अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः पूरी दुनिया ने लिया स्वस्थ रहने का संकल्प

–  मोदी ने 2015 में दिल्ली में, 2016 में चंडीगढ़ में, 2017 में लखनऊ में योग दिवस मनाया थ

1 लाख से ज्यादा लोगों ने योग किया, गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौथे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर गुरुवार को देहरादून के वन अनुसंधान केंद्र के मैदान पर योगाभ्यास किया। यहां करीब 50 हजार लोगों ने एकसाथ योग किया। प्रधानमंत्री ने योग की अहमियत बताते हुए कहा कि आज देहरादून से लेकर डबलिन तक, योग पूरी दुनिया को जोड़ रहा है। जब तोड़ने वाली ताकतें हावी हों तो समाज में बिखराव आता है। व्यक्ति खुद ही अंदर से टूटता जाता है। जीवन में तनाव बढ़ता जाता है। इस बिखराव के बीच योग जोड़ने का काम करता है। वहीं, इस अवसर पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और योग गुरु रामदेव की मौजूदगी में 1 लाख से ज्यादा लोगों ने एकसाथ योगाभ्यास कर गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज कराया।
21 जून को क्यों मनाया जाता है योग दिवस?
नरेंद्र मोदी की पहल के बाद 2014 में संयुक्त राष्ट्र ने विश्व योग दिवस मनाने का प्रस्ताव मंजूर किया था। इसके लिए 21 जून को चुना गया जो वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है। 2015 में पहला विश्व योग दिवस मना। यह चौथा साल है। प्रधानमंत्री ने कहा ‘हम हमारी इस विरासत पर गर्व करेंगे तो विश्व हम पर गर्व करेगा। संयुक्त राष्ट्र में सबसे कम समय में स्वीकार किया जाने वाला प्रस्ताव योग दिवस का है। यह हमारे लिए गर्व की बात है। योग ने दुनिया को इलनेस से वेलनेस का रास्ता दिखाया। राष्ट्रनिर्माण की किसी भी प्रक्रिया से जुड़ने के लिए सभी का स्वस्थ्य रहना आवश्यक है। इसमें योग का भी बड़ा योगदान है।’
जीवन को समृद्ध कर रहा योग
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा ‘जो लोग योग से जुड़े हैं, वे इसमें निरंतरता लाएं और जो नहीं जुड़े हैं, वे भी इससे जुड़ें। योग ही भारत और विश्व के बीच निकटता लाया है। योग आज दुनिया की सबसे पावरफुल यूनिफाइंग फोर्सेस में से एक बन गया है। हम सभी के लिए गौरव की बात है कि आज जहां-जहां उगते सूर्य की किरणें पहुंच रही हैं, प्रकाश का विस्तार हो रहा है, वहां-वहां लोग योग से सूर्य का स्वागत कर रहे हैं। हिमालय के हजारों फीट ऊंचे पर्वत हों या धूप से तपता रेगिस्तान हो, योग हर परिस्थिति में जीवन को समृद्ध कर रहा है।’

नौसेना के 4 युद्धपोतों पर मना योग दिवस


अमेरिका के हवाई क्षेत्र में मौजूद नौसेना के युद्धपोत आईएनएस सह्याद्री पर नौसैनिकों ने योगाभ्यास किया। इसी तरह आईएनएस विराट, बंगाल की खाड़ी में मौजूद आईएनएस ज्योति और अरब सागर में मौजूद आईएनएस जमुना पर भी नौसैनिकों ने योग किया।

आईटीबीपी के जवानों ने हिमालय में बर्फीले पहाड़ों के बीच और अरुणाचल के लोहितपुर में दिगरू नदी के बहते पानी के बीच खड़े होकर योगासन लगाए।
गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज


अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और योग गुरु रामदेव की मौजूदगी में 1 लाख से ज्यादा लोगों ने एकसाथ योगाभ्यास कर गिनीज बुक में रिकॉर्ड दर्ज कराया। तीन दिवसीय राज्य स्तरीय योग शिविर का मुख्य समारोह गुरुवार को यहां के आरएसी ग्राउंड में हुआ। कार्यक्रम में 2 लाख लोगों के जुटने का दावा किया गया। इनकी गिनती पूरी होने के बाद रिकॉर्ड का आंकड़ा बढ़ सकता है। अभी तक यह रिकॉर्ड मैसूर के नाम था। पिछले साल वहां योग दिवस पर 55 हजार 506 लोगों ने एकसाथ योग किया था। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने योग करने वाले हर 50 लोगों पर एक व्यक्ति को मूल्यांकन के लिए तैनात किया गया। उसने देखा कि लोग योग कर रहे हैं या नहीं। दो जज लंदन से आए। स्वतंत्र ऑडिटर भी बुलाए गए, जिन्होंने परिसर का मूल्यांकन किया। ड्रोन से वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी भी हुई।

Leave a Comment

अन्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

वर्धा में सेना के केंद्रिय आयुध डिपो में धमाका, 6 की मौत कई घायल

वर्धा : महाराष्ट्र के वर्धा जिले में स्थित आर्मी डिपो के पास मंगलवार की सुबह गोला बारूद उतारने के दौरान हुए धमाके में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 लोग घायल हो गए। आपकाे बता दें कि वर्धा [Read more...]

मुख्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

ऊपर