एसबीआई से लोगों को नहीं मिली राहत

नई दिल्लीः भारतीय स्टेट बैंक के जो बैंक खातेदार न्यूनतम शेष न रखने पर बैंक द्वारा ली जाने वाली पेनल्टी से छूट मिलने की उम्मीद कर रहे थे, उनके लिए राहत की खबर नहीं है क्योंकि बैंक ने अपने नियमों में कोई बदलाव नहीं किया है। इसलिए यह पेनल्टी जारी रहेगी।
तिमाही पर निर्धारित बैलेंस बनाए रखना होगा
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले सूत्रों ने जानकारी दी थी कि सरकार के दबाव में एसबीआई मिनिमम बैलेंस की शर्तों में कुछ राहत दे सकता है। इसके साथ ही बैंक मासिक औसत शेष की जरूरत को तिमाही औसत बैलेंस में भी बदलने की तैयारी कर रहा है। यानी ग्राहकों को हर महीने की बजाय तिमाही पर अपने खाते में निर्धारित बैलेंस को बनाए रखना होगा। यदि ऐसा भी हो जाता तो खातेदारों को बहुत राहत मिल जाती, क्योंकि किसी महीने नकद की कमी हो जाती है, जिसे अगले महीने जमा भी कर दिया जाता है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

नरेंद्र मोदी और अशरफ गनी के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अशांत अफगानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया की स्थिति सहित अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय मुद्दों पर बुधवार को यहां गहन विचार विमर्श किया। नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर [Read more...]

विजय माल्‍या ने स्विस बैंक में भेजे 170 करोड़, भारतीय एजेंसियां नहीं रोक पाई

नई दिल्लीः ब्रिटिश सरकार ने भगौड़ा विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्ति को फ्रीज कर दिया, लेकिन इससे पहले वह एक बड़ी रकम स्विस बैंक में ट्रांसफर करने में सफल हुआ था। इस बारे में ब्रिटेन द्वारा भारतीय एजेंसियों ने [Read more...]

मुख्य समाचार

भाजपा के सामने किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय

नीमच : भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि देश में अब उनकी पार्टी के सामने कांग्रेस या अन्य किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं है। कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार दोपहर नीमच और जावद में कार्यकर्ताओं [Read more...]

नरेंद्र मोदी और अशरफ गनी के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अशांत अफगानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया की स्थिति सहित अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय मुद्दों पर बुधवार को यहां गहन विचार विमर्श किया। नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर [Read more...]

ऊपर