बे-लगाम बड़बोले नेता, बेबस चुनाव आयोग

चुनावाें में आम हो जाते हैं नेताओं के जहरीले बोल और आचार संहिता उल्लंघन के मामले

कोलकाता/लखनऊः संविधान ने निष्पक्ष चुनाव के लिए चुनाव आयोग के तरकस में कई तीर दे रखे हैं, इसके बावजूद आयोग बहुत जगह बेबस-सा नजर आता है। आयोग का पसंदीदा तीर है नोटिस। जो शोर तो करता है, मगर लक्ष्य पर मार नहीं कर पाता। चुनाव आयोग नियमों की बखिया उधेड़ने वाले नेताओं पर ऐसी कार्रवाई करना शुरू कर दे कि वह एक मिसाल बन जाये तो नेता आचार संहिता के उल्लंघन से पहले 100 बार सोचने लग जाएंगे। आचार संहिता तोड़ने के मामले में नेतओं के खिलाफ शिकायतें हो जाती हैं, मामले दर्ज हो जाते हैं, लेकिन अंत में सब पाक-साफ ही निकलते हैं। चुनाव आयोग की परवाह किए बगैर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले नेताओं की सूची लंबी है और मतदान तक यह सूची काफी लंबी हो जाती है। ऐसे में आखिर नेता बे-लगाम और आयोग बेबस क्यों नजर आता है?  सतीश राय की रिपोर्ट…

नियम बेअसर, उगलते रहे जहर

बेश्‍ार्म तानाशाह हैं मोदीः केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक बेशर्म तानाशाह कहा है। दरअसल, आयकर विभाग ने पार्टी को मिलने वाले चंदे के बारे में झूठी और गलत ऑडिट रिपोर्ट दाखिल करने की वजह से निर्वाचन आयोग से आप का राजनीतिक दल के रूप में रजिस्ट्रेशन रद्द करने को कहा है। केजरीवाल ने आयकर विभाग के इस कदम को मोदीजी की गंदी चाल करार देते हुए यह बयान दिया।

प्रियंका से सुंदर प्रचारक हमारे पासः कटियार

उत्तर प्रदेश में बीजेपी के प्रमुख नेता व राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने प्रियंका गांधी को लेकर कहा कि वह कोई कलाकार भी नहीं हैं और खूबसूरत भी नहीं हैं। उनसे अधिक भीड़ तो उनके पार्टी की नेत्री स्मृति इरानी इकट्ठा कर लेती हैं। प्रियंका गांधी ने इस पर कहा कि भाजपा का यही असली चेहरा है।

कैराना को नहीं बनने देंगे कश्मीरः योगी

बीजेपी के फायरब्रैंड नेता और सांसद योगी आदित्यनाथ ने कैराना पलायन के मुद्दे पर कहा है कि कहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश कश्मीर न बन जाए। लोग कैराना, शामली जैसे इलाकों में पलायन कर रहे हैं। हम इस इलाके को कश्मीर नहीं बनने देंगे।

नियमों की धज्जियां, मामले हुए दर्ज

लखनऊः उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति।
आरोपः जनपद फतेहपुर में चेकिंग में पुलिस ने असनी पुल के पास लोडर में चार हजार साड़ियां बरामद की।
बहराइचः सपा की राष्ट्रीय सचिव और नानपारा की महिला नेत्री साहिस्ता परवीन।
आरोपः कस्टम कार्यालय के ठीक सामने बिजली के खंभे पर लगा हुआ था प्रचार बोर्ड। बोर्ड नहीं हटवाया, जिसके चलते पुलिस ने कार्रवाई की।
सहारनपुरः एआईएमइएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी।
आरोपः बिना अनुमति सरकारी, धार्मिक और सार्वजनिक स्थल पर पार्टी के प्रचार-प्रसार से संबंधित पोस्टर लगाए, पार्टी के सहारनपुर प्रत्याशी तलत खान भी नामजद।
गाजीपुरः केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी
आरोपः भाजपा द्वारा आयोजित उड़ान कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए लोगों को संबोधित किया, कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज।
फैजाबाद : पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मो अयूब व निषाद सभा के अध्यक्ष संजय निषाद।
आरोपः ब्रह्मबाबा के पास आयोजित रैली में भड़काऊ भाषण, प्रधानमंत्री के खिलाफ विवादित टिप्पणी।
अलीगढ़ः सपा विधायक और अतरौली विधानसभा से प्रत्याशी वीरेश यादव।
आरोपः बिना अनुमति के जुलूस निकाला, मामला दर्ज।
नोएडाः दादरी से बीजेपी उम्मीदवार मास्टर तेजपाल नागर।
आरोपः अनुमति के बिना बिसाहड़ा स्थित प्रचीन मंदिर में सभा आयोजित करने के मामले में।
जानाबाजार (फैजाबाद): बस्ती जिले के भाजपा जिलाध्यक्ष पवन कसौंधन।
आरोपः हैदरगंज थाना क्षेत्र में भ्रमण कर रहे भाजपा नेता के वाहन से प्रचार सामग्री मिलने पर हैदरगंज पुलिस ने कार्रवाई की।
उरई : माधौगढ़ से बसपा प्रत्याशी गिरीश अवस्थी
आरोपः चुनावी प्रचार से संबंधित बाल पेंटिंग कराने के अारोप में सत्यापन के बाद मामला दर्ज।
नोएडाः सपा उम्मीदवार सुनील चौधरी
आरोपः उनके समर्थकों ने बिना अनुमति के भीड़ लगाई और जाम लगा दिया।
मीरजापुर : सपा जिला प्रवक्ता स्वामीशरण दुबे
आरोपः स्कारपियो गाड़ी में 109 साड़ी 18 शूट और 27 साया का कपड़ा बरामद हुआ। सामान को जब्त कर प्राथमिकी दर्ज की गई।
बागपतः बागपत से रालोद के प्रत्याशी करतार सिंह भडाना
आरोपः बिना अनुमति चुनावी कार्यालय खोला, प्रशासन ने कार्यालय बंद करा दिया।
प्रतापगढ़ः कांग्रेस कार्यकर्ता
आरोपः लाउडस्पीकर और पोस्टर लगाकर खुलेआम नोटबंदी के खिलाफ धरना प्रदर्शन कर रहे थे, मामला दर्ज।

आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत ट्विटर पर

उत्तर प्रदेश पुलिस ट्विटर के जरिए चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई करने के लिए एक नए हैशटैग से खुद को जोड़ा है। पुलिस ने लोगों को सूचित किया है कि #यूपीपोल17 के जरिये आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की जा सकती है।

चुनाव आयोग की चुनौतियां

आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ प्रमाण जुटाना और पुख्ता कार्रवाई करना।
वोटों के ध्रुवीकरण के लिए सोशल मीडिया पर विवादित वीडियो या कंटेट वायरल होने से रोकना।
जाति व धर्म के आधार पर विवादित चुनाव प्रचार के हथकंडों से पार पाना।
चुनाव जीतने के लिए धनबल और बाहुबल का उपयोग रोकना।
देश में मतदान के प्रतिशत में इजाफा करना

प्रयासों की सराहना भी

चुनाव आयोग ने हर राज्य में मतदाता जागरुकता व भागीदारी अभियान शुरू किया। इससे मतदाता काफी जागरुक हुए और तेजी से मतदान प्रतिशत बढ़ा। मतदान प्रतिशत का बढ़ना मतदाता सूची की गुणवत्ता सुधरने का नतीजा भी है। विशेष रूप से शहरी संसदीय क्षेत्रों में फर्जी नामों के हटने से बड़ा असर दिखा है। सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसाइटीज (सीएसडीएस) के अनुसार बीते कुछ वर्षों में चुनाव आयोग की कई कवायदों के जरिये काफी हद तक स्वच्छ और निष्पक्ष चुनाव हो पाए।

आयोग का हथियारः आचार संहिता

आदर्श आचार संहिता चुनाव आयोग के वे निर्देश होते हैं जिनका पालन चुनाव खत्म होने तक हर पार्टी और उसके उम्मीदवार को करना होता है। आचार संहिता के लागू होते ही प्रदेश सरकार और प्रशासन पर कई अंकुश लग जाते हैं। सरकारी कर्मचारी चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक निर्वाचन आयोग के कर्मचारी बन जाते हैं। अगर कोई उम्मीदवार इन नियमों का पालन नहीं करता तो चुनाव आयोग उस पर कार्रवाई कर सकता है।

भ्‍ाारत चुनाव आयोग

भारतीय चुनाव आयोग एक स्वायत्त एवं अर्ध-न्यायिक संस्था है। इसका गठन भारत में स्तवंत्र एवं निष्पक्ष रूप से प्रतिनिधिक संस्थानों में जन प्रतिनिधि चुनने के लिए किया गया था। ‘भारतीय चुनाव आयोग’ की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को की गई थी। आयोग में वर्तमान में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं। चुनाव निष्‍पक्ष हों, इसके लिए एक स्‍वतंत्र चुनाव आयोग बनाया गया है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

पाक ने 12 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

करांची : पाकिस्तानी अधिकारियों ने सिंध प्रांत तट के समीप पाक समुद्र में कथित तौर पर घुस आने के लिए 12 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया। सोमवार को पाक सुरक्षा अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि [Read more...]

मुझे अकबर पर संदेह नहीं

नई दिल्ली : यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे पूर्व विदेश राज्य मंत्री व पत्रकार एम जे अकबर के बचाव में अब उनकी एक सहकर्मी भी उतर आई हैं। अकबर के साथ काम कर चुकीं पत्रकार जोयिता बसु ने मीटू [Read more...]

मुख्य समाचार

पाक ने 12 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

करांची : पाकिस्तानी अधिकारियों ने सिंध प्रांत तट के समीप पाक समुद्र में कथित तौर पर घुस आने के लिए 12 भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार कर लिया। सोमवार को पाक सुरक्षा अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि [Read more...]

मुझे अकबर पर संदेह नहीं

नई दिल्ली : यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे पूर्व विदेश राज्य मंत्री व पत्रकार एम जे अकबर के बचाव में अब उनकी एक सहकर्मी भी उतर आई हैं। अकबर के साथ काम कर चुकीं पत्रकार जोयिता बसु ने मीटू [Read more...]

ऊपर