इस गांव में नाइटी पहनी तो भरना होगा जुर्माना

हैदराबाद : आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के टोकलापल्‍ली गांव में महिलाओं ने पिछले नौ महीनों से दिन में नाईटी पहनना बंद कर दिया। इस अजीबों-गरीब फरमान के तहत महिलाएं सूर्र्याअस्त से पहले नाइटी नहीं पहन सकती हैं। अगर कोई महिला सूर्र्याअस्त से पहले नाइटी में दिखाई देती है तो उसे जुर्माना देना होगा। गांव के 9 बुजुर्गों की एक कमेटी ने आदेश दिया है कि नाइटी केवल रात में पहनने के लिए है इसलिए इसे दिन में न पहना जाए।
पहनने वाले पर 2 हजार जुर्माना, बताने वाले को इनाम –
इस कमेटी ने आदेश को लागू करवाने के लिए एक खास रणनी‍ति भी बनाई है जिसमें यह सुनिश्चित किया गया है कि गांव की 1800 महिलाओं में से कोई भी उनके आदेश का उल्लंघन न करे। अगर कोई महिला सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक नाइटी पहने हुए पाई जाती है तो उस पर 2 हजार रुपये जुर्माना लगाया जाएगा। वहीं अगर कोई महिला किसी महिला के दिन में नाइटी पहनने की सूचना देती है तो उसे 1 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा। अगर नाइटी पहनी हुई महिलाएं जुर्माना देने से मना करती हैं तो उसका सामाजिक बहिष्कार तक किया जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा है कि इसके बारे में सरकारी अधिकारियों को कुछ न बताया जाए। कमेटी का कहना है कि जुर्माने की राशि को गांव के विकास कामों में खर्च किया जाता है। इस फरमान के डर से गांव की महिलाओं ने दिन में नाइटी पहना छोड़ दिया है।
गांव की सरपंच फंतासिया महालक्ष्‍मी ने कहा कि नाइटी पहनकर खुले में कपड़े धोना, दुकान से सामान लाना और बैठक में शामिल होना अच्‍छा नहीं है। उन्‍होंने कहा कि कुछ महिलाओं ने इस पर बैन लगाने के लिए बुजुर्गों से अनुरोध किया था। उन्‍होंने इस बात से साफ इन्‍कार किया कि जुर्माना नहीं देने पर सामाजिक बहिष्‍कार की धमकी दी गई है।
महिलाओं ने कहा अफवाह है –
हालांकि गांव में महिलाओं के नाइटी पर प्रतिबंध का आदेश नौ महीने पहले जारी हुआ था। लेकिन गुरुवार को राजस्‍व अधिकारियों के गांव का दौरा करने के बाद इस मामले का खुलासा हुआ। ये अधिकारी एक जांच के सिलसिले में टोकलापल्‍ली गांव गए थे जब गांव का दौरा किया तो कुछ ग्रामीणों ने बताया कि बुजुर्गों ने धमकी दी है कि यदि दोषी महिला ने जुर्माने का भुगतान नहीं किया तो उसका सामाजिक बहिष्‍कार किया जाएगा। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि उन्हें किसी भी सरकारी अधिकारी को यह बात न बताने की चेतावनी दी गई है। राजस्व विभाग के अधिकारीयों ने अनुुसार गांव की कोई भी महिला इस फैसले के विरोध में नहीं है। महिलाओं का कहना है कि ये अफवाह है। वे इस आदेश से काफी खुश हैं और हमने अपनी परंपराओं के पालन के लिए ये फैसला लिया है। बुजुर्गों ने नाईटी पहनने के लिए निश्चित समय तय किया है। लेकिन नियम न मानने पर किसी तरह का जुर्माना नहीं लगता।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

चीनः 28 वर्षों में विकास दर में आई काफी कमी, अभी और गिरावट के आसार

बीजिंगः चीन की विकास दर में 1990 के बाद से अब तक सबसे अधिक कमी आई है। चीन की विकास दर 2018 में 6.6% रही, जो कि 28 साल में यह सबसे कम है। इससे पहले 1990 में चीन की [Read more...]

फ्रांस से 3000 एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल खरीदने की तैयारी कर रहा है भारत

नयी दिल्ली : फ्रांसीसी कंपनी से रक्षा सामग्री खरीद पर चल रहे विवाद को दरकिनार करते हुए भारत ने अपनी सुरक्षा प्रणाली को और मजबूत तथा विश्‍वस्‍तरीय बनाने तथा सेना को नये उपकरणों से लैस करने की खातिर फ्रांस से [Read more...]

मुख्य समाचार

आज मालदह में अमित शाह की सभा

कोलकाता : कई बार हां - ना के बीच आज यानी मंगलवार को मालदह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सभा को संबोधित करेंगे जहां से वह बंगाल में लोकसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे। आज सुबह [Read more...]

ममता में देश संभालने के सारे गुण – कुमारस्वामी

कोलकाता : कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने देश के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन से पूरी तरह ‘निराश’ बताते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तारीफ की है। ममता को ‘कुशल [Read more...]

ऊपर