राष्ट्रीय नोडल एजेंसी करेगी विशेष ऑडिट

नई दिल्लीः डिजिटल भुगतान की तरफ बढ़ते कदमों में सुरक्षा मानकों पर उठते सवाल को आरबीआई ने गंभीरता से लिया है। रिजर्व बैंक ने सभी बैंकों का तत्काल इंटरनेट बैंकिंग का स्पेशल ऑडिट कराने के निर्देश दिए हैं। इससे डिजिटल भुगतान को साइबर अटैक से बचाने के रास्तों को बंद किया जाएगा।

नकदी रहित लेनदेन पर जोर देने के साथ उसे सुरक्षित बनाने के कदम उठाए जा रहे हैं। डिजिटल भुगतान, ई बैंकिंग को जालसाजों से बचाने के लिए नए सिरे से रूपरेखा तैयार की गई है। इसके तहत आरबीआई ने इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पांस टीम (सर्ट-इन) से विशेष ऑडिट कराने का आदेश बैंकों को दिया है। सर्ट इन एक राष्ट्रीय नोडल एजेंसी है जो कंप्यूटर सुरक्षा संबंधित किसी घटना से निपटने के लिए सभी एहतियातन कदम उठाती है। ऑडिट की रिपोर्ट के आधार पर बैंकों को सुरक्षा संबंधी मानकों का सौ फीसदी पालन करना होगा।

खातों पर खतरा

नकदी रहित लेनदेन और ई-भुगतान की राह में सबसे बड़ी बाधा साइबर हमलावर हैं। नोटबंदी के बाद से साइबर हमलों की संख्या 215 फीसदी बढ़ चुकी है। इससे सतर्क आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि खाताधारकों की सुरक्षा के लिए हर कदम जल्द से जल्द उठाया जाए। अभी अपने देश में ई-भुगतान इस्तेमाल करने वालों की संख्या महज 16 फीसदी है। इसमें एटीएम ग्राहक शामिल नहीं हैं। आरबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नकदी रहित सिस्टम को बढ़ावा देने के बाद 78 फीसदी लोग ऐसे हैं, जो पहली बार इस माध्यम का इस्तेमाल कर रहे हैं या करेंगे। डिजिटल भुगतान में सुरक्षा संबंधी जानकारी न होने की वजह से उसके खातों पर खतरा हो सकता है। इसलिए बैंकों से साफ कहा गया है कि लापरवाही या गड़बड़ी की एक फीसदी की भी आशंका न छोड़ी जाए।

ग्राहकों की शिकायतें गंभीरता से लें

ग्राहकों की शिकायतों और समस्याओं को गंभीरता से लिया जाए क्योंकि उन्हीं की फीडबैक से बैंक को अपना सिक्योरिटी सिस्टम दुरुस्त करने में मदद मिलेगी। छोटा सा छोटा सिस्टम भी जांचा जाएगाबैंक और डिजिटल पेमेंट कंपनियों का ऑडिट बहुत गहराई से होगा। उनके हार्डवेयर सिस्टम, ऑपरेटिंग सिस्टम और क्रिटिकल प्रोग्राम्स का बारीकी से अध्ययन होगा। ऑडिट कंपनियां यह भी देखएंगी कि बैंक के ऑनलाइन पेमेंट गेटवे, एटीएम का कम्युनिकेशन प्लेटफॉर्म, प्वाइंट ऑफ सेल मशीनों की सिक्योरिटी अभेद्य है या नहीं। ऑडिट में साइबर अटैक होने पर रकम वापसी और स्टाफ को प्रशिक्षण देना जरूरी है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

2022 तक सबसे अधिक आबादी वाला देश होगा भारत, यह होगी बड़ी चुनौती

नई दिल्ली: वैश्विक आबादी रूझानों पर यूएन के अध्ययन में अनुमान लगाया गया है कि भारत 2022 तक चीन को पछाड़ते हुए दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बन जाएगा। खाने वाले लोगों की संख्या बढ़ेगी तो ऐसे में [Read more...]

भारतीय स्मार्टफोन बाजार का 50 फीसदी हिस्से पर इन दो कंपनियां का कब्जा

नई दिल्ली : साल 2018 का अंत तक दो कंपनियों -चीनी स्मार्टफोन  श्याओमी और दक्षिण कोरिया की दिग्गज सैमसंग द्वारा भारतीय स्मार्टफोन बाजार के करीब 50 फीसदी हिस्से पर नियंत्रण से हुआ।  यह जानकारी अंतर्राष्ट्रीय डेटा कार्पोरेशन (आईडीसी) के नवीनतम [Read more...]

मुख्य समाचार

बंदूक की नोक पर भाजपा नेता की बेटी का अपहरण

घटना के विरोध में लोगों ने बंद का पालन कर किया सड़क जाम लाभपुर (बीरभूम) : लाभपुर में 1 स्थानीय भाजपा नेता के घर में घुसकर गुरुवार की रात अपराधियों ने बंदूक की नोंक पर उसकी बेटी का अपहरण कर लिया। [Read more...]

पुलवामा की घटना से मर्माहत हूं, जनता पूछ रही है सवाल – ममता

कहा- यह राजनीतिक का मुद्दा नहीं कोलकाता : बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पुलवामा की घटना पर बेहद ही दु:ख जताते हुए पीड़ित परिवार के साथ होने का आश्वासन दिया तथा कहा कि वे इस घटना से बेहद ही मर्माहत [Read more...]

ऊपर