पक्षीराज जटायु का मंदिर

दण्डकारण्य में गिद्धराज जटायु का मंदिर है। यहां जब मां सीता का अपहरण कर रावण पुष्पक विमान से लंका जा रहा था तो सबसे पहले जटायु ने यहां रावण को रोका था। दण्डकारण्य के आकाश में ही रावण और जटायु का युद्ध हुआ और जटायु के कुछ अंश दण्डकारण्य में आ गिरे।
इन मान्यताओं के भले ही साक्ष्य न हो, लेकिन आस्था और भक्ति को किसी साक्ष्य की आवश्यकता नहीं होती है।
जटायु की राम से पहली भेंट पंचवटी में हुई थी जहां वे रहते थे। लेकिन उनकी मृत्यु दण्डकारण्य में हुई जो ऋषियों की तपोभूमि भी है और सबसे बड़ी बात यह है कि यहां पहाड़ के ऊपर शिवलिंग पर अनवरत जलधारा का बहना है।
किंवदंती है कि भगवान राम के समय से यह झरना बह रहा है। इस झरने का स्रोत का कुछ अता-पता नहीं है। – मोहन लाल मगो

Leave a Comment

अन्य समाचार

बधाई हो…नेहा-अंगद के घर आयी नन्हीं परी

मुंबई : बॉलिवुड अभिनेत्री नेहा धूपिया और उनके पति अंगद बेदी एक बेबी गर्ल के पैरेंट्स बन गए हैं। नेहा ने रव‍िवार को खार के वीमेन्स हॉस्पिटल में एक नन्ही परी को जन्म द‍िया। नेहा और उनकी बेटी दोनों ही [Read more...]

शादी के बाद रणवीर का हाथ थामे ससुराल पहुंची दीपिका

मुंबई : दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह इटली के लेक कोमो में शादी करने के बाद रविवार सुबह मुंबई लौट आये। दोनों क्रीम कलर के ट्रेडिशनल आउटफिट पहने हुए थे, जिसमें बॉलीवुड का ये नया जोड़ा बेहद खूबसूरत नजर आ [Read more...]

मुख्य समाचार

सीबीआई विवाद : कोई भी सुनवाई के लायक नहीं – चीफ जस्टीस

नई दिल्ली : सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान चीफ जस्टीस रंजन गोगोई गुस्सा हो गए। सीबीआई मामले से जुड़ी बातें मीडिया में लीक होने के कारण वे काफी नाराज हो गए और [Read more...]

अंग्रेजी माध्यम स्कूलों पर रखी जाएगी निगरानी – पार्थ

कोलकाता : सोमवार को विधानसभा में प्रश्नोत्तर काल के दौरान राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने ​कांग्रेस विधायक असित मित्रा के सवालों का जवाब देते हुए कहा ​कि राज्य के अंग्रेजी माध्यम स्कूलों पर निगरानी रखने के लिए राज्य [Read more...]

ऊपर