ट्रेनी महिला पुलिस आरक्षियों ने किया खुलासा : अश्लील बातें और शारीरिक संबंध बनाने के लिए बाध्य किया जाता था

पटना : पुलिस लाइन में हुए उपद्रव मामले में पटना के जोनल आईजी एनएच खां ने शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय को रिपोर्ट सौंप दी है। सूत्रों के मुताबिक कई अधिकारी जांच के घेरे में हैं। मामला हाईप्रोफाइल होने के चलते आईजी ने रिपोर्ट के बारे में कोई भी जानकारी देने से इनकार किया है। वहीं रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई छठ की छुट्टी के बाद की बात सामने आयी है। शुक्रवार को महिला सिपाहियों ने पुलिस लाइन के डीएसपी पर दुर्व्यवहार और शोषण के गंभीर आरोप लगाए हैं। 32 महिला सिपाहियों ने राज्य महिला आयोग में अपनी शिकायत दर्ज कराई एक महिला सिपाही ने कहा कि जब भी कोई बीमार होती तो डीएसपी अपने केबिन में बुलाते थे। कहते थे- केबिन में आओगी तो जितनी बोलोगी उतनी छुट्टी देंगे। आरक्षियों ने मामले की जांच करने वाले पदाधिकारी पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए कहा कि घटना के मूल कारण को दबा दिया गया। महिला सिपाहियों के साथ पुलिस लाइन में हर रोज दुर्व्यवहार होता था। डीएसपी और उनके साथ काम करने वाले नवनियुक्त महिला आरक्षियों से अश्लील बातें करते थे। छोटी-छोटी बातों पर मां-बहन की गंदी गालियां सुनने को मिलतीं थीं। काम करने के एवज में शारीरिक संबंध बनाने के लिए बाध्य किया जाता था।

पदाधिकारियों पर लगाया पक्षपात का आरोप
महिला आरक्षियों ने मामले की जांच करने वाले पदाधिकारियों पर पक्षपात करने का आरोप लगाया है। कहा कि जांच पदाधिकारी ने उनका बयान दर्ज नहीं किया। इसकी जड़ तक नहीं पहुंचे और अफसरों ने अफसर को बचा लिया। निर्दोष और असहाय नवनियुक्त आरक्षियों पर गाज गिरा दी। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणी देवी ने कहा है कि महिला आरक्षियों ने जो आरोप लगाए हैं वो जघन्य अपराध की श्रेणी में आते हैं। मामले की सही तरीके से जांच नहीं हुई। डीजीपी से हर बिंदु पर बारीकी से जांच कर रिपोर्ट मांगी जाएगी। मामले में राज्य महिला आयोग की सदस्य ऊषा विद्यार्थी ने कहा है कि बर्खास्तगी का फैसला सही नहीं है। महिला आरक्षियों के साथ दुर्व्यवहार करने वाले डीएसपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इस मामले की जांच किसी दूसरी एजेंसी से कराई जाए।

संबंध बनाओ सब ठीक हो जाएगा
महिला आरक्षियों का कहना है कि हर बात पर डीएसपी निजी अंगों की तरफ इशारा करके अश्लील बातें कहते थे। कहते, ड्यूटी खत्म होने के बाद फोन करना, तब तुम्हारा दोनों काम कर देंगे। एक महिला आरक्षियों ने बताया कि डीएसपी छुट्टी के लिए पीरियड्स का वीडियों मांगते थे। डीएसपी साहब ने मुझसे पूछा कि इतनी पतली क्यों हो? अब तक किसी से संबंध नहीं बनाया है क्या? तो मुझसे बनाओ। शरीर ठीक हो जाएगा तुम्हारा। मेरे पास सब तरह का इलाज है।

क्या है मामला : 2 नवंबर को पटना पुलिस लाइन में महिला सिपाही की मौत के बाद महिला और पुरुष सिपाहियों ने जमकर हंगामा किया था। सिपाहियों ने डीएसपी मसलाउद्दीन, एसपी सिटी डी अमर केस और एसपी ग्रामीण आनंद कुमार को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा था। इस मामले में 4 नवंबर को 77 महिला समेत 175 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया। विभाग के 23 कर्मचारियों को निलंबित भी किया गया है।


एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

अल्पसंख्यको को आरएसएस से सतर्क रहने की जरूरत : कमलनाथ

भोपाल : मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ का एक विडियो वायरल हो गया है। इस वायरल विडियो में कमलनाथ अल्पसंख्यक प्रतिनिधिमंडल से कथित तौर पर कहते दिखाई दे रहे हैं कि चुनाव होने तक उन्हें सतर्क रहने की जरूरत [Read more...]

आतंकियों का चुनाव लड़ना चिंता का विषय : मोदी

सिंगापुर : पूर्वी एशिया सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि - दुनिया में कहीं भी आतंकी हमले होते हैं आखिर में उसकी जन्मस्‍थली एक ही होती है। प्रधानमंत्री ने यह बात अमेरिकी [Read more...]

मुख्य समाचार

अल्पसंख्यको को आरएसएस से सतर्क रहने की जरूरत : कमलनाथ

भोपाल : मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ का एक विडियो वायरल हो गया है। इस वायरल विडियो में कमलनाथ अल्पसंख्यक प्रतिनिधिमंडल से कथित तौर पर कहते दिखाई दे रहे हैं कि चुनाव होने तक उन्हें सतर्क रहने की जरूरत [Read more...]

आतंकियों का चुनाव लड़ना चिंता का विषय : मोदी

सिंगापुर : पूर्वी एशिया सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि - दुनिया में कहीं भी आतंकी हमले होते हैं आखिर में उसकी जन्मस्‍थली एक ही होती है। प्रधानमंत्री ने यह बात अमेरिकी [Read more...]

ऊपर