सरदार पटेल न होते तो भारत ऐसा न होता: नीतीश

राज्यपाल, मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल, इंदिरा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की

पटनाः सरदार वल्लभ भाई पटेल यदि देश के प्रधानमंत्री होते तो देश की दिशा एवं स्वरुप कुछ और ही होता। यह बात मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जनता दल यूनाइटेड (जदयू) किसान प्रकोष्ठ की ओर से लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 142वीं जयंती के अवसर पर कही। आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मैं ही नहीं बल्कि सभी कहते हैं कि यदि सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो देश का स्वरूप आज दूसरा होता। उन्होंने कहा कि सरदार पटेल की ही देन है कि टुकड़ों में बटे देश को एक कर भारत को यह रूप दिया। बापू ने आजादी दिलाकर इसे ऐतिहासिक रूप दिया तो पटेल ने इसे भौगोलिक रूप दिया।
कांग्रेस बताये कि सरदार को 41 वर्षों तक भारत रत्न क्यों नहीं मिला: रविशंकर
कांग्रेस पर लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की घोर उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उसे बताना चाहिए कि 41 वर्षों तक उन्हें भारत रत्न क्यों नहीं मिला। प्रसाद ने सरदार पटेल की 142 वीं जयंती के अवसर पर पटेल सेवा संघ की ओर से आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस को बताना चाहिए कि 1950 से 1991 तक सरदार पटेल को भारत रत्न नहीं दिये जाने के पीछे कौन सी शक्ति थी। इस अवधि में कितने ही लोगों को भारत रत्न मिला, लेकिन उसमें पटेल का नाम क्यों नहीं शामिल था।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस बताये कि राष्ट्र निर्माण में सरदार पटेल का योगदान क्या किसी और से कम था?फिर उनकी ऐसी उपेक्षा क्यों की गयी। यह बड़ा सवाल है और इसका जवाब पूरा देश मांग रहा है। आखिर क्यों 40 वर्षों तक उनकी यादों को धूमिल करने की कोशिश की गयी। कांग्रेस को यह बताना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बापू ने पंडित जवाहर लाल नेहरु को अपना उत्तराधिकारी बनाया, उन्होंने भी अपने तरीके से योगदान दिया। उन्होंने कहा कि बापू के विचारों को नजरअंदाज किया गया। उनके विकास का स्वरुप विकेंद्रीकरण का था। चंद लोगों का विकास सम्पूर्ण विकास नहीं है। न्याय के साथ विकास और समाज के हर तबके का विकास बापू का सपना था। उनकी सरकार उसी राह पर चल रही है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

भारत में राफेल पर रार, डेप्युटी एयर मार्शल रघुनाथ ने उड़ाया लड़ाकू विमान

नयी दिल्ली : देश में एक तरफ राफेल विमान के सौदे को लेकर राजनीतिक युद्ध छिड़ा हुआ है वहीं दूसरी तरफ वायुसेना 36 राफेल विमानों को बेडे़ में शामिल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। भारतीय वायु सेना [Read more...]

श्रीकांत का अभियान मोमोटा से हारकर खत्म

चांगजूः भारतीय शटलर किदाम्बी श्रीकांत का अभियान 10 लाख डालर इनामी राशि के चाइना ओपन बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन केंटो मोमोटा से हारकर खत्म हो गया। [Read more...]

मुख्य समाचार

भारत में राफेल पर रार, डेप्युटी एयर मार्शल रघुनाथ ने उड़ाया लड़ाकू विमान

नयी दिल्ली : देश में एक तरफ राफेल विमान के सौदे को लेकर राजनीतिक युद्ध छिड़ा हुआ है वहीं दूसरी तरफ वायुसेना 36 राफेल विमानों को बेडे़ में शामिल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। भारतीय वायु सेना [Read more...]

श्रीकांत का अभियान मोमोटा से हारकर खत्म

चांगजूः भारतीय शटलर किदाम्बी श्रीकांत का अभियान 10 लाख डालर इनामी राशि के चाइना ओपन बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन केंटो मोमोटा से हारकर खत्म हो गया। [Read more...]

ऊपर