जीएसटी दरों में हाल की कटौती से साख होगी प्रभाव‌ितः मूडीज

नई दिल्लीः  विभिन्न वस्तुओं पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों में हाल की कटौती का सरकार का फैसला वित्तीय साख के प्रतिकूल है। यह राय वित्तीय साख निर्धारक एजेंसी मूडीज ने व्यक्त की है। उसने अपनी हाल की रिपोर्ट में  कहा है कि इससे सरकार की राजस्व वसूली पर असर पड़ेगा। राजकोषीय घाटे को कम करने के प्रयासों पर इसके प्रतिकूल प्रभाव की दृष्टि से यह ठीक नहीं है।

उल्लेखनीय है कि जीएसटी परिषद ने अपनी पिछली बैठक में 88 प्रकार की वस्तुओं पर कर की दर कम करने या समाप्त करने की घोषणा की थी। अनुमान है कि ताजा कटौती से करीब 8,000-10,000 करोड़ रुपये के राजस्व की हानि हो सकती है।

इधर, सरकार को उम्मीद है कि अनुपालन बढ़ने से तथा वस्तुओं के सस्ता होने से उनकी मांग बढ़ने पर राजस्व वसूली बढ़ेगी तथा कर राजस्व में अनुमानित हानि की भरपाई हो जाएगी। जीएसटी वसूली मध्यावधि में सकल घरेलू उत्पाद के 1.5 प्रतिशत तक बढ़ेगी।  दिसंबर, 2017 से जीएसटी की वसूली बढ़ी है। लेकिन बीच बीच में वस्तुओं पर कर की दरें कम करने से इससे चालू वित्त वर्ष में जीएसटी से 7.4 लाख करोड़ रुपए की प्राप्ति के लक्ष्य के चूकने का खतरा बढ़ा है।

मूडीज के अनुसार इस निर्णय से ‘ सरकारी राजस्व वसूली में वार्षिक आधार पर जीडीपी के 0.04 से 0.08 प्रतिशत तक का असर पड़ सकता है।’ चालू वित्त वर्ष के दौरान कर राजस्व में सरकार ने 16.7 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

‘ब्याज दरें बढ़ा सकता है रिजर्व बैंक’

नयी दिल्लीः चालू वित्त वर्ष में भारतीय रिजर्व बैंक ब्याज दरों में और वृद्धि कर सकता है। यह बात भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक सर्वेक्षण में सामने आयी है। देश की 40% से अधिक कंपनियों ने यह राय व्यक्त [Read more...]

ट्रंप सरकार एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट को रद्द करेगी, भारतीयों पर पड़ेगा सर्वाधिक असर

वॉशिंगटनः अमेरिका में एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट को ट्रंप सरकार आने वाले 3 माह में रद्द कर सकती है। एक फेडरल कोर्ट ने इस बात [Read more...]

मुख्य समाचार

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

मप्र, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विस चुनाव लड़ेगी सवर्ण समाज पार्टी

रीवाः अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम और आरक्षण के विरोध में प्रदर्शन की अनेक घटनाओं के बीच सवर्ण समाज पार्टी के अध्यक्ष व मध्यप्रदेश के विंध्य अंचल के प्रमुख लक्ष्मण तिवारी ने कहा कि उनकी पार्टी ने मध्यप्रदेश के 230 [Read more...]

ऊपर