भारत और जापान स्वास्थ्य के क्षेत्र में मिलकर काम करेंगे

नई दिल्ली ः भारत हेल्थकेयर क्षेत्र में तेजी से वृद्धि कर रहा है। 16 प्रतिशत की संयुक्त वार्षिक वृद्धि दर के साथ 2020 तक इसके 280 बिलियन डाॅलर तक पहुंच जाने की उम्मीद है। 2020 तक मेडिकल डिवाइसों के बाजार के 15 प्रतिशत की दर से वृद्धि करके 8।2 बिलियन डाॅलर तक पहुंच जाने की उम्मीद है। लेकिन आपूर्ति श्रृंखला अब भी अपने प्राथमिक स्तर में है। जापान ने इस क्षेत्र में काफी तरक्की की है और हम अपने अनुभव भारत से साझा करना चाहते हैं। ये बातें कोनोइके ट्रांसपोर्ट कंपनी (मेडिकल बिजनेस विभाग) के एक्जीक्यूटिव आॅफिसर और जनरल मैनेजर मिनोरू अमानो ने दिल्ली में आयोजित ‘इंडो-जापान सूचना एक्सचेंज-डायग्नॉस्टिक टेक्नोलॉजीज’ सम्मेलन में कही।

भारत और जापान के बीच नैदानिक क्षेत्र की प्रौद्योगिकियों के बीच के अंतर को दूर करने के लिए जापान के स्वास्थ्य, श्रम और कल्याण मंत्रालय ने एक कार्यक्रम शुरू किया है, जिसके तहत दोनों देशों के नैदानिक क्षेत्र से जुड़े कर्मचारी एक-दूसरे के देशों का दौरा करेंगे। इस कार्यक्रम का वित्तपोषण जापान के स्वास्थ्य, श्रम और कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत आने वाला नेशनल सेंटर ऑफ ग्लोबल हेल्थ एंड मेडिसिन (एनसीजीएम) करेगा, जिसके द्वारा संचालित ‘द इंटरनेशनल प्रमोशन ऑफ जापान हेल्थकेयर टेक्नॉलजीज एंड सर्विसिस इन 2017’ के तहत यह कार्यक्रम चलाया जाएगा। इस कार्यक्रम का नाम ‘भारत में अंतर्राष्ट्रीय निदान व्यवसाय का प्रयोग करने के लिए तकनीकी प्रशिक्षण’ रखा गया है।

जापान के उच्चायोग के समर्थन से कानोकी ट्रांसपोर्ट कंपनी लिमिटेड और जे-वीपीडी इंक द्वारा आयोजित किए गए सम्मलेन के मौके पर जे-वीपीडी इंक के अध्यक्ष तेत्सुजी यामादा ने कहा कि चिकित्सा और नैदानिक उद्योगों की भारत में तेजी से मांग बढ़ रही है। हालांकि, आनुवंशिक परीक्षण या क्रोमोसोम निरीक्षण के परिष्कृत क्षेत्र में प्रौद्योगिकियों, जनशक्ति और सुविधाओं की कमी के कारण परीक्षण की सटीकता, गुणवत्ता, लागत और लगने वाला समय जैसे कई प्रमुख मुद्दे हैं, जिन पर काम किया जाना है।

यामादा ने आगे कहा कि तकनीकी प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत साल 2017 के दिसंबर में लगभग 10 प्रशिक्षु भारतीय चिकित्सा संगठन हमसे जुड़े हुए होंगे। हम निदान प्रयोगशालाओं और चिकित्सा संगठनों का भी दौरा करेंगे। इस सम्मेलन में जापान और भारत के लगभग 120 डॉक्टर और निदान विशेषज्ञ शामिल हुए तथा जानकारियों का आदान-प्रदान किया।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मुकुल राय को बड़ा झटका, नहीं मिली मोहलत

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की तरफ से भाजपा नेता मुकुल राय के खिलाफ दायर मामले में अदालत से मुकुल राय को कोई मोहलत नहीं मिली। अलीपुरदुआर के सिविल जज ने मामले की सुनवायी करते हुए आदेश [Read more...]

नियम के विरुद्ध नहीं लिया जाएगा कोई फैसला – वीसी

कोलकाता : सीयू के बंगला विभाग में गत 2 दिनों से चल रहा विवाद अखिरकार खत्म हुआ। बंगला विभाग के कुछ छात्र अनिवार्य अटेंडेंस ना होने के बावजूद आगामी 27 फरवरी को होने वाली प्रथम वर्ष की परीक्षा में बैठने [Read more...]

मुख्य समाचार

मुकुल राय को बड़ा झटका, नहीं मिली मोहलत

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की तरफ से भाजपा नेता मुकुल राय के खिलाफ दायर मामले में अदालत से मुकुल राय को कोई मोहलत नहीं मिली। अलीपुरदुआर के सिविल जज ने मामले की सुनवायी करते हुए आदेश [Read more...]

नियम के विरुद्ध नहीं लिया जाएगा कोई फैसला – वीसी

कोलकाता : सीयू के बंगला विभाग में गत 2 दिनों से चल रहा विवाद अखिरकार खत्म हुआ। बंगला विभाग के कुछ छात्र अनिवार्य अटेंडेंस ना होने के बावजूद आगामी 27 फरवरी को होने वाली प्रथम वर्ष की परीक्षा में बैठने [Read more...]

राज्य में चालू होगा देश का पहला हाइड्रो इंफोरमेटिक कोर्स – राजीव बनर्जी

मॉन्टेनीग्रो स्थित अमेरिकी दूतावास पर ग्रेनेड फेंकने के बाद खुद को उड़ाया

ब्रिटिश संसद के बाहर अंग्रेज ने भारतीय सिख की पगड़ी खींची

गोलीबारी की घटनाओं पर लगेगी रोक, शिक्षक होंगे हथियारबंद : ट्रंप

टेरर फंडिंग : पाक को सऊदी अरब, चीन और तुर्की का साथ मिला

पूर्वोत्तर के लिए विजन ‘ट्रांसपोर्टेशन और ट्रांसफॉर्मेशन’ से ही होगा नागालैंड का विकासः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जीवन में संतुलन बनाये रखने का एकमात्र साधन ध्यान

भारत आए कनाडाई पीएम ने खालिस्तानी आतंकी को रात्रिभोज पर बुलाया, बवाल मचने पर निमंत्रण को रद्द किया

उपर