इधर खाते में पैसा, उधर आयकर नोटिस

नई द‌िल्लीः कालाधन को सफेद बनाने का प्रयास कर रहे लोगों के प्रत‌ि आयकर ने सख्ती की दिशा में कार्य शुरू क‌िया है। ऐसे मामले सामने आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी खोजबीन में लग गई है। सूत्रों की माने तो कुछ विभागों में अफसरों द्वारा बड़े पैमाने पर यह गोरखधंधे अंजाम देने की लगातार शिकायतें मिल रही हैं। ईडी और आयकर विभाग में यूपी के शराब सिंडीकेट को पकड़ा जहाँ पचास करोड़ की रकम को छोटे नोटों में बदली जा रही थी। एजेंसियों के पास कई नेताओं की शिकायतें भी आ रही है जिनमें उनके पास बड़े पैमाने पर काला धन होने की आशंका जताई गयी है। सरकार द्वारा खुलवाए गए जनधन अकाउंट में भी अचानक से लाखों रुपये जमा होने की बात सामने आई है। ऐसे मामलों की जाँच के साथ ही 2.5 लाख से ज्यादा जमा करने वालों को भी इनकम टैक्स ने नोटिस भेजना शुरू कर दिया है। इनकम टैक्स ने पैसों की जानकारी का ब्योरा मांगा है। इनसे दो साल के इनकम टैक्स रिटर्न की कॉपी भी मांगी है।

जान पहचान के लोगों के खाते में जमा

लोग सरकार को 30 फीसदी टैक्स और जुर्माना देने की बजाय अन्य उपायों के जरिये पैसे को बदलवाना या ठिकाने लगाना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। सरकार के निर्देश के मुताबिक 2.5 लाख तक की राशी जमा कराने पर टैक्स नहीं लगता ऐसे में लोग अपने जान पहचान वालों के अकाउंट में पैसे जमा करा रहे हैं। कई जगह बैंक वालों की मिली भगत भी सामने आई है। ऐसे भी मामले सामने आये हैं कि लोगों ने अपने यहां काम करने वाले वर्कर्स के आईडी कलेक्ट कर के बैंक वालों को कमीशन देकर पैसे की अदला- बदली की है।

प्रोपर्टी और सोने में इन्वेस्टमेंट

कई मामले ऐसे भी आयें हैं, जिनमें लोग बैक डेट में फ्लैट खरीद रहे हैं। एक बिल्डर के ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की। आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक यह छापेमारी बिल्डर के दिल्ली और यूपी के करीब 22 ठिकानों पर हुई, इनमें से आठ लखनऊ के हैं। आयकर विभाग के अधिकारियों ने जांच में पाया की बिल्डर ने काले धन को सफेद करने के लिए 500 व 1000 के नोटों के जरिए फ्लैट बुक कराया था। पुराने नोटों से ज्वेलरी या सोने के बिस्किट खरीदने के मामले भी सामने आ रहे हैं। ब्लैक मार्केट में सोने की कीमत तकरीबन दोगुनी हो चुकी है। आयकर विभाग के अधिकारी बताते हैं कि उन्हें इस बात की खबर मिल रही है कि देश के कई हिस्सों में सोने के जरिये ब्लैक मनी को सफेद किया जा रहा है। पिछले एक हफ्ते में दर्जनों शहरों में सोना कारोबारियों पर छापे मारे गये हैं। कुछ लोग ब्लैक मनी जान पहचान वाले ज्वेलर्स के पास जमा करा रहे हैं और उनसे चेक ले रहे हैं। खरीदारी की रसीद बैक डेट में दिखाया जा रहा है। यही नहीं कई ज्वेलर्स पुराने नोट खपाने के लिए आये लोगों से अधिक मूल्य पर ज्वेलरी दे रहे हैं।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

‘ब्याज दरें बढ़ा सकता है रिजर्व बैंक’

नयी दिल्लीः चालू वित्त वर्ष में भारतीय रिजर्व बैंक ब्याज दरों में और वृद्धि कर सकता है। यह बात भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक सर्वेक्षण में सामने आयी है। देश की 40% से अधिक कंपनियों ने यह राय व्यक्त [Read more...]

ट्रंप सरकार एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट को रद्द करेगी, भारतीयों पर पड़ेगा सर्वाधिक असर

वॉशिंगटनः अमेरिका में एच-4 वीजाधारकों के वर्क परमिट को ट्रंप सरकार आने वाले 3 माह में रद्द कर सकती है। एक फेडरल कोर्ट ने इस बात [Read more...]

मुख्य समाचार

‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ ने फिर बनाया मुरीद

नयी दिल्ली : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर से अपने फैसले से साबित कर दिया कि डीआरएस के मामले में उनसे सटीक कोई नहीं है। अगर वह इशारा कर दें तो मान लीजिए [Read more...]

केजरीवाल ने शाह को दी बहस की चुनौती

नयी दिल्लीः भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने के बयान पर केजरीवाल ने रविवार को कहा कि जितना काम उन्होंने किया है उसे कोई चुनौती नहीं दे सकता। जनता की सेवा का [Read more...]

ऊपर