मिलकर करेंगे ‘फासीवादी राजनीति’ का मुकाबला : राहुल-अखिलेश

2019 के लिए भी गठबंधन के संकेत

लखनऊ : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को ‘गंगा-जमुना’ का संगम करार देते हुए रविवार को कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भारतीय जनता पार्टी की ‘नीयत’ साफ नहीं है। कांग्रेस तथा समाजवादी पार्टी मिलकर उनकी ‘क्रोध’ की राजनीति का मुकाबला करेंगे।  इसके साथ ही राहुल ने 2019 के लोकसभा चुनाव में भी समाजवादी पार्टी के गठबंधन के संकेत दिये जबकि सपा अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राहुल को प्रधानमंत्री पद का भावी उम्मीदवार बनाये जाने का इशारा किया। राहुल और अखिलेश ने प्रदेश की राजधानी में रविवार को अपना ‘रोड शो’ करने से पहले संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस कहा कि इस गठबंधन से दोनों नेताओं के निजी और राजनीतिक संबंध गहरे हुए हैं। यह गंगा और जमुना का संगम है जिसमें से तरक्की की सरस्वती निकलेगी। राहुल ने कहा कि हम क्रोध और गुस्से की राजनीति को रोकना चाहते हैं क्योंकि इससे जनता को नुकसान हो रहा है। जो क्रोध भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) फैला रहे हैं, उनका मुकाबला करने के लिए हम एक साथ आये हैं क्योंकि उत्तर प्रदेश के डीएनए में क्रोध नहीं बल्कि प्रेम और भाईचारा है। संघ और भाजपा को फासीवादी करार देते हुए उन्होंने कहा कि उनकी नीयत साफ नहीं है। समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख एवं मुख्यमंत्री अखिलेश ने कांग्रेस के साथ मिलकर 300 से अधिक सीटों पर जीत का दावा करते हुए कहा कि साइकिल (सपा का चुनाव निशान) के साथ हाथ (कांग्रेस का निशान) हो तो सोचो रफ्तार कितनी होगी। हम विकास और खुशहाली के दो पहिए हैं।
कांग्रेस के गढ़ अमेठी और रायबरेली में सीटों को लेकर सहमति बनने से जुडे़ सवाल पर राहुल ने कहा कि यह ‘केंद्रीय मुद्दा’ नहीं है बल्कि हम भाजपा एवं संघ की झूठ की राजनीति तथा नोटबंदी की राजनीति को खत्म करने के लिए हम साथ मिलकर लड़ रहे हैं। नोटबंदी के फैसले पर केंद्र सरकार को आडे़ हाथ लेते हुए अखिलेश ने कहा कि लोग नोटबंदी से जो तकलीफ मिली, उसके खिलाफ वोट डालने का काम करेंगे। यह पूछे जाने पर कि गठबंधन का यह प्रयोग 2019 के लोकसभा चुनाव में दोहराया जायेगा और क्या तब राहुल प्रधानमंत्री का चेहरा होंगे तो कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि सपा के साथ गठबंधन ऐतिहासिक है।  यह गठबंधन अवसरवादी नहीं बल्कि दिल का है। बाद में राहुल व अखिलेश लखनऊ के हजरतगंज पहुंचे और वहां स्थित गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उसके बाद वे ‘यूपी विजय रथ’ पर सवार होकर रोड शो करने के लिए निकले।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

ट्रंप की जीत में रूसी मदद की सबूत का दावा करने वाली मॉडल हिरासत में

मास्को : अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के विरोधी अक्‍सर यह आरोप लगते रहे है कि उन्‍होंने अपनी जीत सुनिश्‍चत करने के लिए रूस से मदद ली थी। पर ट्रंप न सदैव इस बात का खंडन किया, तथा इसे बेबुनियाद बताया। पर [Read more...]

अब जीन बतायेंगे कब तक है आपकी जिंदगी!

लंदन : शोधकर्ताओं ने जीवन की अवधि पता लगाने के लिये जीन आधारित एक स्कोरिंग सिस्टम विकसित किया है। वैसे तो एन्ड्रॉइड मोबाइल पर और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कई एप है जाे आपकी जिन्दगी कितनी है, आपकी मृत्यु कब [Read more...]

मुख्य समाचार

ट्रंप की जीत में रूसी मदद की सबूत का दावा करने वाली मॉडल हिरासत में

मास्को : अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के विरोधी अक्‍सर यह आरोप लगते रहे है कि उन्‍होंने अपनी जीत सुनिश्‍चत करने के लिए रूस से मदद ली थी। पर ट्रंप न सदैव इस बात का खंडन किया, तथा इसे बेबुनियाद बताया। पर [Read more...]

अब जीन बतायेंगे कब तक है आपकी जिंदगी!

लंदन : शोधकर्ताओं ने जीवन की अवधि पता लगाने के लिये जीन आधारित एक स्कोरिंग सिस्टम विकसित किया है। वैसे तो एन्ड्रॉइड मोबाइल पर और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कई एप है जाे आपकी जिन्दगी कितनी है, आपकी मृत्यु कब [Read more...]

ऊपर