सुप्रीम कार्ट ने सलमान के खिलाफ राजस्‍थान की याचिका स्वीकार की

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय ने बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान को जोधपुर में चिंकारा शिकार मामले में बरी किये जाने के फैसले को चुनौती देने वाली राजस्थान सरकार की याचिका शुक्रवार को सुनवाई के लिए स्वीकार कर ली।

न्यायमूर्ति ए के सीकरी और न्यायमूर्ति आर भानुमति के पीठ ने याचिका स्वीकार करते हुए कहा कि मामले में शीघ्र सुनवाई की जायेगी। पीठ ने सलमान को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। राजस्थान उच्च न्यायालय ने ‘कानूनी कमियों’ के आधार पर सलमान को बरी करने का फैसला सुनाया था जिसके खिलाफ राजस्थान सरकार ने पिछले महीने उच्चतम न्यायालय में अपील दायर की। राजस्थान सरकार ने अपनी विशेष अनुमति याचिका में कहा है कि उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के फैसलों को निरस्त कर अपनी पुनरीक्षण शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया है। निचली अदालत ने सलमान खान को दोषी करार देते हुए पांच साल की कैद की सजा सुनायी थी। अतिरिक्त महाधिवक्ता शिव मंगल शर्मा ने एक बयान में कहा था कि सलमान की सजा ठोस साक्ष्य पर आधारित थी जिसे उच्च न्यायालय ने ऐसे अत्यंत तकनीकी मुद्दों के आधार पर खारिज कर दिया था जो टिकने वाले नहीं हैं। सुनवाई में मामूली विसंगतियां अभियोजन पक्ष के समूचे मामले को कमजोर नहीं करनी चाहिए और उच्च न्यायालय ‘समूची परिस्थितियों’ को देखने में नाकाम रहा है जिसे सलमान के खिलाफ अभियोजन पक्ष ने संदेह से परे साबित किया था। उन्होंने कहा कि अभिनेता के पास गवाह और जिप्सी ड्राइवर हरीश दुलानी से जिरह का पर्याप्त मौका था और जब उन्होंने जानबूझकर उनसे जिरह नहीं की तो गवाह के बयान को सलमान के खिलाफ स्वीकार किया जाना चाहिए।

उच्च न्यायालय ने यह मानते हुए कि चिंकारा से बरामद गोली सलमान की लाइसेंसी बंदूक से नहीं चली थी, 25 जुलाई, 1998 में जोधपुर में हुए चिंकारा के शिकार से जुड़े दो मामलों में सलमान को बरी कर दिया। सलमान पर 26-27 सितंबर, 1998 को जोधपुर के भावड़ गांव में दो चिंकारों और 28-29 सितंबर, 1998 को मथानिया (घोड़ा फार्म) में एक चिंकारा के शिकार मामले में वन्यजीव संरक्षण अधिनियम की धारा 51 के तहत दो अलग अलग मामले दायर किये गये थे। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) की अदालत ने दोनों मामलों में सलमान को दोषी ठहराते हुए क्रमशः 17 फरवरी, 2006 और 10 अप्रैल, 2006 को एक साल और पांच साल की कैद की सजा सुनायी थी। एजेंसियां

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

लुका मोड्रिच बने सर्वश्रेष्ठ फुटबालर, रोनाल्डो-मेसी की बादशाहत खत्म

लंदन : लुका मोड्रिच ने फीफा का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार हासिल करके क्रिस्टियानो रोनाल्डो और लियोनेल मेसी की फुटबाल के व्यक्तिगत पुरस्कारों को हासिल करने में एक दशक से चली आ रही बादशाहत को समाप्त कर दिया। [Read more...]

भारतीय खेल की आवाज, जसदेव सिंह का 87 की उम्र में निधन

नयी दिल्ली : अपनी आकर्षक आवाज और तेज रफ्तार हॉकी कमेंट्री के दम पर 1970, 80 और 90 के दशक में लोगों के दिलों पर राज करने वाले जाने-माने खेल कमेंटेटर जसदेव सिंह का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार को [Read more...]

मुख्य समाचार

लुका मोड्रिच बने सर्वश्रेष्ठ फुटबालर, रोनाल्डो-मेसी की बादशाहत खत्म

लंदन : लुका मोड्रिच ने फीफा का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार हासिल करके क्रिस्टियानो रोनाल्डो और लियोनेल मेसी की फुटबाल के व्यक्तिगत पुरस्कारों को हासिल करने में एक दशक से चली आ रही बादशाहत को समाप्त कर दिया। [Read more...]

भारतीय खेल की आवाज, जसदेव सिंह का 87 की उम्र में निधन

नयी दिल्ली : अपनी आकर्षक आवाज और तेज रफ्तार हॉकी कमेंट्री के दम पर 1970, 80 और 90 के दशक में लोगों के दिलों पर राज करने वाले जाने-माने खेल कमेंटेटर जसदेव सिंह का लंबी बीमारी के बाद मंगलवार को [Read more...]

ऊपर