चाहता हूं बिहारी बने दिल्ली का सीएम

बिहार में राजनीति का आकर्षण सबसे अधिकः नीतीश कुमार

पटनाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि ‘मुझे यह महसूस होता है कि बिहार में राजनीति के प्रति आकर्षण सबसे ज्यादा है। यहां राजनीतिक बात करते हुए सब मिलेंगे।’ उन्होंने यहां अपने मन की बात  करते हुए कहा ‘चाहता हूं की कोई बिहारी दिल्ली का सीएम बने और बिहार का कोई  सिक्ख कनाडा का पीएम बने। उन्होंने कहा कि किसी की भी जरूरत को तो पूरा किया  जा सकता है, लेकिन किसी के लालच को कभी पूरा नहीं किया जा सकता है। सम्राट अशोक कन्वेंशन सेंटर में आयोजित राष्ट्रीय युवा संसद को संबोधित करते हुए शनिवार को मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं पर ही पूरे देश का भविष्य निर्भर है। भारत में युवा आबादी बाकी देशों की तुलना में सर्वाधिक है और देश के अंदर सर्वाधिक युवा आबादी आनुपातिक रूप से बिहार में है। कुमार ने स्वतंत्रता संग्राम में बिहार के योगदान की चर्चा करते हुए कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का चम्पारण सत्याग्रह में अहम योगदान था। इस सत्याग्रह से ना सिर्फ किसानों के ऊपर हो रहे अत्याचार को समाप्त करने में सफलता मिली बल्कि चम्पारण सत्याग्रह के 30 साल के अन्दर ही देश को आजादी मिल गई थी।

बहुत राजनीतिक अभियान

बिहार में राजनैतिक अभियान बहुत चले हैं लेकिन समाज सुधार के क्षेत्र में बहुत प्रयास नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी से राज्य में नए सामाजिक क्रांति का सूत्रपात हुआ है। उन्होंने युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि यदि  खासकर युवाओं की मदद नहीं मिलती, तो शराबबंदी के अभियान को लागू करने में सरकार सफल नहीं होती। नीतीश ने पुत्र-पुत्री को लेकर सामाजिक सोच की चर्चा की और कहा कि यह आज भी हो रहा है। बेटा पैदा होने पर लोग खुशियां मनाते हैं, बेटी पैदा होने पर नहीं। लड़कों के शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आई है, लेकिन लड़कियों के शिशु मृत्यु दर में उतनी कमी नहीं आई है।

कुपोषण से नाटापन

मुख्यमंत्री ने कुपोषण के संबंध में कहा कि कुपोषण के कारण बिहार में नाटेपन-स्टंटिंग ग्रोथ की समस्या है। मां और बच्चे दोनों के कुपोषण इसका प्रमुख कारण हैं। इसका एक और कारण बाल विवाह भी है। लड़की कम उम्र में गर्भ धारण करती है तो मां और बच्चे दोनों कुपोषित होते है। उन्होंने कहा कि बाल विवाह गैर कानूनी है। 18 साल से कम उम्र की लड़की और 21 साल से कम उम्र के लड़के की शादी गैरकानूनी है, फिर भी यह हो रहा है, इसके लिये जागरूकता एवं सशक्त अभियान जरूरी है। इस मौके पर पाटलिपुत्रा राष्ट्रीय युवा संसद की तरफ से भ्रूण हत्या एवं शराबबंदी पर नुक्कड़ नाटक का मंचन किया गया।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

श्रीकांत और समीर हारे, भारतीय चुनौती समाप्त

नई दिल्लीः किदाम्बी श्रीकांत और भाग्य के सहारे क्वार्टरफाइनल में पहुंचे समीर वर्मा की हार के साथ यहां हांगकांग ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में शुक्रवार को भारतीय चुनौती समाप्त हो गयी। श्रीकांत को पुरुष एकल क्वार्टरफाइनल में अपने से निम्न वरीय [Read more...]

टी20 विश्व कप अंतिम टूर्नामेंट होगाः डु प्लेसिस

ब्रिस्बेनः दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि 2020 में आस्ट्रेलिया में होने वाला टी20 विश्व कप उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा। इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने दो बार 2014 और 2016 में विश्व टी20 में अपने देश [Read more...]

मुख्य समाचार

श्रीकांत और समीर हारे, भारतीय चुनौती समाप्त

नई दिल्लीः किदाम्बी श्रीकांत और भाग्य के सहारे क्वार्टरफाइनल में पहुंचे समीर वर्मा की हार के साथ यहां हांगकांग ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में शुक्रवार को भारतीय चुनौती समाप्त हो गयी। श्रीकांत को पुरुष एकल क्वार्टरफाइनल में अपने से निम्न वरीय [Read more...]

टी20 विश्व कप अंतिम टूर्नामेंट होगाः डु प्लेसिस

ब्रिस्बेनः दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने कहा कि 2020 में आस्ट्रेलिया में होने वाला टी20 विश्व कप उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा। इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने दो बार 2014 और 2016 में विश्व टी20 में अपने देश [Read more...]

ऊपर