एनएनएम बहाली में गड़बड़ी पर बिहार के सदनों में हंगामा

पटना ः बिहार में पिछले दिनों एनएनएम की बहाली में हुई भारी अनियमितता की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराये जाने की मांग को लेकर मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार को बिहार विधान परिषद तथा विधानसभा में भारी शोरगुल और नारेबाजी की, जिसके कारण प्रश्न काल के बाद परिषद की कार्यवाही भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी गयी।
प्रश्न काल के तुरंत बाद ही भाजपा के विनोद नारायण झा ने कहा कि बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) द्वारा पिछले दिनों एएनएम की बहाली में हुई भारी अनियमितता को लेकर उन्होंने कार्यस्थगन की सूचना दी है। उन्होंने कहा कि आयोग के पूर्व सचिव परमेश्वर राम के मोबाइल फोन से बिहार के मंत्री, विधायक, पूर्व सांसद और भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के एक बड़े अधिकारी का नंबर मिला है। झा ने कहा कि यह काफी गंभीर मामला है। भाजपा सदस्यों ने कहा कि बड़े पैमाने पर हुई गड़बड़ी से राज्य के नौजवानों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। अनियमितता के इस मामले में कौन मंत्री, विधायक और आईएएस अधिकारी शामिल हैं, जनता जानना चाहती है। विपक्षी सदस्यों के शोरगुल के बीच ही सभापति अवधेश नारायण सिंह ने सदस्यों से शांत रहने का आग्रह किया। इसके बावजूद हंगामा और नारेबाजी होती रही। इसी दौरान सभापति ने परिषद की कार्य संचालन नियमावली का हवाला देते हुए कार्यस्थगन की सूचना को नामंजूर कर दिया। इसके बाद परिषद में प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि आयोग के पूर्व सचिव परमेश्वर राम के कार्यकाल में हुई एएनएम की बहाली की सीबीआई से जांच होने पर ही दूध का दूध और पानी का पानी हो सकेगा।  इसी दौरान जद (यू) के नीरज कुमार जोर-जोर से बोलने लगे, लेकिन शोरगुल के कारण उनकी बात सुनी नहीं जा सकी। सदन को अव्यवस्थित होते देख सभापति ने कार्यवाही को भोजनावकाश तक के लिए स्थगित कर दी। बाद में प्रतिपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने संवाददाताओं से कहा कि इस गड़बड़ी का मामला दस दिन पहले ही साक्ष्य के साथ उजागर किया गया था, जिसमें विधानसभा अध्यक्ष के निजी सचिव ने मोबाइल फोन से इसके लिए एसएमएस किया था। मोदी ने कहा कि रिमांड पर लिये गये आयोग के पूर्व सचिव के मोबाइल का डाटा रिकवर किया गया, जिससे इसका खुलासा हुआ है कि 100 से ज्यादा एसएमएस के माध्यम से विधायक, सांसद और आईएएस अधिकारियों ने बहाली के लिए पैरवी की थी।

पेपर लीक घोटाले की सीबीआई जांच की मांग

पटना ः बिहार विधानसभा  में शुक्रवार को भाजपा के नेतृत्व में  राजग ने बिहार कर्मचारी चयन आयोग के पेपर लीक मामले की केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो से जांच कराने की  मांग और इसी मामले में गिरफ्तार आयोग के अध्यक्ष सुधीर कुमार की गिरफ्तारी  का विरोध करने वाले भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को सरकार  की ओर से नोटिस जारी किये जाने के खिलाफ जमकर हंगामा किया। इसी दौरान भाजपा के कुछ सदस्यों ने मेज को पलटने की कोशिश की,  जिस पर सभाध्यक्ष ने नाराजगी जाहिर करते हुए नेता प्रतिपक्ष को अपने सदस्यों  को नियंत्रित करने को कहा। उन्होंने कहा कि सदन में अराजकता फैलाने की  इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती। सदस्यों को नियंत्रित करें अन्यथा उनके  खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि भाजपा के सदस्य  शून्यकाल को बरबाद कर रहे हैं और ध्यानाकर्षण को भी बाधित करने की कोशिश कर  रहे हैं। नेता प्रतिपक्ष को कार्य संचालन नियमावली से कोई मतलब नहीं है और  जब -तब वे सदन में खड़े हो जाते है। शोरगुल के बीच ही शिक्षामंत्री अशोक  चौधरी और खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी ने ध्यानाकर्षण  सूचनाओं को जवाब दिया। एजेंसियां

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

विजय माल्‍या ने स्विस बैंक में भेजे 170 करोड़, भारतीय एजेंसियां नहीं रोक पाई

नई दिल्लीः ब्रिटिश सरकार ने भगौड़ा विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्ति को फ्रीज कर दिया, लेकिन इससे पहले वह एक बड़ी रकम स्विस बैंक में ट्रांसफर करने में सफल हुआ था। इस बारे में ब्रिटेन द्वारा भारतीय एजेंसियों ने [Read more...]

ढाई महीने बाद आए नए ‘डॉ हाथी’

मुंबईः 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' के निर्माताओं ने डॉक्टर हाथी की एंट्री के लिए गणेश उत्सव को चुना है और डॉक्टर हाथी ने गणपति बप्पा के साथ शो में धमाकेदार एंट्री की है। कुछ समय पहले इस शो में [Read more...]

मुख्य समाचार

विजय माल्‍या ने स्विस बैंक में भेजे 170 करोड़, भारतीय एजेंसियां नहीं रोक पाई

नई दिल्लीः ब्रिटिश सरकार ने भगौड़ा विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्ति को फ्रीज कर दिया, लेकिन इससे पहले वह एक बड़ी रकम स्विस बैंक में ट्रांसफर करने में सफल हुआ था। इस बारे में ब्रिटेन द्वारा भारतीय एजेंसियों ने [Read more...]

मारपीट मामले में स्टोक्स और हेल्स को सजा सुनाएगा इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड

दोनों ने खेल का अपमान कियाः इंग्लैंड बोर्ड लंदनः पिछले साल क्लब के बाहर मारपीट करने के मामले में इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) हरफनमौला खिलाड़ी [Read more...]

ऊपर