अब दिल्‍ली से उत्तर प्रदेश का सफर महज 45 मिनट में…

प्रधानमंत्री ने किया देश के पहले 14 लेन एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

नई दिल्लीः राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के विकास को गति देने वाली महत्वाकांक्षी सड़क परियोजना दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार सुबह उद्घाटन कर दिया है। इससे दिल्ली और उत्तर प्रदेश की दूरी और कम हो जाएगी। यह देश का पहला 14 लेन का एक्सप्रेस-वे है। पीएम मोदी ने फिलहाल दिल्ली खंड का उद्घाटन किया है। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के मॉडल को भी देखा। उद्घाटन के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे।
किया रोड शो
पीएम मोदी ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने के तुरंत बाद जीप पर सवार होकर रोड शो किया। वहीं, रोड शो के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ नितिन गडकरी भी दूसरी जीप में थे। रोड शो के दौरान सड़क के दोनों ओर प्रशंसक और भाजपा कार्यकर्ता खड़े थे और मोदी-मोदी का नारा लगा रहे थे। रोड शो के दौरान सड़क के दोनों ओर प्रशंसक और भाजपा कार्यकर्ता खड़े थे और मोदी-मोदी का नारा लगा रहे थे।
सड़क के किनारे 40,000 पौधे
देश के सबसे चौड़े इस एक्सप्रेस-वे पर बीच में 6 लेन का एक्सप्रेस वे है और दोनों तरफ 4 लेन के हाईवे होंगे, ताकि शहर के ट्रैफिक को बाहर से आने जाने वाले ट्रैफिक से अलग किया जा सके। इस एक्सप्रेस वे का पहला चरण करीब नौ किलोमीटर का है, जिसमें यमुना पुल पर वर्टिकल गार्डेन और सड़कों पर सोलर लाइट भी लगी हैं। सड़क के किनारे 40,000 पौधे भी लगाए जा रहे हैं।
कुछ ऐसा है दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे
– कुल लंबाई 90 किलोमीटर
– निर्माण पर लागत तकरीबन 800 करोड़
– दिल्ली से मेरठ 3 घंटे का सफर अब सिर्फ 45 मिनट में
– सोलर पावर से लैस देश का पहला हाइवे
– 14 लेन का देश का पहले एक्सप्रेस-वे
– 8 सोलर प्लांट, 4 हजार किलो वॉट बिजली उत्पादन होगा
– हर 500 मीटर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम
– यमुना ब्रिज पर दोनों ओर सोलर सिस्टम
– दोनों ओर 2.5 मीटर चौड़ा साइकिल ट्रैक
– दोनों ओर 1.5 मीटर चौड़ा पैदल यात्री ट्रैक
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद पांच नवंबर 2015 को इस परियोजना के लिए आधारशिला रखी थी। 18 महीने के रिकॉर्ड समय में दिल्ली खंड का निर्माण हुआ है। 842 करोड़ रुपये की लागत से वाला यह देश का पहला राजमार्ग है जहां सौर बिजली से सड़क रोशन होगी। इसके अलावा प्रत्येक 500 मीटर पर दोनों तरफ वर्षा जल संचयन की व्यवस्था होगी। साथ ही इसमें 36 राष्ट्रीय स्मारकों को प्रदर्शित किया जाएगा तथा 40 झरने होंगे। इस एक्सप्रेस वे पर 8 सौर संयंत्र हैं जिनकी क्षमता 4 मेगावाट है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

वापसी की राह पर मानसून, कई राज्य रह गए सूखे

नयी दिल्ली : मानसून के बादल सिमटने लगे हैं। इस मौसम में जहां देश के कई इलाकों में जमकर बारिश हुई, वहीं कई इलाकों में इसमें काफी कमी भी दर्ज की गई है। अब तक पूरे देश में मानसून की [Read more...]

सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह राजनीति नहीं देशभक्ति है : जावड़ेकर

नयी दिल्ली : विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक की सालगिरह पर विश्वविद्यालयों को जारी संवाद पर विवाद के मद्देनजर मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सफाई देते हुए कहा कि इसमें कोई राजनीति नहीं है, बल्कि यह देशभक्ति [Read more...]

संघ के विचारधारा से नहीं चलेगा देश : राहुल

विश्व में आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे स्‍थान पर, भारत समेत 5 देशों में 59 फीसदी हमले

तीन दिन पहले ऐसा फैसला सुनाया जिसके बारे बात करने में भी संकोच करती थी अन्य सरकारः पीएम मोदी

स्वामी असीमानंद को बरी करने वाले जज भाजपा में शामिल होना चाहते हैं

भारत-पाक बातचीत रद्द होने से बौखलाया पाक, इमरान खान ने यह कहा

खेल रत्न के लिए अब कोर्ट नहीं जाएंगे बजरंग, मेंटर योगेश्वर की सलाह के बाद बदला फैसला

एशिया कप के रिकार्डधारी बने धवन, 34 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ

ट्रंप सरकार एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट को रद्द करेगी, भारतीयों पर पड़ेगा सर्वाधिक असर

मुख्य समाचार

‘सबका साथ सबका विकास’ के मिशन के साथ आगे बढ़ रहा छत्तीसगढ़ : मोदी

रायपुरः छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय संक्षिप्त दौरे पर शनिवार को गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जांजगीर चांपा जिला में अटल विकास यात्रा के दौरान कृषक सम्मेलन में कहा कि रमन सिंह सरकार ने छत्तीसगढ़ को प्रगति करने वाले राज्यों में [Read more...]

वापसी की राह पर मानसून, कई राज्य रह गए सूखे

नयी दिल्ली : मानसून के बादल सिमटने लगे हैं। इस मौसम में जहां देश के कई इलाकों में जमकर बारिश हुई, वहीं कई इलाकों में इसमें काफी कमी भी दर्ज की गई है। अब तक पूरे देश में मानसून की [Read more...]

ऊपर