तेजी से विकास कर रही हैं मिड कैप कंपनियां 

भारत पिछले कुछ सालों से वैश्विक स्तर पर तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था वाले देशों में से एक है और पिछले 8 सालों में इसकी अर्थव्यवस्था एक ट्रिलियन डॉलर से बढ़कर 2 ट्रिलियन डॉलर की हो गई, जबकि इसे एक ट्रिलियन डॉलर के क्लब में पहुंचने के लिए 60 साल लगे थे। एशियन डेवलपमेंट बैंक का अनुमान है कि अगले दशक में भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार दोगुना हो जाएगा। यह कहना है महिंद्रा म्युचुअल फंड के प्रबंध निदेशक, आशुतोष बिश्नोई का।
बिश्नोई  का कहना है कि अर्थव्यवस्था में तेजी आ रही है, अगले दशक में कई मध्यम आकार की कंपनियां तेजी के अवसर को भुना सकती हैं। स्टॉक बाजार में इन कंपनियों को मिड कैप कंपनी कहा जाता है और यह कंपनियां काफी बड़े व्यवसाय में शामिल हैं। यह कंपनियां एक क्षेत्र पर फोकस करती हैं और विविधीकरण की प्रक्रिया से दूर रहती हैं। वे अपनी अनोखी मजबूती को ही बढ़ाती हैं।
 इन कंपनियों में से कई कंपनियां अर्थव्यवस्था और खपत की तेजी के साथ, कारोबार और लाभ में कई गुना बढ़त हासिल कर सकती हैं और उनकी असेट की उपयोगिता में तेजी से सुधार होगा। इसमें से काफी कंपनियां शेयर बाजार में मूल्यांकन के लिहाज से मिडकैप आकार से लॉर्ज कैप आकार की ओर बढ़ सकती हैं। इसे तेजी से बढ़ने वाली कई अर्थव्यवस्थाओं में देखा गया है।
 बिश्नोई का कहना है कि  अगर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के पिछले 15 सालों का सीएजीआर का रिकॉर्ड देखें तो मिड कैप कंपनियों ने 21.14 फीसदी का रिटर्न दिया है।
वे निवेशक जो थोड़ा अतिरिक्त जोखिम लेकर इस अवसर में शामिल होते हैं तो उनके लिए आगे चलकर अच्छी कमाई की संभावना बनती है, क्योंकि आज मिड कैप कंपनियों में निवेश किया जाए तो अगले एक दशक में ये कंपनियां अच्छा खासा संपत्ति का अर्जन कर सकती हैं।
ग्रामीण इलाकों की प्रति व्यक्ति आय के कारण खपत की वृद्धि में भी शहरी क्षेत्रों की तुलना में तेजी से वृद्धि हो सकती है, जिससे ग्रामीण, कृषि और सरकारी द्वारा खर्च से संबंधित सेक्टरों में अच्छे निवेश से यह सेक्टर लाभान्वित हो सकता है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

आयकर रिटर्न भरने की तिथ‌ि बढ़ी, पर ब्याज लगेगा

नारायण जैन विदित है कि श्रेणी विशेष के करदाताओं के लिए मूल्यांकन वर्ष 2018-19 आयकर रिटर्न भरने और ऑडिट रिपोर्ट भरने की अंतिम तिथि 30 सितंबर थी, जिसे केंद्रीय प्रत्यक्ष [Read more...]

खनिज ईंधन पर निर्भरता घटाना चाहती है सरकारः गोयल

नयी दिल्लीः जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता को कम करना ऊर्जा क्षेत्र में सरकार की नीति और कार्यक्रमों का प्रमुख लक्ष्य है। कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार विश्व ऊर्जा नीति शिखर सम्मेलन [Read more...]

मुख्य समाचार

चुनाव में भाजपा विरोधी दलों का बिना शर्त समर्थन करूंगा : शंकर सिंह वाघेला

दिल्ली : गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने मोदी सरकार पर चुनाव पूर्व किये गये वादे पूरे नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि वह अगले चुनाव में इस सरकार को दुबारा सत्ता में आने से [Read more...]

कृपानाथ मल्लाह असम विधानसभा के उपाध्यक्ष निर्वाचित

गुवाहाटी : भारतीय जनता पार्टी के विधायक कृपानाथ मल्लाह को बुधवार को सर्वसम्मति से असम विधानसभा का उपाध्यक्ष निर्वाचित किया गया। विधानसभा के अध्यक्ष हितेंद्र नाथ गोस्वामी ने सदन में कृपानाथ मल्लाह को उपाध्यक्ष चुने जाने की घोषणा की। गोस्वामी ने [Read more...]

ऊपर