सहारा की संपत्तियां खरीदने को कई लाइन में

हड़बड़ी में बिक्री से मूल्यांकन के प्रभावित होने की आशंका कर रहा है सहारा समूह

नयी दिल्लीः संकट में फंसे सहारा ग्रुप की कुछ संपत्तियों को खरीदने में देश के कई कॉरपोरेट समूहों ने रुचि दिखाई है। मामले से जुड़े सूत्रों ने बताया कि टाटा, गोदरेज, अडाणी और पतंजलि ने सहारा समूह की 7,400 करोड़ रुपये मूल्य की 30 संपत्तियों को खरीदने की मंशा जताई है। सहारा की संपत्तियों में ज्यादातर जमीन के टुकड़े हैं जिनकी नीलामी रीयल एस्टेट सलाहकार नाइट फ्रैंक इंडिया द्वारा की जा रही है।  कई रीयल एस्टेट कंपनियां भी सहारा की संपत्तियां खरीदना चाहती हैं। इनमें ओमैक्स, एलडेको के अलावा उच्च संपदा वाले लोगों के साथ सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी इंडियन आयल शामिल हैं। चेन्नई के अपोलो अस्पताल ने लखनऊ में सहारा का अस्पताल खरीदने की इच्छा जताई है। सूत्रों ने कहा कि इन सौदों को छोटे से समय में पूरा करने की हड़बड़ी से बिक्री प्रक्रिया और मूल्यांकन प्रभावित हो सकता है। उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के अनुसार सहारा समूह को जल्द पैसा जुटाने और उसे भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास जमा कराने की जरूरत है। सूत्र ने कहा कि सभी संभावित खरीदार जांच पड़ताल के लिए दो से तीन महीने का समय चाहते हैं जो ऊंचे मूल्य के रीयल एस्टेट सौदे के लिए सामान्य सी बात है।
खुलासे से इनकारः सहारा समूह के प्रवक्ता ने संभावित खरीदारों के नाम का खुलासा करने से इनकार किया। प्रवक्ता ने कहा कि इस तरह के सौदों की प्रक्रिया चल रही है और जल्द इन्हें अमलीजामा पहनाया जाएगा। सहारा समूह को उम्मीद है कि इन संपत्तियों की बिक्री से पहली किस्त 17  जून तक मिलेगी। तीन महीने में इसकी पूरी राशि 7,400 करोड़ रुपये प्राप्त  होगी। इससे पहले इसी सप्ताह उच्चतम न्यायालय ने लोनावाला में सहारा समूह की  एंबे वैली टाउनशिप को बेचने का निर्देश दिया था। समूह का अनुमान है कि यह  करीब एक लाख करोड़ रुपये की परियोजना है। समूह ने आशंका जताई कि हड़बड़ी  में बिक्री से उन लोगों को फायदा होगा जो सस्ते में एंबे वैली पर  कब्जा चाहते हैं।

ऐसी रही प्रतिक्रिया

गोदरेज प्रॉपर्टीज के कार्यकारी चेयरमैन पिरोजशा गोदरेज ने कहा कि हम पुणे में जमीन का एक टुकड़ा खरीदना चाहते हैं, नाइट फ्रैंक निविदा प्रक्रिया चला रहा है। ओमैक्स के चेयरमैन रोहतास गोयल, एलडेको के प्रबंध निदेशक पंकज बजाज ने कहा कि उनकी कुछ संपत्तियों में रुचि है। टाटा हाउसिंग ने इस पर प्रतिक्रिया से इनकार किया। वहीं अडाणी समूह और पतंजलि से इस पर प्रतिक्रिया नहीं मिल पाई।

 

Leave a Comment

अन्य समाचार

2026-2027 तक 356 लाख करोड़ की होगी भारत की अर्थव्यस्‍था

वैश्विक उथलपुथल का भारत को उठाना चाहिए लाभः सुरेश प्रभु नई दिल्लीः नागरिक उड्‌डयन मंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि विश्वभर में आने वाले समय में वैश्विक उथल-पुथल होने की आशंका है। इसलिए भारत को इस मौके का लाभ उठाना चाहिए। [Read more...]

जल्द ही कुछ बैंक होंगे पीसीए पाबंदी से बाहर

नयी दिल्लीः वित्तीय सेवा सचिव राजीव कुमार ने कहा, ‘ पीसीए के दायरे में रखे गए 11 बैंकों में से कुछ का प्रदर्शन बेहतर हुआ है। यदि कुछ बैंकों का प्रदर्शन बेहतर हो रहा है और बासिल नियमों के अनुरूप [Read more...]

मुख्य समाचार

आज मालदह में अमित शाह की सभा

कोलकाता : कई बार हां - ना के बीच आज यानी मंगलवार को मालदह में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सभा को संबोधित करेंगे जहां से वह बंगाल में लोकसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे। आज सुबह [Read more...]

ममता में देश संभालने के सारे गुण – कुमारस्वामी

कोलकाता : कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने देश के लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशासन से पूरी तरह ‘निराश’ बताते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तारीफ की है। ममता को ‘कुशल [Read more...]

ऊपर