10.5 करोड़ टन बढ़ा कोल इंडिया का उत्पादन

नयी दिल्लीः सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया का उत्पादन 2017-18 में पिछले चार साल में 10.5 करोड़ टन बढ़कर 56.7 करोड़ टन हो गया। कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को यह जानकारी दी। गोयल की यह टिप्पणी ऐसे समय में आयी है जब देश कोयले की कमी का सामना कर रहा है। गोयल ने बताया कि 2013-14 में कोल इंडिया का उत्पादन 46.2 करोड़ टन था। 2017-18 में यह बढ़कर 56.7 करोड़ टन हो गया। राजग सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर मीडिया से बातचीत में गोयल ने यह जानकारी दी।

क्या कहा

गोयल ने कहा कि जो पिछले सात से आठ साल में नहीं हुआ वह पिछले चार साल में हुआ है। कोल इंडिया का उत्पादन चार साल में 10.5 करोड़ टन बढ़ गया जिसे 2013-14 से पहले पाने में करीब सात साल लगे थे। कोयला उत्पादन में बढ़ोत्तरी रेलवे और कोयला मंत्रालय के संयुक्त प्रयासों से संभव हुई है। रेलवे के मालवहन में भी अप्रैल और मई में आठ प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पिछले कुछ सालों में कोयला के आयात में भी कमी आयी है। गोयल के पास रेलवे मंत्रालय का भी प्रभार है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

पूर्व आरबीआई गवर्नर ने बताई रुपये में गिरावट की वजह व इसमें सुधार की संभावना

नई दिल्लीः डॉलर के मुकाबले इस समय रुपया निम्नस्तर पर है। गुरुवार को रुपये में 29 पैसे की गिरावट आई ‌जिसके साथ यह 70.31 के स्तर पर आ गया। रुपया की रिकॉर्ड गिरावट से सरकार चिंतित नहीं है। सरकार का [Read more...]

रुपये में गिरावट चिंता की बात नहींः राजीव कुमार

नयी दिल्लीःडालर के मुकाबले रुपये में गिरावट को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने यह बात कही। नाबार्ड के एक कार्यक्रम से अलग से वह यहां पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। [Read more...]

मुख्य समाचार

कीया ओवल लीगः हरमन ने छक्कों की बौछार कर रिकार्ड बनाया

नई दिल्लीः कुछ महीने बाद ही टी-20 महिला विश्व कप खेला जाना है। इसे लेकर भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तैयारी पुख्ता दिखाई दे रही है। इंग्लैंड में इन दिनों महिला टी-20 क्रिकेट लीग कीया सुपर लीग खेली जा रही [Read more...]

नहीं रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

नई दिल्लीः लंबे वक्त से बीमार चल रहे देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का एम्स में 5 बजकर 5 मिनट पर निधन हो गया। वाजपेयी 93 वर्ष के थे। पिछले तीन दिनों से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया [Read more...]

ऊपर