तो क्या जियो लाने वाली है खुद की क्रिप्टोकरेंसी जियो कॉइन?

नई दिल्ली: टेलीकॉम इंडस्ट्री में धमाल मचाने के बाद रिलायंस जियो अपनी क्रिप्टोकरेंसी लाने की योजना बना रहा है। इस क्रिप्टोकरेंसी का नाम जियो कॉइन रखा जाएगा। सूत्रों के मुताबिक इस अहम प्रोजेक्ट का नेतृत्व मुकेश अंबानी नहीं बल्कि उनके बेटे आकाश अंबानी करेंगे। आकाश अंबानी की अगुआई में 50 पेशेवरों की टीम बनाई जा रही है। इस टीम की औसत आयु 25 वर्ष होगी। हालांकि इस खबर की आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है।
क्रिप्टोकरेंसी का चलन बढ़ा
सूत्रों के मुताबिक रिलायंस जियो ने यह फैसला दुनियाभर में क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ते चलन को देखते हुए किया है। मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी के नेतृत्व में बनने वाली टीम क्रिप्टोकरेंसी के लिए जरूरी ब्लॉकचेन का निर्माण करेगी और उसके तकनीकी पहलुओं पर निगाह रखेगी। इस सप्लाई चेन में शामिल होने वाले ‘जियोकॉइन’ के माध्यम से खरीद-फरोख्त कर सकेंगे।
केंद्र सरकार ने चेताया था
इस बीच भारत में वित्तमंत्री अरुण जेटली और रिजर्व बैंक ने लोगों को क्रिप्टोकरेंसी को लेकर चेताया है। जेटली ने कहा है कि ये करेंसी वैध नहीं है। वित्त मंत्रालय ने इसकी तुलना पोन्जी स्कीम से की है। हालांकि जियो ने इस खबर पर कोई बयान देने से इंकार कर दिया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ये अभी शुरुआती स्टेज में है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

मुख्य समाचार

मीडिया पर भी गुंडई

कोलकाता : सोमवार को नामांकन के अंतिम दिन राज्य के विभिन्न जिलों में हिंसक घटनाएं तो हुई ही, साथ ही चौथे स्तंभ यानी मीडिया को भी नहीं बख्शा गया। राज्य में मीडिया पर भी हमले हुए। जिलों में तो हमले [Read more...]

गिरिजा देवी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता: राज्यपाल

कोलकाता : बनारस घराने की अंतिम दीपशिखा के रूप में पद्म विभूषण गिरिजा देवी भले ही आज मौन हो गईं, लेकिन उनका संगीत लोगों के जहन में युगों-युगों तक रहेगा। भले ही वह मौन हो गई हों लेकिन उनकी ठुमरी, [Read more...]

उपर