सहारा की संपत्तियां खरीदने को कई लाइन में

हड़बड़ी में बिक्री से मूल्यांकन के प्रभावित होने की आशंका कर रहा है सहारा समूह

नयी दिल्लीः संकट में फंसे सहारा ग्रुप की कुछ संपत्तियों को खरीदने में देश के कई कॉरपोरेट समूहों ने रुचि दिखाई है। मामले से जुड़े सूत्रों ने बताया कि टाटा, गोदरेज, अडाणी और पतंजलि ने सहारा समूह की 7,400 करोड़ रुपये मूल्य की 30 संपत्तियों को खरीदने की मंशा जताई है। सहारा की संपत्तियों में ज्यादातर जमीन के टुकड़े हैं जिनकी नीलामी रीयल एस्टेट सलाहकार नाइट फ्रैंक इंडिया द्वारा की जा रही है।  कई रीयल एस्टेट कंपनियां भी सहारा की संपत्तियां खरीदना चाहती हैं। इनमें ओमैक्स, एलडेको के अलावा उच्च संपदा वाले लोगों के साथ सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी इंडियन आयल शामिल हैं। चेन्नई के अपोलो अस्पताल ने लखनऊ में सहारा का अस्पताल खरीदने की इच्छा जताई है। सूत्रों ने कहा कि इन सौदों को छोटे से समय में पूरा करने की हड़बड़ी से बिक्री प्रक्रिया और मूल्यांकन प्रभावित हो सकता है। उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के अनुसार सहारा समूह को जल्द पैसा जुटाने और उसे भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास जमा कराने की जरूरत है। सूत्र ने कहा कि सभी संभावित खरीदार जांच पड़ताल के लिए दो से तीन महीने का समय चाहते हैं जो ऊंचे मूल्य के रीयल एस्टेट सौदे के लिए सामान्य सी बात है।
खुलासे से इनकारः सहारा समूह के प्रवक्ता ने संभावित खरीदारों के नाम का खुलासा करने से इनकार किया। प्रवक्ता ने कहा कि इस तरह के सौदों की प्रक्रिया चल रही है और जल्द इन्हें अमलीजामा पहनाया जाएगा। सहारा समूह को उम्मीद है कि इन संपत्तियों की बिक्री से पहली किस्त 17  जून तक मिलेगी। तीन महीने में इसकी पूरी राशि 7,400 करोड़ रुपये प्राप्त  होगी। इससे पहले इसी सप्ताह उच्चतम न्यायालय ने लोनावाला में सहारा समूह की  एंबे वैली टाउनशिप को बेचने का निर्देश दिया था। समूह का अनुमान है कि यह  करीब एक लाख करोड़ रुपये की परियोजना है। समूह ने आशंका जताई कि हड़बड़ी  में बिक्री से उन लोगों को फायदा होगा जो सस्ते में एंबे वैली पर  कब्जा चाहते हैं।

ऐसी रही प्रतिक्रिया

गोदरेज प्रॉपर्टीज के कार्यकारी चेयरमैन पिरोजशा गोदरेज ने कहा कि हम पुणे में जमीन का एक टुकड़ा खरीदना चाहते हैं, नाइट फ्रैंक निविदा प्रक्रिया चला रहा है। ओमैक्स के चेयरमैन रोहतास गोयल, एलडेको के प्रबंध निदेशक पंकज बजाज ने कहा कि उनकी कुछ संपत्तियों में रुचि है। टाटा हाउसिंग ने इस पर प्रतिक्रिया से इनकार किया। वहीं अडाणी समूह और पतंजलि से इस पर प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई।

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

अब बिना क्रेडिट कार्ड अमेजन से ऐसे करिए खरीदारी

नई दिल्लीः ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन इंडिया पर एक नया फीचर शामिल किया गया है। इस फीचर का नाम अमेजन पे ईएमआई है, जिसकी मदद से अब आप बिना क्रेडिट कार्ड ईएमआई पर सामान खरीद सकते हैं। दरअसल अमेजन के ऐप [Read more...]

पूर्व सीएफओ से केस हारी इंफोसिस, अब ब्याज सहित देने होंगे 12.17 करोड़

नई दिल्लीः भारत की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी इंफोसिस मंगलवार को आर्बिट्रेशन केस हार गई है। अब उसे पूर्व सीएफओ राजीव बंसल को 12.17 करोड़ रुपये और ब्याज चुकाने होंगे। दरअसल, इंफोसिस के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी विशाल सिक्‍का के कार्यकाल [Read more...]

मुख्य समाचार

भाजपा के सामने किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं : कैलाश विजयवर्गीय

नीमच : भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि देश में अब उनकी पार्टी के सामने कांग्रेस या अन्य किसी राजनीतिक दल की कोई चुनौती नहीं है। कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार दोपहर नीमच और जावद में कार्यकर्ताओं [Read more...]

नरेंद्र मोदी और अशरफ गनी के बीच हुई महत्वपूर्ण बैठक

नयी दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अशांत अफगानिस्तान में जारी शांति प्रक्रिया की स्थिति सहित अनेक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय मुद्दों पर बुधवार को यहां गहन विचार विमर्श किया। नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर [Read more...]

ऊपर