10.5 करोड़ टन बढ़ा कोल इंडिया का उत्पादन

नयी दिल्लीः सार्वजनिक क्षेत्र की कोल इंडिया का उत्पादन 2017-18 में पिछले चार साल में 10.5 करोड़ टन बढ़कर 56.7 करोड़ टन हो गया। कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को यह जानकारी दी। गोयल की यह टिप्पणी ऐसे समय में आयी है जब देश कोयले की कमी का सामना कर रहा है। गोयल ने बताया कि 2013-14 में कोल इंडिया का उत्पादन 46.2 करोड़ टन था। 2017-18 में यह बढ़कर 56.7 करोड़ टन हो गया। राजग सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर मीडिया से बातचीत में गोयल ने यह जानकारी दी।

क्या कहा

गोयल ने कहा कि जो पिछले सात से आठ साल में नहीं हुआ वह पिछले चार साल में हुआ है। कोल इंडिया का उत्पादन चार साल में 10.5 करोड़ टन बढ़ गया जिसे 2013-14 से पहले पाने में करीब सात साल लगे थे। कोयला उत्पादन में बढ़ोत्तरी रेलवे और कोयला मंत्रालय के संयुक्त प्रयासों से संभव हुई है। रेलवे के मालवहन में भी अप्रैल और मई में आठ प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पिछले कुछ सालों में कोयला के आयात में भी कमी आयी है। गोयल के पास रेलवे मंत्रालय का भी प्रभार है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

कर चोरी पकड़ने को बन रहा है साफ्टवेयर

नयी दिल्लीः जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) साफ्टवेयर में ऐसा उपाय कर रही है जिससे अधिकारियों को करदाताओं द्वारा दी गई जानकारी का विश्लेषण कर चोरी पकड़ना आसान होगा। जीएसटीएन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रकाश कुमार ने कहा कि कंपनी 27 राज्यों [Read more...]

खादी को विशिष्ट ‘भारतीय ब्रांड’ बनाएगी सरकार

नयी दिल्लीः खादी को अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक प्रमुख ‘ भारतीय ब्रांड’ के रूप में सरकार स्थापित करना चाहती है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) ही इस ब्रांड का प्रचार कर सकेगा और खादी [Read more...]

मुख्य समाचार

65 वर्षीय अमेरिकी महिला से 27 वर्षीय राज मिस्त्री ने रचायी शादी

नयी दिल्लीः फेसबुक जहां एक तरफ दो छोर के लोगों को जोड़ने का काम करता है वहीं दुसरी तरफ शादी विवाह का गंतव्य भी बनता जा रहा है। पंजाब में पेशे से 27 साल के राजमिस्‍त्री लड़के ने फेसबुक पर [Read more...]

वायरसों को फैलने से रोकने वाले एन्जाइम का पता चला

वाशिंगटनः वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगा लिया है कि मनुष्यों और अन्य स्तनधारी जीवों में कैसे प्राकृतिक रूप से उत्पन्न होने वाले एन्जाइम वायरसों को फैलने से रोकते हैं। इस अध्ययन से वायरस रोधी नई दवा का मार्ग [Read more...]

ऊपर