आटो उपकरण कारोबार बढ़कर 345635 करोड़ रुपए का हुआ

नयी दिल्लीः  पहले के 292184 करोड़ की तुलना में 18.3 प्रतिशत बढ़कर भारतीय आटो उपकरण उद्योग का कारोबार 2017-18 में 345635 करोड़ रुपए  हो गया। भारतीय आटोमोटिव निर्माता संघ (एक्मा) के महानिदेशक विन्नी मेहता और अध्यक्ष निर्मल मिंडा ने बताया कि इस अवधि में निर्यात 23.9 प्रतिशत बढ़कर 73128 करोड़ से 90571 करोड़ रुपए का हो गया। मेहता ने कहा कि आटोमोबाइल उद्योग तमाम नियामक बाधाओं के बावजूद तेजी से प्रगति कर रहा है। उद्योग को प्रोत्साहित करने और ग्राहकों की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए आटोमोबाइल उद्योग के लिए सरकार की सकारात्मक नीतियों की जरूरत है।  आलोच्य अवधि में आयात 17.80 प्रतिशत बढ़कर 90571 करोड़ से 106672 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। वर्ष के दौरान कुल निर्यात में यूरोप का हिस्सा 34 प्रतिशत रहा। इसके बाद उत्तर अमेरिका और एशिया क्रमशः 28 और 25 प्रतिशत के साथ दूसरे स्थान पर रहे। आयात में सर्वाधिक 60 प्रतिशत एशिया और इसके बाद यूरोप से 30 प्रतिशत का हुआ। आयात में उत्तर अमेरिका का योगदान आठ प्रतिशत रहा। आफ्टरमार्केट कारोबार देश में वाहनों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी के परिणाम स्वरुप 9.8 प्रतिशत बढ़कर 61601 करोड़ रुपए हो गया। वर्ष 2016-17 में यह 56096 करोड़ रुपए था।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

शिकायतें निपटाने के आधार पर तय हो विमान कंपनियों की रैकिंग

नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा नयी दिल्लीः विमान सेवा कंपनियों की सेवा गुणवत्ता का आंकलन शिकायत निपटान में [Read more...]

मुख्य समाचार

सुषमा का ऐलान : नहीं लड़ेगीं 2019 का चुनाव

नई दिल्ली : मध्यप्रदेश के इंदौर में संवाददाता सम्मेलन के दौरान विदिशा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि - वह वर्ष 2019 में होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी। सुषमा ने [Read more...]

स्थानीय निकायों को अधिकार से कम होगीं घरों की कीमतें

नयी दिल्लीः स्थानीय निकायों को 20 से 50 हजार वर्ग मीटर की परियोजनाओं से जुड़े हरित नियमों के अनुपालन का अधिकार दिए जाने के सरकार के फैसले से इनकी मंजूरी की प्रक्रिया तेज होगी। इससे घरों के दाम भी घटेंगे। [Read more...]

ऊपर