस खास मौके पर आपको कोई भी विदेशी मेहमान नजर नहीं आएगा। इमरान खान ने डी-चौक या परेड ग्राउंड जैसी सार्वजनिक जगह पर शपथ ग्रहण करने का फैसला बदल दिया है। अब मेहमानों की लिस्ट में भी बदलाव कर दिया गया है। पीटीआइ प्रमुख ने अब फैसला किया है कि शपथ ग्रहण समारोह सादगी से होगा। समारोह में किसी भी राष्‍ट्राध्‍यक्ष या विदेशी अधिकारी को न्‍योता नहीं दिया गया है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

देशभर में हो सकती है पेट्रोल-डीजल की भारी किल्लत

पेट्रोलियम उत्पादों और रुपये में स्थिरता के लिए सरकार उठाने जा रही है बड़ा कदम नई दिल्लीः देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत और डॉलर के मुकाबले [Read more...]

वफादारी के बदले मालिक से ईनाम में मिला टी-शर्ट, तो नौकर ने लगाया 70 लाख का चूना

नई दिल्लीः मालिक के लिए जान की बाजी लगाकर एक नौकर ने लाखों रुपये लूटने से बचाए, उसके एवज में मालिक ने ईनाम में उसे एक टी-शर्ट दिया। इससे खफा होकर नौकर ने मालिक को ही 70 लाख रुपये का [Read more...]

मुख्य समाचार

विमान वाहक पोत ‘विराट’ को संरक्षित करने की पेशकश

मुंबईः वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा, वेस्टर्न कमांड फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ ने सोमवार को संवाददाताओं से बताया कि महाराष्ट्र, गोवा और आंध्रप्रदेश ने जुलाई में सेवा मुक्त हुए विमान वाहक पोत ‘विराट’ को संरक्षित करने की पेशकश की है। महाराष्ट्र सरकार [Read more...]

सरल जीवन सूचकांक में आंध्र अव्वल

शीर्ष 3 राज्यों में ओडिशा व मध्यप्रदेश शामिल नयी दिल्लीः केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मामलों के राज्यमंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ‘राष्ट्रीय जीवन सुगमता सूचकांक 2018 जागरुकता कार्यशाला’ का उद्घाटन करते हुए बताया कि सुविधाजनक और सरल जीवनयापन से जुड़े [Read more...]

ऊपर