सीएसआर कंपन‌ियों को समाज से जोड़ता हैः प्रभु

नयी दिल्लीः सामाजिक जवाबदेही (सीएसआर) के तहत कंपनियों को अपने मुनाफे का दो प्रतिशत सामाजिक दायित्व पर खर्च करना होता है, यह एक बेहतरीन कानूनी प्रावधान है और यह कंपनियों को समाज से जोड़ने का काम करता है। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने यह बात कही। कंपनी कानून 2013 के तहत एक निश्चित श्रेणी में आने वाली लाभ कमा रही कंपनियों को अपने तीन साल के औसतन शुद्ध लाभ का कम-से-कम दो प्रतिशत सीएसआर के तहत खर्च करना होता है। उन्होंने कहा कि भारत संभवतः एकमात्र देश है जहां इस प्रकार की कानूनी व्यवस्था रखी गई है। ‘सीएसआर के जरिये भारत में रूपांतरण के लिये वैज्ञानिक हस्तक्षेप’ विषय पर एक कार्यक्रम में प्रभु ने कहा कि जो कंपनियां सीएसआर गतिविधियों में दो प्रतिशत खर्च कर रही हैं वह उद्योग की बेहतर साख बनातीं हैं। अगर कोई कंपनी समाज का भरोसा हासिल नहीं करती है तो वह बेहतर कारोबार नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि कंपनियों के लिये सामाजिक विकास की गतिविधियों में जुड़ना एक चुनौती है। वित्त वर्ष 2016-17 में 6,286 कंपनियों ने  सीएसआर गतिविधियों पर 4,719 करोड़ रुपये खर्च किये।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

खुदरा महंगाई एक साल के न्यूनतम स्तर पर

नई दिल्ली : देश में खुदरा महंगाई दर एक साल में सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी है। सितंबर महीने में जहां यह 3.7 प्रतिशत थी, वहीं अक्टूबर में 3.31 प्रतिशत पर आ है। यह खुदरा मुद्रास्फीति का सितंबर 2017 [Read more...]

30 में से 16 प्रमुख क्षेत्रों का निर्यात कम हुआ

नयी दिल्लीः सितंबर के दौरान चावल, चाय, कॉफी, तंबाकू, इंजीनियरिंग, चमड़ा, मसाले, काजू, फल एवं सब्जियां, समुद्री उत्पाद और रत्न एवं आभूषण समेत 16 प्रमुख क्षेत्रों में वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार निर्यात कम हुआ है। उसके [Read more...]

मुख्य समाचार

विमान में शराब नहीं परोसी तो गालियां देने लगी महिला यात्री

मुंबई : एयर इंडिया के मुंबई से लंदन जा रहे विमान के बिजनेस क्लास से यात्रा कर रही नशे में धुत आयरिश महिला यात्री ने बदसलूकी की। जानकारी के अनुसार महिला यात्री ने एक क्रू सदस्य को थप्पड़ भी मारा। [Read more...]

तकनीक की मदद से भारत ने लंबी छलांग लगाईः मोदी

सिंगापुरः भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिंगापुर में आयोजित फिनटेक संबोधन में बुधवार को कहा कि तकनीक के क्षेत्र में कुछ दशकों में भारत ने लंबी छलांग लगाई है। आज तकनीक लोगों के लिए अवसर पैदा कर रही है। सिंगापुर तकनीक [Read more...]

ऊपर