गंगा और बागमती में डूब गए 12 लोग

  • पटना के फतुहा में पिकनिक मनाने वाले डूबे तो समस्तीपुर के करीब नाव पलटी

पटना/समस्तीपुरः राजधानी पटना और वैशाली जिले के बीच से गुजर रही गंगा नदी और समस्तीपुर जिले से गुजर रही बागमती नदी में डूबने से 12 लोगों की मौत हो गयी तथा कई अन्य लापता हैं। पटना से करीब 20 किलोमीटर दूर फतुहा नदी थाना क्षेत्र में गंगा नदी में स्नान के दौरान नौ लोगों की डूबने से मौत हो गई। फतुहा थाना प्रभारी नसीम अहमद ने बताया कि हादसे के शिकार सभी लोग फतुहा के ही मिर्जापुर नोहटा इलाके के रहने वाले थे। वे सभी लोग गंगा की रेत पर पिकनिक मनाने गए थे। भोजन बनाने के बाद लोग नहाने के लिए नदी में उतरे। इस दौरान वे बालू निकलने के कारण बने गड्ढ़े में चले गये। एक दूसरे को बचाने के क्रम में सभी लोग गहरे पानी में डूब गए।
जुट गई भीड़
हादसे की जानकारी मिलते ही मस्ताना घाट पर लोगों की भीड़ जुट गई। थाना की पुलिस टीम भी मौके पर पहुंची। गंगा नदी में लापता लोगों की तलाश के लिए गोताखोर लगे हुए हैं। उधर, गंगा नदी से निकाले गए शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। पुलिस के अनुसार, आठ शव बरामद कर लिये गये हैं। अभी और लोगों की तलाश की जा रही है। मरने वालों में एक महिला, एक युवती, दो बच्ची और दो बच्चे भी शामिल हैं। हालांकि, प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार करीब सात से आठ लोग अभी लापता हैं। एनडीआरएफ की टीम के साथ वरीय अधिकारी और पुलिस टीम भी घटनास्थल पर पहुंची। वहीं, पटना के जिलाधिकारी ने कहा कि आठ शव बरामद हुए हैं और कुछ अन्य लापता लोगों की तलाश जारी है।
मृतकों की सूची
मृतकों में संजू देवी (45) और उसकी पुत्री छोटी कुमारी (10) के अलावा अरुण प्रसाद की पुत्री आरती कुमारी (12), राधेश्याम प्रसाद की पुत्री राजो कुमारी (10), बिहारी प्रसाद का पुत्र गौतम कुमार (10) और साहिल कुमार (09) शामिल हैं। पुलिस के वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचकर कैंप कर रहे हैं।

सीएम ने जताया शोक

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फतुहा के निकट मस्तान घाट पर गंगा नदी में डूबने से हुई मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया। नीतिश ने इस दुर्घटना में मृत लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने हादसे में मृत सभी लोगों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये अनुग्रह अनुदान दिए जाने का भी निर्देश दिया।

दो दर्जन डूबे, तीन की मौत

वहीं, समस्तीपुर के रोसड़ा अनुमंडल के हथौड़ी थाना क्षेत्र के धर्मपुर घाट के निकट बागमती नदी में रविवार को एक छोटी नौका के असंतुलित होकर पलट जाने से उसमें सवार एक दर्जन से अधिक लोग नदी की धारा में बहने लगे जिनमें से तीन महिलाओं की डूबने से मौत हो गयी। नदी से बेहोशी की अवस्था में निकाले गए पांच अन्य लोगों को इलाज के लिए शिवाजी नगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। नाव पर सवार लोग मवेशी का चारा लाने और खेतों में काम करने जा रहे थे। इस दुर्घटना में रीता देवी, पूनम देवी और नगीना देवी की मौके पर ही डूबकर मौत हो गई जिनकी उम्र 20 से 30 वर्ष के बीच थी। सूत्रों के मुताबिक गोताखोरों की मदद से चार लोगों को बाहर निकालकर स्थानीय निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं, लापता लोगों की तलाश की जा रही है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

भारत की जवाबी कार्रवाईः कुछ अमेरिकी उत्पादों पर बढ़ाया आयात शुल्क

नई दिल्लीः अमेरिका के बाद अब भारत ने भी आखिरकार उस पर जवाबी कार्रवाई कर दी है। इसके तहत उसने अमेरिका से आने वाले कई उत्पादों पर सीमा शुल्क बढ़ा दिया है। इनमें चना , मसूर दाल सहित अन्य सामग्री [Read more...]

चारों तरफ निंदा के बाद ट्रंप को वापस लेना पड़ा अपना फैसला

वॉशिंगटनः चारों तरफ से निंदा और बिलखते बच्चों को देख अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका में अवैध रूप से आने वाले प्रवासियों के प्रति थोड़े नरम पड़ गए हैं। इसलिए अब उन्होंने प्रवासियों से उनके बच्चों को अलग करने [Read more...]

मुख्य समाचार

केजरीवाल ‘नौ दिन नौटंकी कंपनी’ : मनजिंदर

नयी दिल्लीः दिल्ली सरकार में कार्यरत आईएएस अधिकारियों की हड़ताल के विरोध में राजनिवास कार्यालय में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य मंत्रियों के नौ दिवसीय धरने पर व्यंग्य करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने इसे ‘नौ दिन नौटंकी कंपनी (प्रा.) [Read more...]

भाजपा के लिए देशहित सर्वोपरि : आर के सिंह

रायपुरः कश्मीर के मौजूदा हालात के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए केंद्रीय राज्य मंत्री आर के सिंह ने गुरुवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में कानून-व्यवस्था की स्थिति चौपट हो गयी थी। राष्ट्र हित में उनकी पार्टी ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक [Read more...]

ऊपर