जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद पर जानलेवा हमला, बाल-बाल बचे

नई दिल्लीः दिल्ली के कॉन्‍स्‍टिट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया के बाहर पूर्व जेएनयू छात्र नेता व कथित रूप से देशद्रोह के आरोप से घिरे उमर खालिद पर जानलेवा हमला किया गया, जिसमें वह बाल-बाल बच गए। फिलहाल, गोलीबारी करने वाले की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस ने घटनास्‍थल से एक पिस्टल बरामद करते हुए आशंका जताई है कि इसी पिस्टल से खालिद पर फायरिंग की गई थी।

दरअसल, दिल्ली स्थित कॉन्स्टिट्यूशन क्लब ऑफ इंडिया में सोमवार दोपहर 2.30 बजे से ‘खौफ से आजादी’ विषय पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम शुरू होने से लगभग 15 मिनट पहले ही क्लब के बाहर चाय की दुकान पर कुछ साथियों के साथ खड़े उमर खालिद पर यह फायरिंग की गई है।

क्लब के बाहर मची अफरा-तफरी

बताया जा रहा है कि उमर खालिद पूरी तरह सुरक्षित हैं। उसके साथ मौजूद एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि उमर खालिद हमारे साथ थे। हम लोग एक चाय की दुकान पर खड़े थे। तभी सफेद शर्ट पहने एक व्यक्ति वहां पहुंचा। उसने उमर खालिद को धक्का दिया और उस पर गोली चला दी। धक्का दिए जाने से खालिद का संतुलन बिगड़ गया और वह नीचे गिर पड़े। इस वजह से वह बच गया और गोली उन्हें नहीं लगी। हमने हमलावर को पकड़ने का प्रयास किया, लेकिन उसने हवाई फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान उसके हाथ से पिस्टल फिसलकर गिर गई और वह भाग निकला। इस फायरिंग से क्लब के बाहर अफरा-तफरी मच गया। वहीं छात्र खालिद ने बातचीत के दौरान कहा कि जब उसने मेरी तरफ पिस्टल तानी तो मैं काफी डर गया था। मुझे गौरी लंकेश के साथ जो हुआ था, उसकी याद आ गई थी।

कौन हैं उमर खालिद ?

खालिद जेएनयू के छात्र नेता हैं, जिन पर विश्वविद्यालय के अंदर भारत विरोधी नारे लगाए जाने के आरोप लगे थे। इस मामले में फरवरी, 2016 में जेएनयू के छात्र नेता कन्हैया कुमार और अनिर्बान भट्टाचार्य के साथ गिरफ्तार किए गए थे। हालांकि उमर खालिद ने हमेशा ये कहा कि उन्होंने भारत विरोधी नारे कभी नहीं लगाए। वैसे इसी मामले में जेएनयू प्रशासन ने खालिद और कन्हैया कुमार को पीएचडी की डिग्री देने से इनकार कर दिया था। इन दोनों को अपनी थीसिस जमा नहीं करने दी जा रही थी। हालांकि दिल्ली हाइकोर्ट के दखल के बाद इन दोनों ने अपनी थीसिस जमा करा दी है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

नरेंद्र मोदी और अशरफ गनी के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अशांत अफगानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया की स्थिति सहित अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय मुद्दों पर बुधवार को यहां गहन विचार विमर्श किया। नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर [Read more...]

विजय माल्‍या ने स्विस बैंक में भेजे 170 करोड़, भारतीय एजेंसियां नहीं रोक पाई

नई दिल्लीः ब्रिटिश सरकार ने भगौड़ा विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्ति को फ्रीज कर दिया, लेकिन इससे पहले वह एक बड़ी रकम स्विस बैंक में ट्रांसफर करने में सफल हुआ था। इस बारे में ब्रिटेन द्वारा भारतीय एजेंसियों ने [Read more...]

मुख्य समाचार

भाजपा के सामने किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय

नीमच : भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि देश में अब उनकी पार्टी के सामने कांग्रेस या अन्य किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं है। कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार दोपहर नीमच और जावद में कार्यकर्ताओं [Read more...]

नरेंद्र मोदी और अशरफ गनी के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अशांत अफगानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया की स्थिति सहित अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय मुद्दों पर बुधवार को यहां गहन विचार विमर्श किया। नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर [Read more...]

ऊपर