एसबीआई से लोगों को नहीं मिली राहत

नई दिल्लीः भारतीय स्टेट बैंक के जो बैंक खातेदार न्यूनतम शेष न रखने पर बैंक द्वारा ली जाने वाली पेनल्टी से छूट मिलने की उम्मीद कर रहे थे, उनके लिए राहत की खबर नहीं है क्योंकि बैंक ने अपने नियमों में कोई बदलाव नहीं किया है। इसलिए यह पेनल्टी जारी रहेगी।
तिमाही पर निर्धारित बैलेंस बनाए रखना होगा
उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले सूत्रों ने जानकारी दी थी कि सरकार के दबाव में एसबीआई मिनिमम बैलेंस की शर्तों में कुछ राहत दे सकता है। इसके साथ ही बैंक मासिक औसत शेष की जरूरत को तिमाही औसत बैलेंस में भी बदलने की तैयारी कर रहा है। यानी ग्राहकों को हर महीने की बजाय तिमाही पर अपने खाते में निर्धारित बैलेंस को बनाए रखना होगा। यदि ऐसा भी हो जाता तो खातेदारों को बहुत राहत मिल जाती, क्योंकि किसी महीने नकद की कमी हो जाती है, जिसे अगले महीने जमा भी कर दिया जाता है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

सौंदर्य उद्योग में बढ़ी मांग, पाकिस्‍तान ने चीन को 1 लाख किलो मानव बाल बेचे

इस्लामाबाद : चीन में जिस गति से सौन्‍दर्य प्रसाधान उद्योग बढ़ रहे है उससे लगता है कि बहुत जल्‍द वो इस क्षेत्र में सबसे बड़ा बाजार बन जायेगा। तथा पूरे विश्‍व को प्रसाधन उत्‍पादों का निर्यात करेगा। इसी के मद्देनजर [Read more...]

8 डॉलर का नाश्ता लेने के लिए लाइन में लगे बिल गेट्स, फोटो वायरल, ट्रंप पर भी साधा गया निशाना

वाशिंगटनः विश्व के शीर्ष 5 अमीरों की सूची में शुमार बिल गेट्स की एक फोटो खासा सुर्खियां बटोर रही है। इसमें वह अपने सादगी को लेकर फिर से चर्चे में आ गए हैं। दरअसल, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के कर्मचारी भी कई [Read more...]

मुख्य समाचार

सौंदर्य उद्योग में बढ़ी मांग, पाकिस्‍तान ने चीन को 1 लाख किलो मानव बाल बेचे

इस्लामाबाद : चीन में जिस गति से सौन्‍दर्य प्रसाधान उद्योग बढ़ रहे है उससे लगता है कि बहुत जल्‍द वो इस क्षेत्र में सबसे बड़ा बाजार बन जायेगा। तथा पूरे विश्‍व को प्रसाधन उत्‍पादों का निर्यात करेगा। इसी के मद्देनजर [Read more...]

8 डॉलर का नाश्ता लेने के लिए लाइन में लगे बिल गेट्स, फोटो वायरल, ट्रंप पर भी साधा गया निशाना

वाशिंगटनः विश्व के शीर्ष 5 अमीरों की सूची में शुमार बिल गेट्स की एक फोटो खासा सुर्खियां बटोर रही है। इसमें वह अपने सादगी को लेकर फिर से चर्चे में आ गए हैं। दरअसल, माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के कर्मचारी भी कई [Read more...]

ऊपर